Connect with us

India

Coronavirus Live: कोरोना की संभावित तीसरी लहर को लेकर केजरीवाल ने बुलाई बैठक

Published

on

10:55 AM, 04-Jun-2021
शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष ने पंजाब सरकार पर लगाया आरोप
पंजाब की शिरोमणि अकाली दल ने राज्य सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य में कोविड-19 वैक्सीन उपलब्ध हैं लेकिन राज्य सरकार निजी अस्पतालों को वैक्सीन बेच रही है। सुखबिर सिंह बादल ने कहा कि सरकार 400 रुपये में वैक्सीन ले रही है और 1060 रुपये तक इसे निजी अस्पतालों को बेच रही है। उन्होंने आगे कहा कि आम आदमी पार्टी इस पर चुप क्यों है।
The #COVID vaccine is available but the Punjab govt is selling it to private hospitals. Punjab govt is getting vaccines at Rs 400 but selling them to private hospitals at Rs 1060. And private hospitals is administering vaccine on higher prices: Sukhbir Singh Badal, President, SAD pic.twitter.com/HUsIp160wJ— ANI (@ANI) June 4, 2021

10:35 AM, 04-Jun-2021
दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल करेंगे दो अहम बैठक

कोरोना की तीसरी लहर की संभावना के मद्देनजर आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दो अहम बैठकें करने जा रहे हैं। एक बैठक जानकारों के साथ और दूसरे बैठक तैयारी समितियों के साथ होगी।
Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal will hold two meetings today, with expert & preparation committees, in context to the potential third wave of COVID19 pic.twitter.com/gtuIVdau71— ANI (@ANI) June 4, 2021

10:23 AM, 04-Jun-2021
जम्मू-कश्मीर: बदमाशों ने सीआरपीएफ के काफिले पर की पत्थरबाजी
जम्मू-कश्मीर पुलिस ने जानकारी दी कि कुछ बदमाशों की ओर से सीआरपीएफ के काफिले पर पत्थरबाजी की गई। ये काफिला कोवि़ड-19 ड्यूटी के लिए जा रहा था। वहीं पुलिस ने बताया कि बदमाशों को भगाने के लिए हवा में दो-तीन बार गोली चलाई गई, हालांकि किसी को कोई चोट नहीं लगी है।
Some miscreants pelted stones upon CRPF vehicle early morning who were going for #COVID deployment duties near Kralpora. To disperse miscreants, 2-3 shots were fired in the air by troops. No damage or injuries is reported: J&K Police— ANI (@ANI) June 4, 2021

10:05 AM, 04-Jun-2021
बीते 24 घंटे में 28,75,286 लोगों को लगी वैक्सीन
केंद्रीय मंत्रालय ने जानकारी दी कि देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस की 28,75,286 वैक्सीन लगाई गईं, जिसके बाद कुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा 22,41,09,448 हुआ।
देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस की 28,75,286 वैक्सीन लगाई गईं, जिसके बाद कुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा 22,41,09,448 हुआ। #CovidVaccine https://t.co/ejQxOQFeMi— ANI_HindiNews (@AHindinews) June 4, 2021

09:44 AM, 04-Jun-2021
कोरोना: बीते 24 घंटे में दर्ज हुए 1.32 लाख मामले
भारत में कोरोना के दैनिक मामलों में हल्की गिरावट दर्ज की गई है। बीते 24 घंटे में देश में कोरोना वायरस के 1.32 लाख मामले सामने आए, जिसके बाद कुल संक्रमित मामलों की संख्या 2,85,74,350 हुई। वहीं 2713 मरीजों ने कोरोना वायरस के आगे दम तोड़ दिया है। 
भारत में #COVID19 के 1,32,364 नए मामले आने के बाद कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 2,85,74,350 हुई। 2,713 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 3,40,702 हो गई है।
2,07,071 नए डिस्चार्ज के बाद कुल डिस्चार्ज की संख्या 2,65,97,655 हुई। देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 16,35,993 है। pic.twitter.com/KbHWuNNqJn— ANI_HindiNews (@AHindinews) June 4, 2021

