Connect with us

India

Coronavirus Live: आंध्र प्रदेश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 18285 नए मामले, 99 लोगों की मौत

Published

on

06:14 PM, 26-May-2021
केरल में बीते 24 घंटे में कोरोना के 28,798 नए मामले
केरल में बीते 24 घंटे में कोरोना के 28,798 नए मामले सामने आए हैं और 151 लोगों की मौत हो गई।

Kerala reports 28,798 new COVID cases and 151 deaths in the past 24 hours
Active cases: 2,48,526
Death toll: 7,882— ANI (@ANI) May 26, 2021
 

06:02 PM, 26-May-2021
लुधियाना में दुकान खुलने के समय में परिवर्तन
पंजाब के लुधियाना में कोरोना मामलों की घटती संख्या को देखते हुए अब सभी दुकानें  गुरुवार से अब दोपहर 3 बजे तक और रेस्टोरेंट द्वारा होम डिलीवरी रात 9 बजे तक जारी रहेगी।

Punjab | Due to decreasing number of COVID cases in Ludhiana, all shops can now remain open till 3 pm and home delivery by restaurants till 9 pm from tomorrow: Ludhiana Deputy Commissioner— ANI (@ANI) May 26, 2021

05:59 PM, 26-May-2021
आंध्र प्रदेश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 18285 नए मामले
आंध्र प्रदेश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 18285 नए मामले सामने आए और 99 लोगों की मौत हो गई है। इस दौरान 24,105 लोग स्वस्थ भी हो गए।

Andhra Pradesh reports 18,285 new COVID cases, 24,105 patient recoveries, and 99 deaths in past 24 hours
Active cases: 1,92,104
Total recoveries: 14,24,859
Death toll: 10,427 pic.twitter.com/UqkVL9pQn8— ANI (@ANI) May 26, 2021
 

05:52 PM, 26-May-2021
शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना को लेकर समीक्षा बैठक की
मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य में कोविड स्थिति को लेकर समीक्षा बैठक की।

05:15 PM, 26-May-2021
गुजरात के 36 शहरों में बदला गया नाइट कर्फ्यू का समय
गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी राज्य के 36 शहरों में रात के कर्फ्यू का समय बदल दिया गया है। अब कर्फ्यू रात 9 बजे से सुबह 6 बजे (रात 8 बजे से सुबह 6 बजे के बजाय) के बीच लागू रहेगा।

Night curfew timing has been changed in 36 cities of Gujarat. Now, the curfew will remain in force between 9 pm and 6 am (instead of 8 pm to 6 am): Chief Minister Vijay Rupani
(File photo) pic.twitter.com/DrrKPrVlMB— ANI (@ANI) May 26, 2021
 

04:13 PM, 26-May-2021
मार्च तक अगर सबको वैक्सीन लग जाती तो दूसरी लहर नहीं आती: केजरीवाल
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मार्च तक अगर सबको वैक्सीन लग जाती तो दूसरी लहर नहीं आती। उन्होंने कहा कि दिल्ली में युवाओं की वैक्सीन खत्म हो गई है और उनके वैक्सीन सेंटर पिछले 4 दिनों से बंद हैं। बुजुर्गों की कोवैक्सीन भी खत्म हो गई है। हमने केंद्र सरकार को लिखा है लेकिन अभी तक वैक्सीन आई नहीं है। उन्होंने कहा कि मेरी जानकारी के मुताबिक शायद अभी तक कोई भी राज्य वैक्सीन के एक भी अतिरिक्त टीके का इंतजाम नहीं कर पाया है। ये वक्त 130 करोड़ लोगों को मिलकर इस महामारी से मुकाबला करने का है। कोरोना को हराने के लिए हमें टीम इंडिया बनकर काम करना पड़ेगा। 

04:10 PM, 26-May-2021
यूपी में पॉजिटिविटी दर घटकर एक फीसदी हो से कम गई
उत्तर प्रदेश अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने बताया कि यूपी में आज पॉजिटिविटी दर घटकर एक फीसदी से भी कम हो गई है। पिछले सालभर का औसत पॉजिटिविटी रेट 3.5 फीसदी रह गई है। यूपी में बीते 24 घंटे में कोरोना के 3,371 नए मामले आए हैं। सक्रिय मामलों की संख्या 62,271 रह गई है जो हमारे पीक (3,10,783) से 80 फीसदी तक घट गया है।

