WWE में धमाकेदार एंट्री करेंगे Roman Reigns, लड़ रहे हैं कैंसर की जंग

3
- Advertisement -

WWE में Roman Reigns की एंट्री की खबरें चर्चा में हैं.

World Wrestling Entertainment (WWE) में कई ऐसे हादसे हुए जिसके बाद दिग्गज रेसलर्स का करियर खत्म हो गया. ऐसा ही लगा था जब रोमन रेन्स (Roman Reigns) ने ल्यूकीमिया (Leukemia) होने के कारण WWE छोड़ दिया था. उस वक्त वो WWE Universe थे. बेल्ट को रिंग में रखकर उन्होंने रेसलिंग से दूरी बना ली थी. क्योंकि उन्हें ल्यूकीमिया का इलाज कराना था. खबरों के मुताबिक वो फिर WWE में धमाकेदार एंट्री के लिए तैयार हैं. pwinsider की रिपोर्ट के मुताबिक, वो WWE के अगले इवेंट में नजर आ सकते हैं. अगला इवेंट ट्रिब्यूट टू द ट्रूप्स (Tribute To The Troops) है. ये इवेंट टेक्सास में होगा. जिसका शूट 6 दिसंबर को होगा और टीवी पर 20 दिसंबर को दिखाया जाएगा.
WWE छोड़ने के बाद पहली बार नजर आए Roman Reigns, झड़ने लगे बाल, देखें VIDEO
qtm9ie3

रोमन रेन्स टेक्सास में ही हैं. ये इवेंट टेक्सास में सैनिकों के लिए हर साल रखा जाता है. इस इवेंट में सैनिकों के लिए फाइट रखी जाती है. इस इवेंट में सभी सैनिक मैच को देखते हैं. इस इवेंट के जरिए WWE सैनिकों को ट्रिब्यूट देती है. अभी तक इस बात का खुलासा नहीं हुआ है कि रोमन रेन्स शो में नजर आएंगे या नहीं. लेकिन वो दोस्तों से मिलने और सैनिकों को ट्रिब्यूट देने आ सकते हैं. पिछले दो महीने से रोमन रेन्स रिंग से दूर हैं. कुछ दिनों पहले उन्हें फुटबॉल मैच में देखा गया था.

WWE का 'The Big Dog' लड़ रहा है कैंसर की जंग, छोड़ा रिंग तो फूट-फूटकर रोने लगे लोग, देखें VIDEO
11k048j
रोमन रेंस ने WWE Universal title belt इसलिए छोड़ दिया था क्योंकि उन्हें ल्यूकीमिया से पीड़ित हैं. यह कहकर ही वो WWE से विदा हुए थे. उसके बाद रोमन रेंस पहली बार नजर आए. रोमन रेंस ल्यूकीमिया (Leukemia) जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं. ल्यूकीमिया एक तरह का बल्ड कैंसर होता है. जिसमें ब्लड सेल्स काफी बढ़ने लगते हैं. ल्यूकीमिया होने पर वाइट ब्लड सेल्स के DNA में दिक्कत पैदा होती है. रोमन रेंस ने बताया कि वो जब 11 साल के थे तब से वो इस बीमारी से जूझ रहे थे फिर ये बीमारी उभरकर वापस आ गई है.
टिप्पणियांफिल्म नहीं हकीकत में भी मुक्के से टूटते हैं दांत, देखें WWE में जैफ हार्डी का हाल
क्यो होता है ल्यूकीमिया में
ल्यूकीमिया बीमारी में खतरा 55 साल से ज्यादा उम्र वालों को ज्यादा रहता है. रोमन रेंस की बीमारी का इलाज संभव है. रोमन रेंस का सही ट्रीटमेंट हुआ तो वो जल्द ही ठीक होकर रिंग में वापसी कर सकते हैं. ल्यूकीमिया में लगातार थकान रहती है, बुखार आते रहता है, वजन तेजी से कम होता है, ज्वाइंट्स में दर्द और स्किन का कलर चेंज हो जाता है.
Source Article

- Advertisement -