09:28 AM, 04-Jun-2021
जम्मू-कश्मीर: 12 साल के अबू अब्बास ने कोरोना योद्धाओं के लिए बनाया इलेक्ट्रॉनिक पेन
राजौरी के दूरदराज के गांव बहरोट के सातवीं कक्षा में पढ़ने वाले एक 12 वर्ष के छात्र ने कोरोना योद्धाओं के लिए इलेक्ट्रॉनिक पेन बनाया है। पेन बनाने वाले छात्र अबू अब्बास ने बताया, ”मैंने कॉपर की तार और कॉटन का इस्तेमाल करके इसे बनाया है।” अबू अब्बास ने आगे कहा कि ऑनलाइन कक्षाओं में यह पेन काफी फायदेमंद है। यह किसी भी मोबाइल फोन पर चल सकता है। मैंने इसे खासकर डॉक्टरों के लिए बनाया है क्योंकि वे हाथों में ग्लव्स पहनते हैं जिससे टच स्क्रीन फोन नहीं चला पाते हैं। मेरा संदेश है कि हम सबकुछ कर सकते हैं लेकिन हम कभी कोशिश नहीं करते।
ऑनलाइन कक्षाओं में यह पेन काफी फायदेमंद है। यह किसी भी मोबाइल फोन पर चल सकता है। मैंने इसे खासकर डॉक्टरों के लिए बनाया है क्योंकि वे हाथों में ग्लव्स पहनते हैं जिससे टच स्क्रीन फोन नहीं चला पाते हैं। मेरा संदेश है कि हम सबकुछ कर सकते हैं लेकिन हम कभी कोशिश नहीं करते: अबू अब्बास https://t.co/769FdRQztD— ANI_HindiNews (@AHindinews) June 4, 2021

09:17 AM, 04-Jun-2021
बीते 24 घंटे में 20,75,428 सैंपल लिए गए- आईसीएमआर
भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के मुताबिक, भारत में कल तक कोरोना वायरस के लिए कुल 35,74,33,846 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं, जिनमें से 20,75,428 सैंपल कल टेस्ट किए गए।
भारत में कल तक कोरोना वायरस के लिए कुल 35,74,33,846 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं, जिनमें से 20,75,428 सैंपल कल टेस्ट किए गए: भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) #COVID19— ANI_HindiNews (@AHindinews) June 4, 2021

08:57 AM, 04-Jun-2021
हरियाणा में बीते 24 घंटे में 980 मामले आए सामने
हरियाणा में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 980 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 2,889 लोग डिस्चार्ज हुए और 71 लोगों की मृत्यु दर्ज की गई।

 

हरियाणा में पिछले 24 घंटे में #COVID19 के 980 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 2,889 लोग डिस्चार्ज हुए और 71 लोगों की मृत्यु दर्ज़ की गई।
कुल सक्रिय मामले: 12,688
कुल मामले: 7,60,019 pic.twitter.com/Q6dXLWoTFr
— ANI_HindiNews (@AHindinews) June 3, 2021

08:40 AM, 04-Jun-2021
ऋषिकेश: पिछले एक साल से लॉकडाउन में गायों को चारा खिला रहा शख्स
ऋषिकेश में पिछले एक साल से एक व्यक्ति सड़कों पर घूमने वाली गायों को चारा खिला रहे हैं। उन्होंने बताया, ”हम पिछले साल लॉकडाउन से ही गायों की सेवा कर रहे हैं। हमारे पास 2200-2800 के करीब गायें हैं। लॉकडाउन से इन्हें कुछ खाने को नहीं मिल रहा था कई गायों की मौत हो गई।”

 

उत्तराखंड: ऋषिकेश में पिछले एक साल से एक व्यक्ति सड़कों पर घूमने वाली गायों को चारा खिला रहे हैं।
उन्होंने बताया, ”हम पिछले साल लॉकडाउन से ही गायों की सेवा कर रहे हैं। हमारे पास 2200-2800 के करीब गायें हैं। लॉकडाउन से इन्हें कुछ खाने को नहीं मिल रहा था कई गायों की मौत हो गई ।” pic.twitter.com/oTTaMCZqbq
— ANI_HindiNews (@AHindinews) June 4, 2021