04:08 PM, 26-May-2021
दिल्ली में 18-44 ग्रुप के लिए वैक्सीन खत्म
मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में युवाओं की वैक्सीन खत्म हो गई है और उनके वैक्सीन सेंटर पिछले 4 दिनों से बंद हैं। बुजुर्गों की कोवैक्सीन भी खत्म हो गई है। हमने केंद्र सरकार को लिखा है लेकिन अभी तक वैक्सीन आई नहीं है। उन्होंने कहा कि मार्च तक अगर सबको वैक्सीन लग जाती तो दूसरी लहर नहीं आती।

There’s no vaccine in Delhi; for 4 days vaccination centres for the 18-44 age group are shut & not just here but across India, several centres are shut. Today when we should have opened new centres, but now we are also shutting the existing ones, which is not good: Delhi CM pic.twitter.com/7iGEHAwKZq— ANI (@ANI) May 26, 2021
 

04:03 PM, 26-May-2021
इंदौर में ब्लैक फंगस रोधी इंजेक्शनों को लेकर ‘एक अनार, सौ बीमार’ की स्थिति कायम
इंदौर में ब्लैक फंगस संक्रमण (म्यूकर माइकोसिस) के इलाज में प्रमुख तौर पर इस्तेमाल होने वाले एम्फोटेरिसिन-बी इंजेक्शन की आपूर्ति को लेकर यहां ‘एक अनार, सौ बीमार’ की कहावत चरितार्थ हो रही है। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि बुधवार को शहर के 23 निजी अस्पतालों में भर्ती 218 मरीजों में इस फंगस रोधी दवा की केवल 100 खुराकें वितरित की जा सकीं, जबकी इसकी जरूरत इससे कहीं अधिक है।

03:30 PM, 26-May-2021
दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना के 1491 नए मामले
दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना के 1,491 नए मामले सामने आए हैं और 130 लोगों की मौत हो गई। इस दौरान 3,952 लोग स्वस्थ भी हो गए। दिल्ली की पॉजिटिविटी दर घटकर 1.9 फीसदी हो गई।

#COVID19 | Delhi reports 1,491 new positive cases, 3,952 recoveries and 130 deaths in the last 24 hours.
Total positive cases: 14,21,477
Active cases: 19,148 pic.twitter.com/ahlQ99zq89— ANI (@ANI) May 26, 2021

03:10 PM, 26-May-2021
यूपी: कोविशील्ड के बाद लगाई कोवैक्सीन, सीएमओ बोले- सभी लोग स्वस्थ
उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर में 20 लोगों को कोविशील्ड के बाद कोवैक्सीन लगने हंगामा मच गया है। सीएमओ संदीप चौधरी ने कहा, हमने जांच के आदेश दिए थे। जांच रिपोर्ट मिली है, जिसके आधार पर आरोपियों से स्पष्टीकरण मांगा है। हमने टीम भेजी थी उन्होंने एक एक लोगों से बात की है। वे स्वस्थ हैं किसी को दिक्कत नहीं है।

02:31 PM, 26-May-2021
हरियाणा में एक करोड़ वैक्सीन के लिए टेंडर
हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने बताया कि हम 1 करोड़ कोरोना वैक्सीन के लिए टेंडर फ्लोट कर रहे हैं जो शायद आज हो जाएगा। सही आंकड़े आ गए हैं और हमारा वेस्टेज 2%-2.5% है। वो आंकड़े ठीक नहीं थे काफी डेटा चढ़ा नहीं था।

01:58 PM, 26-May-2021
अरुणाचल में 429 नए मामले
अरुणाचल प्रदेश में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 429 नए मामले सामने आने के बाद राज्य में संक्रमण के मामले बढ़कर 25,002 हो गए, वहीं संक्रमण से दो मरीजों की मौत होने से मृतक संख्या 104 हो गई है।

