NDTV Exclusive: चंद्रबाबू संग गठबंधन पर बोले राहुल गांधी: हमारी केमिस्ट्री अच्छी, साथ काम करने में मजा आ रहा है

3
- Advertisement -

राहुल गांधी और चंद्रबाबू नायडू (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: अपनी उम्र से 20 साल बड़े आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू (Chandrababu Naidu) से कंधे से कंधा मिलाकर खड़े राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने एनडीटीवी से कहा कि वे एक-दूसरे के विरोधी नहीं हैं और उनकी केमिस्ट्री काफी अच्छी है. तेलंगाना विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को जीत दिलाने की कवायद में जुटे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हैदराबाद में चुनावी अभियान के दौरान बुधवार को कहा कि हम एक दूसरे को पसंद करते हैं. हमें लगता है कि ऐसा बहुत कुछ है जो हम साथ में कर सकते हैं और मुझे लगता है कि आप आने वाले चुनावों में यह देखने वाले हैं. हम चुनाव जीतने जा रहे हैं. दरअसल, कुछ अरसे पहले तक बीजेपी के साथ केंद्र में बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए गठबंधन का हिस्सा रही तेलगू देशम पार्टी (टीडीपी) ने अब तेलंगाना विधानसभा चुनाव में कांग्रेस से हाथ मिला लिया है.
NDTV से बोले राहुल गांधी- देश के संस्थागत ढांचे को बचाने के लिए टीडीपी और कांग्रेस साथ-साथ
दोनों नेताओं, जिनकी पार्टियां लंबे समय से प्रतिद्वंद्वियों पार्टियां रही रही हैं, तेलंगाना में 7 दिसंबर के विधानसभा चुनावों से पहले एक दूसरे का हाथ थामने का फैसला लिया है. यह साझेदारी काफी लंबे समय तक चलेगी और व्यापक होगा, ऐसा इन दोनों नेताओँ ने स महीने की शुरुआत में अपनी पहली बैठक के बाद संकेत दिया था.
इस गठबंधन को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का कहना है कि हम साथ काम कर रहे हैं क्योंकि इस देश को प्रधानमंत्री से और बीजेपी से खतरा है. इस देश की हर संस्था को खतरा है और हम देश के संस्थागत ढांचे को बचा रहे हैं. चंद्रबाबू नायडू की पार्टी के साथ गठबंधन पर राहुल गांधी ने कहा कि हमारी केमिस्ट्री अच्छी है और हम एक दूसरे को पसंद भी करते हैं. हमें एक दूसरे के साथ काम करने में मजा आता है.
राजस्थान विधानसभा चुनावः पीएम मोदी से नहीं देखी गई अपनी मां की यह तकलीफ, जानिए भाषण की 10 बातें
तेलंगाना में कांग्रेस और टीडीपी ने हाथ मिला लिया है. राहुल गांधी और चंद्रबाबू नायडू ने एक मंच से तेलंगाना के खमम में एक रैली भी की. इस राजनीतिक मेल पर इन दोनों नेताओं से NDTV ने खास बातचीत की.
एनडीटीवी से बातचीत में 'TDP बीजेपी और संघ के साथ रही है, क्या इससे आपको चिंता होती है. क्या आपको इस बात की फिक्र नहीं है कि आपकी पार्टी (टीडीपी) तो बनी ही कांग्रेस के विरोध के लिए थी.' इस सवाल पर चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि हमारी सोच बिलकुल स्पष्ट है. हमारे लिए देश काफी अहम है. ये हमारी जिम्मेदारी है. तेलुगू देशम, कांग्रेस और दूसरे राजनीतिक दल बीजेपी को हराने के लिए और देश को बचाने के लिए साथ हैं.
'गोत्र' वार जारी, राहुल गांधी के बाद निशाने पर स्मृति ईरानी, ट्विटर पर यूं मज़ेदार अंदाज में दिया जवाब
वहीं, इसी सवाल पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि हम विरोधी नहीं हैं. हम साथ काम कर रहे हैं क्योंकि इस देश को प्रधानमंत्री से और बीजेपी से खतरा है. इस देश की हर संस्था को खतरा है और हम देश के संस्थागत ढांचे को बचा रहे हैं, इस देश के भविष्य को बचा रहे हैं. हम विरोधी नहीं हैं. बहुत सारी बातें हमारे बीच में एक जैसी हैं. हम साथ काम कर रहे हैं और ऐसा करते हुए बहुत मजा आ रहा है.
राजस्थान के नागौर में बरसे पीएम मोदी: जो मूंग और मसूर में फर्क नहीं समझते, वह देश को किसानी सिखाने आए हैं
इस सवाल पर कि क्या 'आप लोगों में कैसी बन रही है' पर राहुल गांधी ने कहा कि हमारी कैमिस्ट्री बहुत बढ़िया है. मैं कुछ समय से नायडू जी के साथ काम कर रहा हूं. मैं कह सकता हूं कि हमारी सोच में बहुत कुछ एक जैसा है. हमारे नजरिए में एक समानता है. मैं सोचता हूं कि बहुत कुछ साथ किया जा सकता है. अगर आप याद करें, मैं कई बार कह भी चुका हूं कि जब 2004 में नायडू जी चुनाव हारे थे और मीडिया उनके पीछे पड़ गया था तो मैंने उनका साथ दिया था और कहा था कि नायडू जी के साथ ऐसा बर्ताव मत कीजिए क्योंकि उन्होंने सरकार में रहते हुए बहुत बढ़िया काम किया है.
अरुण जेटली का कांग्रेस पर निशाना, फेसबुक पर पूछा- सरदार पटेल के पिता का नाम क्या था?
टिप्पणियां बातचीत में राहुल गांदी ने कहा कि हम एक दूसरे को पसंद करते हैं. हम सोचते हैं कि ऐसा बहुत कुछ है जो हम मिलकर कर सकते हैं, आप आने वाले चुनावों में ऐसा देख सकते हैं, हम चुनाव जीतने वाले हैं.
VIDEO: 'जो मूंग-मसूर में फर्क नहीं समझते, वो देश को किसानी सिखाने आए हैं'
Source Article

- Advertisement -