Ind vs Aus: भुवनेश्‍वर कुमार ने पहले ODI में प्रदर्शन अच्‍छा नहीं रहने का बताया यह कारण..

2
- Advertisement -

जसप्रीत बुमराह की गैरमौजूदगी में भुवनेश्‍वर कुमार टीम इंडिया के प्रमुख तेज गेंदबाज हैं (फाइल फोटो)

एडिलेड:

ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ (India vs Australia) वनडे सीरीज (ODI Series) में विराट कोहली के नेतृत्‍व वाली टीम इंडिया इस समय 0-1 से पिछड़ रही है. पहले मैच में टीम इंडिया को मिली 34 रन की हार एक तरह से चौंका देने वाली रही और मंगलवार को सीरीज का दूसरा मैच विराट ब्रिगेड के लिए 'करो या मरो' की तरह हो गया है. टीम इंडिया (Team India)को सीरीज में बने रहने के लिए दूसरा वनडे हर हाल में जीतना जरूरी है. सिडनी के पहले वनडे में रोहित शर्मा की बल्‍लेबाजी को छोड़कर भारत के लिए कुछ भी अच्‍छा नहीं रहा. शिखर धवन, विराट कोहली (Virat Kohli) और अंबाती रायुडू जैसे बल्‍लेबाज नहीं चल पाए. गेंदबाजी के डिपार्टमेंट में जसप्रीत बुमराह की गैरमौजूदगी के चलते भुवनेश्‍वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) पर बड़ी जिम्‍मेदारी थी. हालांकि स्विंग के जादूगर भुवी ने मैच में दो विकेट लिए लेकिन इस कोशिश में उन्‍होंने 66 रन दे डाले. टीम इंडिया के लिए दूसरे वनडे में गेंदबाजी और बल्‍लेबाजी दोनों को ही 'कसना' होगा.

A very warm and sunny welcome here at Adelaide as #TeamIndia sweat it out in the nets ahead of the 2nd ODI.#AUSvINDpic.twitter.com/4OkUI3Nk8A

— BCCI (@BCCI) January 14, 2019

मुख्‍य चयनकर्ता की ओर से ऋषभ पंत को मिली यह तारीफ धोनी के लिए खतरे की घंटी तो नहीं..

- Advertisement -

आखिर क्‍या कारण है कि भुवी इस मैच में अपेक्षा के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर पाए. भुवनेश्‍वर का मानना है कि लंबे अंतराल से एक भी इंटरनेशनल मैच नहीं खेलने से किसी भी गेंदबाजी की रिदम प्रभावित होती है. ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ पूरी टेस्‍ट सीरीज में भुवी को बेंच पर बठना पड़ा. उन्‍होंने कहा, नियमित अंतराल में आप यदि मैच नहीं खेलते हैं तो इसका असर किसी भी गेंदबाज की लय पर पड़ता है. मैं नेट्स में लय हासिल करने की पूरी कोशिश कर रहा था लेकिन मैच की लय इससे अलग ही होती है. हालांकि भुवनेश्‍वर ने कहा कि उनका प्रदर्शन बहुत बुरा भी नहीं रहा. उन्‍हें आगे के मैच में इसमें और सुधार की उम्‍मीद हैं. निर्णायक हो चुके सीरीज के दूसरे वनडे के लिए भुवनेश्‍वर तैयारी में जुटे हैं. भुवनेश्वर ने नेट्स पर स्टम्प के नीचे जूते रखकर अभ्यास किया ताकि अपने यॉर्कर को परफेक्ट कर सकें. भुवनेश्‍वर वैसे तो बुमराह की तरह'मारक' यार्कर नहीं फेंकते हैं लेकिन स्‍लॉग ओवरों में पिटाई से बचने के लिये इस पर मेहनत कर रहे हैं.

Here's a bowling drill for your next training session! #AUSvINDpic.twitter.com/Ans4Zdnk8D

— cricket.com.au (@cricketcomau) January 14, 2019

विराट कोहली ने दूसरे वनडे से पहले अनुष्‍का शर्मा के साथ पोस्‍ट की फोटो तो फैंस ने दी यह नसीहत

टिप्पणियां

उन्होंने यहां पत्रकारों से कहा,‘यॉर्कर फेंकने के लिये अलग तरह के कौशल की जरूरत होती है. मैं जूतों पर यॉर्कर डालने का अभ्यास कर रहा था. स्लाग ओवरों में विकेट लेने और रन रोकने के लिये मैंने यह अभ्यास किया.' भुवनेश्‍वर ने कहा कि टेस्ट मैच से बाहर रहने के दौरान वह यॉर्कर डालने का अभ्यास नहीं कर रहे थे क्योंकि पांच दिनी क्रिकेट में इस गेंद का इस्तेमाल अमूमन नहीं होता है. उन्होंने कहा,‘मैंने एक महीने तक इसका अभ्यास नहीं किया. टेस्ट में इसकी जरूरत नहीं होती और मैंने मैच नहीं खेला. वनडे और टी20 में इसकी जरूरत पड़ती है.(इनपुट: एजेंसी)

वीडियो: ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज जीतने के बाद यह बोले विराट

Source Article