IND vs AUS 4the Test: इस बार पुजारा ने लगाए ऑस्ट्रेलिया के माथे पर ‘ दो बड़े कलंक’, कपिल देव भी पीछे छूटे

2
- Advertisement -

India tour of Australia, 2018-19: पुजारा के बल्ले से इसी दौरे में अभी और रिकॉर्ड निकलने बाकी हैं

सिडनी:

सिडनी में ऑस्ट्रेलिया (AUS vs IND, 4th Test) के खिलाफ खेले जा रहे चौथे टेस्ट (AUS vs IND, 4th Test) मैच के पहले दिन (मैच रिपोर्ट) के खेल के बाद हर तरफ चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) के नाम ही चर्चा है, उन्हीं के नाम का शोर है. क्रिकेटप्रेमी से लेकर पूर्व क्रिकेटर तक सभी ने सोशल मीडिया पर पुजारा को जमकर सराहा है. जैसे-जैसे आंकड़ेविद अपनी रिकॉर्डबुक खोल रहे हैं, वैसे-वैसे चेतेश्वर पुजारा से जुड़ा कोई न कोई न कोई बड़ा कारनामा सामने निकलकर आ रहा है. और उम्मीद है कि सिडनी टेस्ट के दूसरे दिन शुक्रवार को पुजारा की पारी जैसे-जैसे और आगे बढ़ेगी, तो कई और नए रिकॉर्ड उनकी झोली में आकर गिरेंगे.

Cheteshwar Pujara brings up his third Test of the series in style with a boundary!
Follow the #AUsvIND action live https://t.co/c2fCH8UcMcpic.twitter.com/Or2o9btub1

— ICC (@ICC) January 3, 2019

वास्तव में यह चेतश्वर पुजारा के नाबाद 130 रन ही हैं, जिनसे टीम इंडिया पहले दिन बाकी टेस्ट मैचों की तुलना में तेज बल्लेबाजी करते हुए 4 विकेट पर 303 रनों तक पहुंचने में कामयाब रही. न केवल पुजारा ने सीरीज का तीसरा शतक बनाया, बल्कि वह कारनामा कर डाला, जो उनसे पहले भारतीय दिग्गज बल्लेबाजों में सचिन तेंदुलकर और सुनील गावस्कर ही कर सके थे

- Advertisement -

यह भी पढ़ें: IND vs Aus 4th Test: चेतेश्वर पुजारा की 'तीन अहम बातों' का मुकाबला इस बार विराट कोहली भी नहीं कर सके

ध्यान दिला दें कि साल 1985-86 में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली गई तीन टेस्ट मैचों की सीरीज 0-0 से ड्रॉ छूटी थी. और इस सीरीज में सुनील गावस्कर ने भारत के लिए 356 रन बनाए थे. इसके बाद आया नंबर सचिन तेंदुलकर का. तब साल 2007-08 में भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे में सचिन ने कारनामा करते हुए 493 रन बनाकर कंगारुओं को चुप कर दिया था. और इस बार चेतेश्वर पुजारा ने तीसरी बार कंगारुओं के माथे पर कलंक लगाया है.

Take a bow, Cheteshwar Pujara!
Another outstanding knock for his fifth Test ton against Australia.#AUSvIND | @Domaincomaupic.twitter.com/n692cZ7WrC

— cricket.com.au (@cricketcomau) January 3, 2019

दरअसल ऑस्ट्रेलिया जमीं पर यह सिर्फ तीसरा ही मौका है, जब किसी भारतीय बल्लेबाज ने सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में मेजबान बल्लेबाज को छोड़ दिया है. वास्तव में इस बार तो अंतर बहुत ही ज्यादा है. जैसा साल 2007-08 में सचिन के 493 रन के जवाब में हेडेन ने 410 रन बनाए थे, लेकिन इस बार जहां पुजारा ने अभी तक ही 458 रन बटोर लिए हैं, तो ऑस्ट्रेलिया के लिए ट्रेविस हेड (217) उनसे आधे ही रन बना सके हैं. वहीं ऑस्ट्रेलिया के लिए एक शर्म की बात यह भी रही कि जहां भारत के लिए दौरे में 4 शतक लगे हैं, तो ऑस्ट्रेलिया की तरफ से कोई भी बल्लेबाज एक भी शतक नहीं बना सका.

VIDEO: एडिलेड में पहले टेस्ट में जीत के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में

टिप्पणियां

वहीं पुजारा की नाबाद शतकीय पारी उनके लिए निजी उपलब्धि भी लेकर आई. अब पुजारा भारत के लिए सबसे ज्यादा टेस्ट रन बनाने के मामले में कपिल देव को पछाड़कर 11वें नंबर के बल्लेबाज हो गए हैं. कपिल देव के 131 टेस्ट मैचों में 5248 रन हैं, तो पुजारा के 68वें टेस्ट में अभी तक 5363 रन हो चुके हैं.

Source Article