08:16 AM, 04-Jun-2021
अनलॉक प्रक्रिया के बाद दिल्ली वापस लौटने लगे प्रवासी मजदूर
राजधानी दिल्ली में अनलॉक की प्रक्रिया शुरू होने के बाद अब प्रवासी मजदूर वापस आना शुरू हो गए हैं। सीतापुर से आए एक प्रवासी मजदूर ने बताया, “कंपनी शुरू हो रही हैं तो काम मिलेगा।”

 

दिल्ली: राजधानी में अनलॉक की प्रक्रिया शुरू होने के बाद अब प्रवासी मज़दूर दिल्ली वापस आना शुरू हो गए हैं। सीतापुर से आए एक प्रवासी मज़दूर ने बताया, “कंपनी शुरू हो रही हैं तो काम मिलेगा।” pic.twitter.com/hBwFlRc1T3
— ANI_HindiNews (@AHindinews) June 4, 2021

08:03 AM, 04-Jun-2021
नकली रेमेडिसविर बेचने वाले के खिलाफ एनएसए के तहत कार्रवाई
गौतम बुद्ध नगर जिले में नकली रेमेडिसविर इंजेक्शन बेचने के आरोपी के खिलाफ थाना सेक्टर-20 की पुलिस ने राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत कार्रवाई की है।

07:50 AM, 04-Jun-2021
दिल्ली और हरियाणा में वैक्सीन की किल्लत, मेरठ में स्लॉट बुक करा रहे लोग
दिल्ली और हरियाणा में कोवैक्सीन की दूसरी डोज लेने के लिए लोग मेरठ में स्लॉट बुक करा रहे हैं। दिल्ली से करीब 70 फीसदी लोगों ने मेरठ में स्लॉट बुक किया है और इनकी उम्र 18-44 साल है। 

 

People from Delhi&Haryana are booking slots in Meerut for 2nd dose of Covaxin due to its shortage there. Around 70% slots of Covaxin’s 2nd dose for 18-44 age group have been booked by people from Delhi. We’re discouraging them: District Immunization Officer Praveen Gautam (03.06) pic.twitter.com/G0KLpMg2rW
— ANI UP (@ANINewsUP) June 4, 2021

07:33 AM, 04-Jun-2021
मिजोरम में बीते 24 घंटे में सामने आए 205 नए केस
मिजोरम में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 205 नए मामले सामने आए और एक मरीज की मौत हुई। पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या अब 13,064 है जिसमें 3,415 सक्रिय मामले, 9,602 डिस्चार्ज हो चुके मामले और 47 मौतें शामिल हैं।

 

मिज़ोरम में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 205 नए मामले सामने आए और 1 मौत हुई। पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या अब 13,064 है जिसमें 3,415 सक्रिय मामले, 9,602 डिस्चार्ज हो चुके मामले और 47 मौतें शामिल हैं: सूचना और जनसंपर्क विभाग, मिज़ोरम सरकार #COVID19 pic.twitter.com/bDQmj4MVga
— ANI_HindiNews (@AHindinews) June 4, 2021

07:22 AM, 04-Jun-2021
Coronavirus Live: कोरोना की संभावित तीसरी लहर को लेकर केजरीवाल ने बुलाई बैठक
देश में कोरोना वायरस के दैनिक मामलों में लगातार दो दिन से बढ़ोतरी देखी जा रही है। हालांकि पिछले कई दिनों से दैनिक मामले कम हो रहे थे, जिसके चलते कई राज्यों ने अपने यहां अनलॉक की प्रक्रिया शुरू कर दी है। वहीं कई राज्य ऐसे भी हैं, जहां कोविड-19 की वजह से लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाया जा रहा है। देश में कोरोना के अलावा ब्लैक फंगस के मामले भी तेजी से बढ़ रहे हैं। हालांकि वैक्सीनेशन को रफ्तार देने के लिए सरकार विदेशी कंपनियों से लगातार बातचीत कर रही है। सरकार ने दावा किया है कि इस साल के अंत यानी दिसंबर तक सभी व्यस्कों को कोरोना की वैक्सीन लग जाएगी। 

Continue Reading

India

राजनीति: शरद पवार के मन में कौन सी खिचड़ी पक रही है, क्या पीके के साथ मिल कर हो रही महागठबंधन बनाने की तैयारी?