12:45 PM, 26-May-2021
दिल्ली में आज ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन सेंटर शुरू
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली में आज ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन सेंटर शुरू हुआ है। इससे लोगों को काफी मदद मिलेगी और आने वाले दिनों में इसी तरह और भी सेंटर खुलने वाले हैं। दिल्ली में वैक्सीन की कमी हो गई है तो मैं उम्मीद करता हूं कि केंद्र सरकार द्वारा हमें जल्द ही वैक्सीन मिलेगी।
 

Delhi CM Arvind Kejriwal inaugurated a drive-in #COVID19 vaccination centre at Vegas Mall in Sector 12 of Dwarka today. pic.twitter.com/xx6dZF8YY3
— ANI (@ANI) May 26, 2021
 

12:23 PM, 26-May-2021
ब्लैक फंगस: दिल्ली में अभी तक लगभग 600 मामले
दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट 2.1% है। पॉजिटिविटी रेट एक समय 36% था जो अब 2% हो गया है। लॉकडाउन की वजह से दिल्ली में अब कोरोना के मामले और पॉजिटिविटी रेट दोनों ही कम हैं। दिल्ली में ICU में कुल 6,800 बेड में से 2,900 बेड खाली है। उन्होनें कहाकि 23 मई को दिल्ली में ब्लैक फंगस के 200 से अधिक मामले सामने आए थे, दिल्ली में अभी तक लगभग 600 मामले हैं जिसमें से कुछ दिल्ली से हैं और कुछ लोग बाहर से हैं। 24 और 25 मई को इसके मामले कम आए हैं।

Continue Reading

India

कोरोना से सावधान: एक साल रहेगा सेहत और जीवन को खतरा, अक्तूबर तक तीसरी लहर

Published

on

By

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Published by: Kuldeep Singh
Updated Sat, 19 Jun 2021 06:44 AM IST

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

कोरोना महामारी की तीसरी लहर भारत में अक्तूबर में दस्तक दे सकती है। हालांकि इस पर वह हमारी दूसरी लहर की तुलना में नियंत्रित रहेगी इसके बावजूद अगले 1 साल तक महामारी से स्वास्थ्य और जीवन को खतरा बना रहेगा। सर्वे में स्वास्थ्य विशेषज्ञ, चिकित्सक वैज्ञानिक, वायरोलॉजिस्ट, महामारी रोग विशेषज्ञ और प्रोफेसर शामिल थे। अनुमान है कि टीकाकरण से कोरोना की नई लहर नियंत्रित रहेगी। सर्वे में मानना है कि देश में 85 फीसदी विशेषज्ञों यानी 24 में से 21 का मानना है कि देश में कोरोना की अगली लहर अक्तूबर में दस्तक देगी। वहीं तीन विशेषज्ञों का अनुमान है कि 30 अगस्त की शुरुआत या 12 सितंबर से पहले ही लहर आ सकती है। अन्य तीन का अनुमान है कि तीसरी लहर नवंबर और फरवरी के बीच आ सकती है।दावा : टीकाकरण से काबू में रहेगी नई लहर कोरोना की तीसरी लहर को लेकर 34 में से 24 यानी 70 फीसदी विशेषज्ञों का कहना है कि नई लहर पहले की तरह नहीं होगी। एम्स नई दिल्ली के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया का कहना है कि ये लहर नियंत्रित रहेगी इसका कारण तेजी से चलने वाला SS टीकाकरण अभियान है। दूसरी लहर में संक्रमण की रफ्तार तेज होने के कारण लोगों में प्राकृतिक इम्यूनिटी भी बनी है इसका लाभ दिखेगा।

विस्तार

कोरोना महामारी की तीसरी लहर भारत में अक्तूबर में दस्तक दे सकती है। हालांकि इस पर वह हमारी दूसरी लहर की तुलना में नियंत्रित रहेगी इसके बावजूद अगले 1 साल तक महामारी से स्वास्थ्य और जीवन को खतरा बना रहेगा। 

