MS धोनी ने रणजी ट्रॉफी सीजन में नहीं खेलने को लेकर यूं किया बचाव…

5
- Advertisement -

महेंद्र सिंह धोनी को इस रणजी सीजन में खेलने को लेकर आलोचना का शिकार बनना पड़ा है (फाइल फोटो)

चेन्नई:

भारतीय सीनियर टीम के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद के रणजी ट्रॉफी खेलने की बात को नजरअंदाज करने के बाद भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की काफी आलोचना हुई थी. धोनी ने अब इन आलोचनाओं का जबाव देते हुए कहा कि खिलाड़ी की व्यक्तिगत प्राथमिकता की आलोचना नहीं की जानी चाहिए. गौरतलब है कि धोनी (MS Dhoni)के घरेलू टूर्नामेंट न खेलने पर कई लोगों ने आपत्ति जताई थी और कहा था कि अगर वह फिट हैं तो उन्हें घरेलू क्रिकेट खेलना चाहिए. टीम इंडिया के पूर्व कप्‍तान और क्रिकेट समीक्षक सुनील गावस्‍कर ने शिखर धवन (Shikhar Dhawan) और महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) जैसे दिग्‍गज खिलाड़ि‍यों को घरेलू क्रिकेट में न खेलने की इजाजत देने के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI)को आड़े हाथ लिया था.

VIDEO: मैच हारे लेकिन हीरो बने MS Dhoni, बल्लेबाज को ऐसे चालाकी से बनाया शिकार

- Advertisement -

'सनी' ने कहा था, हमें धवन और धोनी से नहीं पूछना चाहिए कि आप घरेलू क्रिकेट में क्‍यों नहीं खेल रहे? लेकिन हम बीसीसीआई और चयनकर्ताओं से पूछ सकते है कि आखिरकार वे ऐसे समय खिलाड़ि‍यों को घरेलू क्रिकेट से दूर रहने की इजाजत क्‍यों दे रहे हैं जब वे राष्‍ट्रीय टीम में नहीं खेल रहे हैं. गावस्‍कर ने कहा कि यदि भारतीय टीम को वर्ल्‍डकप में अच्‍छा प्रदर्शन करना है तो खिलाड़ि‍यों को अच्‍छा फॉर्म दिखाना होगा और इसके लिए उन्‍हें क्रिकेट खेलनी चाहिए. गावस्‍कर चाहते हैं कि ये दोनों खिलाड़ी खासकर धोनी, रणजी ट्रॉफी में हिस्‍सा लें. धोनी को इस समय अपने बल्‍लेबाजी फॉर्म के कारण आलोचना का शिकार होना पड़ रहा है.गावस्‍कर ने कहा, 'वह (धोनी) ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ टी20 सीरीज में नहीं खेले, वेस्‍टइंडीज के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज में भी वे नहीं खेले और अब वे ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज में नहीं खेल रहे हैं. वे आखिरी बार अक्‍टूबर (1 नवंबर) को इंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज में खेले थे और अब जनवरी में खेलेंगे. यह बड़ा अंतराल है.'

टिप्पणियां

वीडियो: पुजारा बोले, धोनी और विराट में यह बात है कॉमन

इन आलोचनाओं को लेकर वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो ने धोनी के हवाले से लिखा है, "खिलाड़ियों को सुरक्षित करना बेहद जरूरी है. हमें अपने घरेलू सत्र को खिलाड़ियों के लिए थोड़ा कम प्रतिद्वंद्वी बनाना होगा. यह जरूरी है कि टी-20 क्रिकेट और व्यक्तिगत प्राथमिकता के प्रति ज्यादा आलोचनात्‍मक रवैया न अपनाया जाए. व्यक्तिगत प्राथमिकता की आलोचना नहीं की जानी चाहिए." धोनी ने यह बात भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के पूर्व अध्यक्ष एन. श्रीनिवासन की किताब के लांच के अवसर पर कही. धोनी के अलावा ओपनर शिखर धवन भी घरेलू क्रिकेट सीजन में नहीं खेले हैं. अंबाती रायडू ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट से संन्यास ले लिया है ताकि वह आने वाले वर्ल्‍डकप पर ध्यान दे सकें.(इनपुट: भाषा)

Source Article