Published

on

By

सार
शरद यादव, मुलायम सिंह यादव, लालू प्रसाद यादव के शिथिल स्वास्थ्य के कारण विपक्षी दलों में अन्य लीड करने वाले नेताओं का अभाव है। ममता बनर्जी का कद जरूर बढ़ा है, लेकिन अरविंद केजरीवाल, मायावती, अखिलेश यादव, राजद के तेजस्वी या फिर डीएमके के एमके स्टालिन का चेहरा राष्ट्रीय स्तर पर इतना मजबूत अभी नहीं बन सका है…

शरद पवार और प्रशांत किशोर की मुलाकात
– फोटो : अमर उजाला (फाइल)

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

एनसीपी प्रमुख शरद पवार बिना किसी को भनक लगे राजनीति की चिड़िया के पर गिन लेने के लिए जाने जाते हैं। कई बार उनकी राजनीति की चाल को उनके दोस्त भी समझ पाने में गच्चा खा जाते हैं। इन दिनों भी कुछ ऐसा ही है। एनसीपी प्रमुख ने सप्ताह के भीतर दो बार चुनाव प्रचार अभियान के रणनीतिकार प्रशांत किशोर से भेंट की है। इस भेंट का कोई रहस्य बाहर नहीं आया है। एनसीपी के एक सांसद कहते हैं कि जब तक पवार साहब कुछ नहीं बताएंगे, पता भी नहीं चलेगा। इसलिए मैं क्या कह सकता हूं। उनकी बेटी और सांसद सुप्रिया सुले के सचिवालय को भी इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। हां, इतना जरूर है कि प्रशांत किशोर सक्रिय राजनीति में उतरकर पारी खेलने के लिए तैयार हैं।
क्या राष्ट्रीय स्तर पर महागठबंधन बनाने का होगा प्रयास?
प्रशांत किशोर ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान ही घोषणा कर दी थी कि वह चुनाव प्रचार अभियान में रणनीतिकार की भूमिका का काम छोड़ देंगे। इससे पहले प्रशांत किशोर 12 जून को शरद पवार से मिले थे। एनसीपी के नेता नवाब मलिक को फिलहाल देश में समान विचारधारा वाले दलों के एक महागठबंधन की जरूरत महसूस हो रही है।ऐसे में विपक्ष के खेमे में सबसे ज्यादा हलचल शरद पवार और प्रशांत किशोर की दूसरी भेंट को लेकर ही है। भाजपा छोड़कर एनसीपी में शामिल हुए और राष्ट्र मंच बनाने वाले यशवंत सिन्हा भी 22 जून को शरद पवार के घर में आयोजित बैठक में शामिल होंगे। शरद पवार के अलावा करीब 12-14 दलों के प्रतिनिधि भी इसमें शरीक होंगे।संघ के विचारकों में गिने जाने वाले भाजपा के पूर्व संगठन मंत्री और नब्बे के दशक में राजनीति में छाये रहने वाले एक पूर्व राजनेता का कहना है कि हो सकता है पवार साहब राजनीतिक गोलबंदी करने की योजना बना रहे हों। क्या पता किसी तीसरे मोर्चे की कोशिश चल रही हो? क्योंकि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी बहन तथा पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के बस का कुछ खास नहीं है।
होगा वही जो शरद पवार चाहेंगे