सर्वे में स्वास्थ्य विशेषज्ञ, चिकित्सक वैज्ञानिक, वायरोलॉजिस्ट, महामारी रोग विशेषज्ञ और प्रोफेसर शामिल थे। अनुमान है कि टीकाकरण से कोरोना की नई लहर नियंत्रित रहेगी। सर्वे में मानना है कि देश में 85 फीसदी विशेषज्ञों यानी 24 में से 21 का मानना है कि देश में कोरोना की अगली लहर अक्तूबर में दस्तक देगी। वहीं तीन विशेषज्ञों का अनुमान है कि 30 अगस्त की शुरुआत या 12 सितंबर से पहले ही लहर आ सकती है। अन्य तीन का अनुमान है कि तीसरी लहर नवंबर और फरवरी के बीच आ सकती है।

दावा : टीकाकरण से काबू में रहेगी नई लहर 
कोरोना की तीसरी लहर को लेकर 34 में से 24 यानी 70 फीसदी विशेषज्ञों का कहना है कि नई लहर पहले की तरह नहीं होगी। एम्स नई दिल्ली के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया का कहना है कि ये लहर नियंत्रित रहेगी इसका कारण तेजी से चलने वाला SS टीकाकरण अभियान है। दूसरी लहर में संक्रमण की रफ्तार तेज होने के कारण लोगों में प्राकृतिक इम्यूनिटी भी बनी है इसका लाभ दिखेगा।

Continue Reading

India

अमर उजाला विशेष: देश में कोरोना के 120 से ज्यादा म्यूटेशन, आठ सबसे गंभीर, 14 की जांच में जुटे वैज्ञानिक

Published

on

By

कोरोना वायरस को लेकर देश में अब तक 38 करोड़ से भी ज्यादा सैंपल की जांच हो चुकी है लेकिन इनमें से 28 हजार की जीनोम सीक्वेंसिंग अब तक हो पाई है। इसके जरिए पता चला है कि देश में अब तक कोरोना के 120 से ज्यादा म्यूटेशन मिल चुके हैं जिनमें से आठ सबसे गंभीर हैं। जबकि 14 म्यूटेशन की पड़ताल में वैज्ञानिक जुटे हुए हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने गंभीर वैरिएंट के जो नाम दिए थे वे सभी बीटा, एल्फा, गामा, ईटा, कापा, डेल्टा प्लस, लोटा वैरिएंट भारत में मिले हैं। किसी के मामले ज्यादा है तो किसी के कुछ ही मरीज हैं। 28 लैब में चल रही सीक्वेंसिंग की प्रारंभिक रिपोर्ट के नतीजे काफी चौंकाने वाले हैं।  सूत्रों से पता चला है कि डेल्टा के साथ भारत में कोरोना का कापा वैरिएंट भी है। बीते 60 दिन में 76 फीसदी सैंपल में इनकी पुष्टि हुई है।

