NDTV से बोले दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया – राम मंदिर बनाने से नहीं पढ़ाने से राम राज्य आएगा

3
- Advertisement -

एनडीटीवी के 'हमलोग' कार्यक्रम में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कई मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय रखी.

नई दिल्ली: हमारे खास कार्यक्रम हमलोग में इस बार दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) आए. उन्होंने केंद्र की सियासत से लेकर दिल्ली की शिक्षा और सरकार पर अपनी बात रखी. नग़मा ने हमलोग में उनसे पूछा कि राम मंदिर पर उनकी पार्टी का क्या स्टैंड है. जवाब देते हुए मनीष सिसोदिया ने कहा, 'अगर दोनों तरफ के लोग तैयार हो तो एक यूनिवर्सिटी बने.' उन्होंने कहा की राम मंदिर बनाने से नहीं पढ़ाने से राम राज्य आएगा.
यह भी पढ़ें : राम मंदिर के लिए माहौल बना रहे RSS की कवायद दिल्ली में फेल, 100 लोग भी संकल्प यात्रा में नहीं जुटे
मनीष सिसोदिया से जब पूछा गया अगर लगातार केस होंगे तो काम कैसे कर पाएंगे. इसपर मनीष सिसोदिया का कहना है कि केंद्र सरकार ने सारी एजेंसी को हमारे पीछे लगा रखा है. उन्होंने कहा कि विजय माल्या भाग गया, लेकिन पुलिस मनीष सिसोदिया के पीछे पड़ी है. मनीष सिसोदिया का कहना है प्रधानमंत्री मोदी दिल्ली ही नहीं देश की सेहत के लिए हानिकारक हैं.
यह भी पढ़ें : चुनावी मौसम में आरएसएस का मंदिर राग, एक और रथयात्रा का ऐलान
मनीष सिसोदिया ने किसी भी तरह के महागठबंधन में शामिल होने से साफ़ इंकार करते हुए कहा है कि उनकी पार्टी दिल्ली की सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी. हलांकि उन्होंने साफ़ किया कि पूरे देश में 2014 की तरह चुनाव नहीं लड़ेंगे. देशभर में कुछ सीटें हैं जिसपर पार्टी की नज़र है, सिर्फ वहीं लड़ेंगे. मनीष सिसोदिया ने कहा कि 2014 में ज़्यादा सीटों पर चुनाव लड़ना प्रयोग था.
यह भी पढ़ें: राम मंदिर: RSS ने कहा- सरकार लाए अध्यादेश या बनाए कानून, न्याय में देरी न हो
राफेल डील को लेकर मनीष सिसोदिया ने कहा कि यह बहुत बड़ा घोटाला है. जब मनीष सिसोदिया से पूछा गया कि आशुतोष ने कहा कि उन्हें नाम के आगे गुप्ता लगाने को कहा गया. इस पर उन्होंने कहा कि अगर उन्हें नहीं लगाना था तो जिसने उनसे कहा उसको साफ़ मना कर देते. उन्होंने इस बात को सिरे से नकार दिया कि पार्टी में टिकट देने में किसी भी जाति का ख्याल रखा जाता है.
टिप्पणियां यह भी पढ़ें: बीजेपी सांसद का ऐलान, अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए शीतकालीन सत्र में लाएंगे प्राइवेट मेंबर बिल
मनीष सिसोदिया ने कहा कि अगर पिछली सरकारों के वक़्त काम होता तो ये हालत नहीं रहती. शिक्षा का बुरा हाल था, जिसे सुधारा जा रहा है. उन्होंने छात्रों के तनाव को ख़त्म करने के लिए दिल्ली के स्कूलों में शुरू किए गए 'हैप्पीनेस करिकुलम' को काफी उपयोगी बताया, लेकिन इस मुहिम के उनके ऑस्ट्रिया दौरे को मंज़ूरी नहीं देने पर सवाल उठाये. यह शो NDTV इंडिया पर रविवार 2 दिसंबर को रात 8:00 बजे टेलीकास्ट होगा.
Source Article

- Advertisement -