कांग्रेस के नेता महेंद्र जोशी ने भी शरद पवार के तमाम दौर देखे हैं। वह कहते हैं कि आखिर मैं शरद पवार के बारे में क्या बता सकता हूं। न जाने उनके मन में क्या खिचड़ी पक रही है। दरअसल शरद पवार राजनीति की शतरंज के मंजे खिलाड़ी हैं और घोड़े की ढाई कदम की चाल की कला उनके अंगुलियों पर रहती है।हालांकि महाराष्ट्र के ही कांग्रेस के एक नेता ने कहा कि उनके प्रदेश के अध्यक्ष नाना पटोले को थोड़ा संभलकर और अपने शब्दों को तोलकर बोलना चाहिए। यह समझाइश इस बिना पर आई है कि 22 जून को विपक्ष के नेताओं से मिलकर एनसीपी प्रमुख शरद पवार कांग्रेस पार्टी और महाराष्ट्र में शिवसेना को खास संदेश दे रहे हैं।महाराष्ट्र के कांग्रेस नेता इस राजनीतिक संदेश को मानते भी हैं और उनका कहना है कि देश में कोई महागठबंधन या शरद पवार द्वारा उसके नेतृत्व का मामला अभी बहुत प्रारंभिक स्थिति में है। कुछ भी कहना जल्दबाजी है। लेकिन फिर भी महाराष्ट्र में वही होगा जो शरद पवार चाहेंगे।एनसीपी के एक नेता मानते हैं कि केंद्र की भाजपा सरकार की पहली निगाह यथाशीघ्र महाराष्ट्र की मौजूदा शिवसेना, एनसीपी, कांग्रेस की सरकार को गिरा देने की है। इसकी कोशिशें भी चल रही हैं। वह शिवसेना के विधायक के बयान का भी जिक्र इसी से जोड़कर करते हैं।कांग्रेस के नेताओं का कहना है कि महाराष्ट्र फिलहाल उद्धव ठाकरे और शरद पवार का सबकुछ दांव पर है। इसलिए हमारी विवशता है कि हम महाराष्ट्र में एनसीपी के साथ बने रहें और शिवसेना की सरकार चलती रहे। बताते हैं 22 जून की बैठक का इससे भी एक बड़ा लेना-देना है।
क्या प्रधानमंत्री मोदी का विकल्प बनेंगे शरद पवार?
शरद पवार राजनीति में क्या करेंगे, क्या सोचेंगे और कब क्या कहेंगे और अंत में क्या निर्णय लेंगे, यह उनके सिवाय कोई नहीं जानता। फिलहाल 22 जून को विपक्षी दलों के नेताओं के साथ बैठक करके वह देश में केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ एक माहौल जरूर बनाते नजर आएंगे। शरद पवार की इस बैठक को कांग्रेस पार्टी के लिए भी बड़ा संदेश माना जा रहा है। मौजूदा समय में देश में शरद पवार ही एक मात्र ऐसे राजनीति के सरदार हैं, जिनकी हर दल में पैठ है। विपक्ष में उनके कद का कोई दूसरा राजनीतिक चेहरा नहीं है।शरद यादव, मुलायम सिंह यादव, लालू प्रसाद यादव के शिथिल स्वास्थ्य के कारण विपक्षी दलों में अन्य लीड करने वाले नेताओं का अभाव है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का कद जरूर बढ़ा है, लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, बसपा प्रमुख मायावती, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, राजद के तेजस्वी या फिर डीएमके के एमके स्टालिन का चेहरा राष्ट्रीय स्तर पर इतना मजबूत अभी नहीं बन सका है। इसलिए राजनीति के दिग्गजों की निगाहें भी 80 साल के मराठा सरदार की अगली रणनीति पर ही टिकी हैं।

