LJP प्रमुख रामविलास पासवान ने क्यों कहा कि भाई की मौत पर राजनीति न करें…

0
- Advertisement -

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के सांसद रामचंद्र पासवान (Ramchandra Paswan) का रविवार को 57 साल की उम्र में निधन हो गया. रामचंद्र पासवान LJP प्रमुख रामविलास पासवान के छोटे भाई थे. रामचंद्र पासवान के निधन के बाद सदन पूरे दिन के बजाय आधे दिन के लिए स्थगित की गई. पहले किसी भी सदस्य के निधन पर सदन पूरे दिन के लिए स्थगित की जाती थी, लेकिन इस बार नई परंपरा की शुरुआत की गई है. इसके बाद केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) ने ट्वीट कर कहा कि उनके भाई के निधन पर किसी भी प्रकार की राजनीति नहीं की जाए.

मेरे प्यारे भाई स्वर्गीय रामचन्द्र पासवान के निधन पर सदन के प्रस्ताव के मुताबिक़ दो बजे तक के लिए लोकसभा को स्थगित किया जाना हमारे परिवार के प्रति सदन की संवेदना को व्यक्त करता है। सदन ने नई परम्परा शुरू की है जिससे दो बजे के बाद सदन का कामकाज सुचारू रूप से चल सके। (1/2)

— Ram Vilas Paswan (@irvpaswan) July 22, 2019

रामचंद्र पासवान दलितों व कमज़ोरों की आवाज़ व नेता रहें इसमें किसी भी प्रकार की राजनीति नहीं की जाए। (2/2)

— Ram Vilas Paswan (@irvpaswan) July 22, 2019

लोजपा प्रमुख ने ट्वीट किया, 'मेरे प्यारे भाई स्वर्गीय रामचंद्र पासवान के निधन पर सदन के प्रस्ताव के मुताबिक़ दो बजे तक के लिए लोकसभा को स्थगित किया जाना हमारे परिवार के प्रति सदन की संवेदना को व्यक्त करता है. सदन ने नई परंपरा शुरू की है, जिससे दो बजे के बाद सदन का कामकाज सुचारू रूप से चल सके. रामचंद्र पासवान दलितों व कमज़ोरों की आवाज़ व नेता रहें इसमें किसी भी प्रकार की राजनीति नहीं की जाए.

पहले राज्य सभा और अब लोक सभा। एक नई परंपरा की शुरुआत हो चुकी है। किसी भी सदस्य के निधन पर सदन पूरे दिन के बजाए सिर्फ आधे दिन के लिए स्थगित होगा। यह वाजिब है कि किसी को सच्ची श्रद्धांजलि ज़्यादा काम करके देनी चाहिए न कि छुट्टी मना कर।

— Akhilesh Sharma अखिलेश शर्मा (@akhileshsharma1) July 22, 2019

- Advertisement -

टिप्पणियां

बता दें कि रामचंद्र पासवान को पिछले सप्ताह दिल का दौरा पड़ा था, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उनके परिवार में पत्नी, दो बेटे और एक बेटी है.

Source Article