सीक्वेंसिंग के जरिये ही वैज्ञानिक वायरस के बदलावों को समझ पा रहे हैं लेकिन स्थिति यह है कि नियमानुसार हर राज्य से पांच फीसदी सैंपल की सीक्वेंसिंग होना जरूरी है लेकिन वर्तमान में ऐसा तीन फीसदी भी नहीं हो पा रहा है। पहली बार यह रिपोर्ट सामने आई है जिसे हाल ही में मंत्री समूह की बैठक में भी प्रस्तुत की गई थी।
अमर उजाला को मिली एक्सक्लुसिव रिपोर्ट के अनुसार भारत में अब तक 28,043 सीक्वेंसिंग की जा चुकी है जिनमें डेल्टा वैरिएंट के ही कापा और डेल्टा प्लस गंभीर म्यूटेशन सामने आए हैं। वैज्ञानिकों ने एवाई.1(डेल्टा प्लस), बी.1.1.7, बी.1.1.7+, एस:ई484के, बी.1.351(बीटा), बी.1.617.2 (डेल्टा), पी.1(गामा), पी.1.1 और पी.1.2 म्यूटेशन को सबसे गंभीर बताया है। इन सभी आठ गंभीर म्यूटेशन में खास बात है कि यह तेजी से फैलते हैं और लोगों में एंटीबॉडी पर हमला करते हैं। जबकि अन्य 14 म्यूटेशन एवी.1, बी.1.1.318, बी.1.427, बी.1.429, बी.1.525 (ईटा), बी.1.526 (लोटा), बी.1.526.1, बी.1.526.2, बी.1.617.1, बी.1.617.3, सी.36.3, सी.37, पी.2 और पी.3 पर अभी अध्ययन चल रहा है। ये म्यूटेशन इंसानों के लिए कितना गंभीर हो सकते हैं इसके बारे में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता।
दूसरी लहर के 60 दिन में यह मिली हालत
पिछले 60 दिन की स्थिति देखें तो 76 फीसदी सैंपल में बी.1.617.2 (डेल्टा) वैरिएंट मिला है। जबकि आठ फीसदी सैंपल में  बी.1.617.1 (कापा) वैरिएंट मिला है। यह दोनों ही वैरिएंट बी.1.617 वैरिएंट से निकले हैं जो पिछले वर्ष सबसे पहले महाराष्ट्र में मिले थे। एक से तीन और अब तीन-तीन में अलग अलग म्यूटेशन हो रहा है जिसमें से एक डेल्टा प्लस है। इससे पता चलता है कि वायरस कितनी तेजी से अपना स्वरूप बदल रहा है। इनके अलावा पांच-पांच फीसदी सैंपल में बी.1 और बी.1.1.7 (एल्फा) वैरिएंट भी मिला है।

कोरोना के आठ गंभीर वेरिएंट की स्थिति
गंभीर वैरिएंट        कुल सैंपल         फीसदी में           पहली बार               आखिरी बार

डेल्टा                 6,098                 27%         7 सितंबर 2020              7 जून 2021

एल्फा               3028                   13%          2 सितंबर 2020             15 मई 2021

बीटा                 176                     1%           30 दिसंबर 2020          13 मई 2021

डेल्टा प्लस           08                    0.5%         5 अप्रैल 2021               15 मई 2021

कापा                3,4481                7%           1 दिसंबर 2020               3 जून 2021

ईटा                  182                     1%            6 फरवरी 2021             25 मई 2021

बी.1.617.3        91                     1%             14 दिसंबर 2020           10 मई 2021

लोटा                  3                       0.5%          16 दिसंबर 2020         24 मार्च 2021

Continue Reading

India

अलविदा फ्लाइंग सिख : बंटवारे से बुलंदियों तक …आसान नहीं था मिल्खा सिंह बनना

Published

on

By

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़ Published by: ajay kumar Updated Sat, 19 Jun 2021 01:41 AM IST

पाकिस्तान के गोविंदपुरा में जन्मे मिल्खा सिंह का जीवन संघर्षों से भरा रहा। बचपन में ही भारत-पाकिस्तान बंटवारे का दर्द और अपनों को खोने का गम उन्हें उम्र भर सालता रहा। बंटवारे के दौरान ट्रेन की महिला बोगी में सीट के नीचे छिपकर दिल्ली पहुंचने, शरणार्थी शिविर में रहने और ढाबों पर बर्तन साफ कर उन्होंने जिंदगी को पटरी पर लाने की कोशिश की। फिर सेना में भर्ती होकर एक धावक के रूप में पहचान बनाई। अपनी 80 अंतरराष्ट्रीय दौड़ों में उन्होंने 77 दौड़ें जीतीं लेकिन रोम ओलंपिक का मेडल हाथ से जाने का गम उन्हें जीवन भर रहा। उनकी आखिरी इच्छा थी कि वह अपने जीते जी किसी भारतीय खिलाड़ी के हाथों में ओलंपिक मेडल देखें लेकिन अफसोस उनकी अंतिम इच्छा उनके जीते जी पूरी न हो सकी। हालांकि मिल्खा सिंह की हर उपलब्धि इतिहास में दर्ज रहेगी और वह हमेशा हमारे लिए प्रेरणास्रोत रहेंगे। 

Continue Reading
Advertisement

Trending

Copyright © 2017 Zox News Theme. Theme by MVP Themes, powered by WordPress.