विस्तार

एनसीपी प्रमुख शरद पवार बिना किसी को भनक लगे राजनीति की चिड़िया के पर गिन लेने के लिए जाने जाते हैं। कई बार उनकी राजनीति की चाल को उनके दोस्त भी समझ पाने में गच्चा खा जाते हैं। इन दिनों भी कुछ ऐसा ही है। एनसीपी प्रमुख ने सप्ताह के भीतर दो बार चुनाव प्रचार अभियान के रणनीतिकार प्रशांत किशोर से भेंट की है। इस भेंट का कोई रहस्य बाहर नहीं आया है। एनसीपी के एक सांसद कहते हैं कि जब तक पवार साहब कुछ नहीं बताएंगे, पता भी नहीं चलेगा। इसलिए मैं क्या कह सकता हूं। उनकी बेटी और सांसद सुप्रिया सुले के सचिवालय को भी इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। हां, इतना जरूर है कि प्रशांत किशोर सक्रिय राजनीति में उतरकर पारी खेलने के लिए तैयार हैं।

क्या राष्ट्रीय स्तर पर महागठबंधन बनाने का होगा प्रयास?
प्रशांत किशोर ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान ही घोषणा कर दी थी कि वह चुनाव प्रचार अभियान में रणनीतिकार की भूमिका का काम छोड़ देंगे। इससे पहले प्रशांत किशोर 12 जून को शरद पवार से मिले थे। एनसीपी के नेता नवाब मलिक को फिलहाल देश में समान विचारधारा वाले दलों के एक महागठबंधन की जरूरत महसूस हो रही है।

ऐसे में विपक्ष के खेमे में सबसे ज्यादा हलचल शरद पवार और प्रशांत किशोर की दूसरी भेंट को लेकर ही है। भाजपा छोड़कर एनसीपी में शामिल हुए और राष्ट्र मंच बनाने वाले यशवंत सिन्हा भी 22 जून को शरद पवार के घर में आयोजित बैठक में शामिल होंगे। शरद पवार के अलावा करीब 12-14 दलों के प्रतिनिधि भी इसमें शरीक होंगे।
संघ के विचारकों में गिने जाने वाले भाजपा के पूर्व संगठन मंत्री और नब्बे के दशक में राजनीति में छाये रहने वाले एक पूर्व राजनेता का कहना है कि हो सकता है पवार साहब राजनीतिक गोलबंदी करने की योजना बना रहे हों। क्या पता किसी तीसरे मोर्चे की कोशिश चल रही हो? क्योंकि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी बहन तथा पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के बस का कुछ खास नहीं है।

होगा वही जो शरद पवार चाहेंगे
कांग्रेस के नेता महेंद्र जोशी ने भी शरद पवार के तमाम दौर देखे हैं। वह कहते हैं कि आखिर मैं शरद पवार के बारे में क्या बता सकता हूं। न जाने उनके मन में क्या खिचड़ी पक रही है। दरअसल शरद पवार राजनीति की शतरंज के मंजे खिलाड़ी हैं और घोड़े की ढाई कदम की चाल की कला उनके अंगुलियों पर रहती है।हालांकि महाराष्ट्र के ही कांग्रेस के एक नेता ने कहा कि उनके प्रदेश के अध्यक्ष नाना पटोले को थोड़ा संभलकर और अपने शब्दों को तोलकर बोलना चाहिए। यह समझाइश इस बिना पर आई है कि 22 जून को विपक्ष के नेताओं से मिलकर एनसीपी प्रमुख शरद पवार कांग्रेस पार्टी और महाराष्ट्र में शिवसेना को खास संदेश दे रहे हैं।महाराष्ट्र के कांग्रेस नेता इस राजनीतिक संदेश को मानते भी हैं और उनका कहना है कि देश में कोई महागठबंधन या शरद पवार द्वारा उसके नेतृत्व का मामला अभी बहुत प्रारंभिक स्थिति में है। कुछ भी कहना जल्दबाजी है। लेकिन फिर भी महाराष्ट्र में वही होगा जो शरद पवार चाहेंगे।एनसीपी के एक नेता मानते हैं कि केंद्र की भाजपा सरकार की पहली निगाह यथाशीघ्र महाराष्ट्र की मौजूदा शिवसेना, एनसीपी, कांग्रेस की सरकार को गिरा देने की है। इसकी कोशिशें भी चल रही हैं। वह शिवसेना के विधायक के बयान का भी जिक्र इसी से जोड़कर करते हैं।कांग्रेस के नेताओं का कहना है कि महाराष्ट्र फिलहाल उद्धव ठाकरे और शरद पवार का सबकुछ दांव पर है। इसलिए हमारी विवशता है कि हम महाराष्ट्र में एनसीपी के साथ बने रहें और शिवसेना की सरकार चलती रहे। बताते हैं 22 जून की बैठक का इससे भी एक बड़ा लेना-देना है।

