NDTV Exclusive: बुलंदशहर हिंसा पर बोले मेरठ रेंज के IG, योगेश राज के खिलाफ सबूत मिलते ही होगी कार्रवाई, गोली किसने चलाई अभी पता नहीं

3
- Advertisement -

एनडीटीवी से आईजी मेरठ ने की खास बात

मेरठ: बुलंदशहर हिंसा (Bulandshahr violence) मामले में घटना के चार दिन बीतने को हैं लेकिन अभी तक पुलिस ने इस मामले के मुख्य आरोपी योगेश राज (Yogesh Raj) को गिरफ्तार नहीं किया है. अब पुलिस इस मामले में सभी सबूतों को ध्यान में रखते हुए ही कार्रवाई करने की बात कर रही है. NDTV ने इस मामले में की अपनी पड़ताल को लेकर मेरठ रेंज के आईजी राम कुमार (IG Ram Kumar) से खास बातचीत की. इस बातचीत के दौरान आईजी राम कुमार ने बताया कि अब तक 7 में से 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने बताया कि एफआईआर में एक बच्चे का नाम गलती से दर्ज किया गया था. अब 11 साल के साजिद की जगह 26 साल के दूसरे साजिद नाम के शख्स को गिरफ़्तार किया गया है. जबकि एफआईआर से एक अन्य नाबालिग बच्चे का नाम हटा दिया है. आईजी राम कुमार ने बताया कि नामजद लोगों में से तो कई खिलाफ कार्रवाई की जा चुकी है वहीं अभी अन्य के खिलाफ कार्रवाई करना बाकी है. आईजी राम कुमार ने बताया कि हिंसा और इंस्पेक्टर की हत्या मामले में अब तक तीन लोगों को गिरफ़्तार किया गया है. आईजी मेरठ से बातचीत के दौरान एनडीटीवी ने उनसे कई तरह के सवाल किए. आइये जानते हैं आईजी मेरठ ने इन सवालों के जवाब में क्या कहा…
यह भी पढ़ें: इंस्पेक्टर के बेटे ने कहा- हिंदू-मुस्लिम के झगड़े में आज मेरे पिता गए, कल किसके पिता?'
सवाल: वीडियो के आधार पर कार्रवाई क्यों नहीं?
जवाब: वीडियो के आधार पर कार्रवाई की बात पर उन्होंने कहा कि वहां करीब 100 लोगों की भीड़ थी. सबके रोल की जांच की जा रही है, बिना रोल को पहचाने कार्रवाई करना जल्दबाजी होगी.
सवाल: योगेश राज अब तक गिरफ़्तार क्यों नहीं?
जवाब: वह वीडियो जारी कर रहा है यह उसका काम है, हम लोग सबूत के आधार पर ही कार्रवाई कर सकते हैं जिसके खिलाफ जो एविडेंस मिलेगा उसके ख़िलाफ़ कार्रवाई करेंगे. अगर योगेश के खिलाफ हमें सूबत मिले तो हम कार्रवाई करने में देरी नहीं करेंगे.
यह भी पढ़ें: पुलिस की FIR में 27 नामजद, 50-60 अज्ञात पर भी मुकदमा दर्ज, अब तक 4 गिरफ्तार
सवाल: आपकी बातों से ऐसा लग रहा है कि योगेश के खिलाफ आपके अभी सबूत नहीं हैं?
जवाब: जो सबूत आएंगे, हम उसके आधार पर ही तो कार्रवाई कर पाएंगे ना!
सवाल: मैं जांच में इंटरफेयर नहीं करना चाह रहा लेकिन आपकी बात से ऐसा लग रहा है कि उसके खिलाफ कुछ आया नहीं है अभी?
जवाब: अभी हमनें इनको फॉरेंसिकली टेस्ट करवाना है जो कुछ भी चीजें हैं, अभी साफ तौर पर किसका क्या रोल है किस घटना में यह साफ नहीं है. इंस्पेक्टर साहब को गोली किसने मारी, सुमित को गोली किसने मारी. इस चीज की जब तक क्लियर जानकारी नहीं होगी जब तक गोली मारने वाला पकड़ा जाएगा. वो आइडेंटिफाई होना है. दूसरा महत्वपूर्ण चीज है कि उस इलाके में कभी गोकशी होती नहीं है. वहां किसने गोकशी की. उस शख्स को पकड़ने से ज्यादा ये चीजें भी जरूरी है.
यह भी पढ़ें: बंदूक छीनो…मारो…मारो – बुलंदशहर में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या से पहले का वीडियो वायरल
सवाल: वीडियो में सुमित भी पथराव करते हुए दिख रहा है. अगर पथराव कर रहा है तो क्या यह आपके नॉलेज में आग गया है?
जवाब: ये वीडियो तो सभी के पास है अब , हम इस पूरे मामले की भी जांच कर रहे हैं. इस वीडियो की भी फॉरेंसिक जांच कराई जा रही है.
सवाल: जब सुमित खुद ही पथराव कर रहा है तो क्या उसके परिवार को दस लाख का मुआवजा कैसे मिल सकता है?
जवाब: मैं इसपर कोई टिप्पणी नहीं कर सकता.
VIDEO: सूबतों के आधार पर ही होगी कार्रवाई: IG मेरठ
टिप्पणियां
Source Article

- Advertisement -