IND vs AUS: ‘दोहरी चुनौती’ है रोहित शर्मा के सामने ऑस्ट्रेलिया में

2
- Advertisement -

इंग्लैंड के लिए रवाना होने से पहले साथी खिलाड़ी दिनेश कार्तिक के साथ रोहित शर्मा

नई दिल्ली: भारतीय उपकप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाजों को अपने लंबे कद का फायदा मिलेगा लेकिन उनकी टीम भी इस बार क्रिकेट की इस प्रतिद्वंद्विता की नई परिभाषा गढ़ने को तैयार हैं. भारतीय टीम दौरे की शुरुआत 21 नवंबर को टी20 मैच से करेगी. रोहित ने कहा कि तेज पिचों पर खेलना उतना आसान नहीं होगा. उन्होंने कहा कि भारत ने हमेशा पर्थ या ब्रिसबेन में खेला है. इन दोनों मैदानों पर हालात चुनौतीपूर्ण रहते हैं और ऑस्ट्रेलिया के लंबे गेंदबाज हालात का पूरा फायदा उठाते हैं. भारतीय बल्लेबाज आम तौर पर उतने लंबे नहीं होते लिहाजा हमारे लिए आसान नहीं है लेकिन हम पूरी तैयारी के साथ चुनौती का सामना करने आए हैं. वैसे इस ऑस्ट्रेलिया दौरे में वास्तव में रोहित के सामने दोहरी चुनौती है.

Gangs here and we are ready to jet pic.twitter.com/CsCqm79Kl0

— Rohit Sharma (@ImRo45) November 16, 2018

रोहित ने कहा कि हमारे बल्लेबाजों के लिए यह चुनौतीपूर्ण है लेकिन अधिकांश खिलाड़ी पहले ऑस्ट्रेलिया का दौरा कर चुके हैं और हालात से वाकिफ हैं. उनकी गेंदबाजी हर प्रारूप में हमारे लिए चुनौतीपूर्ण होगी लेकिन एक बल्लेबाजी ईकाई के रूप में हम भी तैयार हैं. तीन मैचों की टी20 सीरीज के बाद भारत को चार मैचों की टेस्ट और तीन मैचों की वनडे सीरीज खेलना है. भारत ने अभी तक ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज नहीं जीती है. तीन श्रृंखलाएं ड्रॉ रही हैं और आठ में उसे पराजय का सामना करना पड़ा. रोहित ने गाबा पर अभ्यास सत्र के बाद कहा कि भारत के बाहर खेलने पर अलग अहसास होता है और ऑस्ट्रेलिया में हम सभी अच्छा प्रदर्शन करना चाहते हैं. पिछली बार हमने यहां कुछ करीबी मैच खेले थे.
यह भी पढ़ें: ऑस्‍ट्रेलिया दौरे में विराट कोहली को विनम्र रहने को नहीं कहा गया: बीसीसीआई
उन्होंने कहा कि हम इस बार बेहतरीन प्रदर्शन करके जीतना चाहते हैं. ऑस्ट्रेलिया में अच्छे प्रदर्शन से मनोबल बढता है और विश्व कप से पहले जीतने से हमारा आत्मविश्वास काफी बढ़ेगा. उन्होंने यह भी कहा कि ऑस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम के खिलाफ सभी खिलाड़ियों को अच्छा खेलना होगा. उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया को उसके घर में हराना काफी मुश्किल है . ऐसे में एक ईकाई के रूप में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा. हमारे पास बेहतरीन गेंदबाज खासकर स्पिनर हैं जिनसे हम ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को कड़ी चुनौती देंगे.
यह भी पढ़ें: Women's World T20: सेमीफाइनल में इंग्‍लैंड से मुकाबला करेगी भारतीय महिला टीम
रोहित ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उसके घर में खेले गए वनडे में 16 मैचों में 57.50 की औसत से 805 रन बनाए हैं. उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई पिचों की उछाल और रफ्तार से उन्हें मदद मिलती है. उन्होंने कहा कि मैंने यहां वनडे क्रिकेट का पूरा मजा लिया है. ब्रिसबेन और पर्थ जैसे शहरों में अच्छी उछाल से मुझे अपना स्वाभाविक खेल खेलने का मौका मिलता है क्योंकि मैने स्वदेश में सीमेंट की पिचों पर खेला है.
टिप्पणियांVIDEO: जानिए कि धोनी के टी-20 टीम से ड्रॉप होने पर क्रिकेट पंडितों ने क्या कहा.
निश्चित ही, रोहित ने वनडे में ऑस्ट्रेलिया में बेहतर प्रदर्शन किया है, लेकिन यह बात उन पर टेस्ट में लागू नहीं होती. ऑस्ट्रेलिया में रोहित का 3 टेस्ट मैचों में सिर्फ 28.83 का औसत है. ऐसे में रोहित शर्मा के सामने ऑस्ट्रेलिया में दोहरी चुनौती है. पहली चुनौती टेस्ट इलेवन में जगह हासिल करना, तो दूसरी टेस्ट में अपना औसत वनडे की तरह बेहतर करना. अब देखने की बात यह होगी कि रोहित इस चुनौती पर खरे उतरते हैं या नहीं.
Source Article

- Advertisement -