क्या प्रधानमंत्री मोदी का विकल्प बनेंगे शरद पवार?
शरद पवार राजनीति में क्या करेंगे, क्या सोचेंगे और कब क्या कहेंगे और अंत में क्या निर्णय लेंगे, यह उनके सिवाय कोई नहीं जानता। फिलहाल 22 जून को विपक्षी दलों के नेताओं के साथ बैठक करके वह देश में केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ एक माहौल जरूर बनाते नजर आएंगे। शरद पवार की इस बैठक को कांग्रेस पार्टी के लिए भी बड़ा संदेश माना जा रहा है। मौजूदा समय में देश में शरद पवार ही एक मात्र ऐसे राजनीति के सरदार हैं, जिनकी हर दल में पैठ है। विपक्ष में उनके कद का कोई दूसरा राजनीतिक चेहरा नहीं है।शरद यादव, मुलायम सिंह यादव, लालू प्रसाद यादव के शिथिल स्वास्थ्य के कारण विपक्षी दलों में अन्य लीड करने वाले नेताओं का अभाव है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का कद जरूर बढ़ा है, लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, बसपा प्रमुख मायावती, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, राजद के तेजस्वी या फिर डीएमके के एमके स्टालिन का चेहरा राष्ट्रीय स्तर पर इतना मजबूत अभी नहीं बन सका है। इसलिए राजनीति के दिग्गजों की निगाहें भी 80 साल के मराठा सरदार की अगली रणनीति पर ही टिकी हैं।

Continue Reading

India

महाराष्ट्र में कोरोना : 24 घंटे में 6270 नए मामले, 21 लोगों में मिला डेल्टा प्लस वेरिएंट, 94 की मौत

Published

on

By

एएनआई, मुुंबई।
Published by: योगेश साहू
Updated Mon, 21 Jun 2021 10:59 PM IST

सार
महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में कोरोना के 6,270 नए मामले सामने आए हैं। सोमवार को स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकरी के अनुसार, इस दौरान 94 लोगों की मौत हुई है। वहीं राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि 21 लोगों में कोरोना के डेल्टा प्लस वेरिएंट की पुष्टि हुई है।  

कोरोना वायरस (प्रतीकात्मक तस्वीर)
– फोटो : PTI

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में कोरोना के 6,270 नए मामले सामने आए हैं। सोमवार को स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकरी के अनुसार, इस दौरान 94 लोगों की मौत हुई है। वहीं राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि 21 लोगों में कोरोना के डेल्टा प्लस वेरिएंट की पुष्टि हुई है। बता दें कि डेल्टा प्लस वेरिएंट, डेल्टा वेरिएंट का बदला हुआ रूप है।स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, महाराष्ट्र में सक्रिय मामलों की संख्या 1,24,398 हो गई है, जबकि कुल 57,33,215 मरीज डिस्चार्ज हुए हैं। प्रदेश में अब तक कुल 1,18,313 लोगों की कोरोना की वजह से मौत हुई है।बात करें मुंबई की तो यहां पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 521 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 685 लोग ठीक हुए हैं। इस दौरान 7 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। मुंबई में सक्रिय मामलों की संख्या 14,637 हो गई है। कुल 6,89,675 लोग ठीक हो चुके हैं और अब तक यहां 15,305 लोगों की मौत हुई है।

विस्तार

महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में कोरोना के 6,270 नए मामले सामने आए हैं। सोमवार को स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकरी के अनुसार, इस दौरान 94 लोगों की मौत हुई है। वहीं राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि 21 लोगों में कोरोना के डेल्टा प्लस वेरिएंट की पुष्टि हुई है। बता दें कि डेल्टा प्लस वेरिएंट, डेल्टा वेरिएंट का बदला हुआ रूप है।

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, महाराष्ट्र में सक्रिय मामलों की संख्या 1,24,398 हो गई है, जबकि कुल 57,33,215 मरीज डिस्चार्ज हुए हैं। प्रदेश में अब तक कुल 1,18,313 लोगों की कोरोना की वजह से मौत हुई है।

बात करें मुंबई की तो यहां पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 521 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 685 लोग ठीक हुए हैं। इस दौरान 7 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। मुंबई में सक्रिय मामलों की संख्या 14,637 हो गई है। कुल 6,89,675 लोग ठीक हो चुके हैं और अब तक यहां 15,305 लोगों की मौत हुई है।

Continue Reading

India

कोलकाता: ममता का गंभीर आरोप, कहा- यूपी से बहकर बंगाल में आ रहीं लाशें, राज्य में फैल सकता है कोरोना

Published

on

By

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, कोलकाता
Published by: संजीव कुमार झा
Updated Mon, 21 Jun 2021 09:44 PM IST

सार
ममता ने कहा कि हमने ऐसे कई शवों को देखा है। इससे नदी का पानी भी प्रदूषित हो रहा है। हम नदी से शवों को निकाल रहे हैं।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी
– फोटो : ANI

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव परिणाम के बाद भड़की हिंसा को लेकर भारतीय जनता पार्टी लगातार मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला बोल रही है। वहीं अब ममता बनर्जी ने भी भाजपा को घेरने के लिए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर निशाना साधा है।उन्होंने कहा है कि गंगा नदी में यूपी से शव बहकर बंगाल आ रहे हैं और इससे राज्य में कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। उन्होंने कहा कि हमने ऐसे कई शवों को देखा है। इससे नदी का पानी भी प्रदूषित हो रहा है। हम नदी से शवों को निकाल रहे हैं और उनका सम्मानपूर्वक अंतिम संस्कार कर रहे हैं। बता दें कि इससे पहले भी चुनाव के दौरान ममता बनर्जी ने यूपी के मुद्दे को उठाया था। उन्होंने कहा था कि भाजपा यूपी से गुंडे लाकर बंगाल का माहौल खराब कर रही है। उन्होंने भाजपा पर कोरोना फैलाने का भी आरोप लगाया था।ममता को हाईकोर्ट से झटकावहीं चुनाव के बाद भड़की हिंसा मामले में आज यानी सोमवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को कलकत्ता हाईकोर्ट से झटका लगा है। दरअसल कलकत्ता हाईकोर्ट की ओर से दिए गए आदेश के बाद एक समिति बनाई गई है, जो हिंसा के मामलों की जांच करेगी और कोर्ट को रिपोर्ट सौंपेगी। समिति के गठन का विरोध कर रहीं बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के लिए इसे करारा झटका माना जा रहा है। इससे पहले सोमवार को हाई कोर्ट ने टीएमसी की उस अर्जी को खारिज कर दिया, जिसमें 18 जून के उस आदेश को रोकने की मांग की गई थी, जिसके तहत समिति के गठन का फैसला दिया गया था।

विस्तार

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव परिणाम के बाद भड़की हिंसा को लेकर भारतीय जनता पार्टी लगातार मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला बोल रही है। वहीं अब ममता बनर्जी ने भी भाजपा को घेरने के लिए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर निशाना साधा है।

उन्होंने कहा है कि गंगा नदी में यूपी से शव बहकर बंगाल आ रहे हैं और इससे राज्य में कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। उन्होंने कहा कि हमने ऐसे कई शवों को देखा है। इससे नदी का पानी भी प्रदूषित हो रहा है। हम नदी से शवों को निकाल रहे हैं और उनका सम्मानपूर्वक अंतिम संस्कार कर रहे हैं। 

बता दें कि इससे पहले भी चुनाव के दौरान ममता बनर्जी ने यूपी के मुद्दे को उठाया था। उन्होंने कहा था कि भाजपा यूपी से गुंडे लाकर बंगाल का माहौल खराब कर रही है। उन्होंने भाजपा पर कोरोना फैलाने का भी आरोप लगाया था।
ममता को हाईकोर्ट से झटका

वहीं चुनाव के बाद भड़की हिंसा मामले में आज यानी सोमवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को कलकत्ता हाईकोर्ट से झटका लगा है। दरअसल कलकत्ता हाईकोर्ट की ओर से दिए गए आदेश के बाद एक समिति बनाई गई है, जो हिंसा के मामलों की जांच करेगी और कोर्ट को रिपोर्ट सौंपेगी। समिति के गठन का विरोध कर रहीं बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के लिए इसे करारा झटका माना जा रहा है। इससे पहले सोमवार को हाई कोर्ट ने टीएमसी की उस अर्जी को खारिज कर दिया, जिसमें 18 जून के उस आदेश को रोकने की मांग की गई थी, जिसके तहत समिति के गठन का फैसला दिया गया था।

Continue Reading
Advertisement

Trending

Copyright © 2017 Zox News Theme. Theme by MVP Themes, powered by WordPress.