Ind vs Aus: ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज में अजिंक्‍य रहाणे ने यह बताया जीत का ‘मूल मंत्र’

4
- Advertisement -

ऑस्‍ट्रेलिया के पिछले दौरे में रहाणे ने विराट के साथ मिलकर 262 रन की साझेदारी की थी (फाइल फोटो)

एडिलेड: भारतीय टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) ने ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ (India Vs Australia) 6 दिसंबर से प्रारंभ होने वाली टेस्‍ट सीरीज (Test series) में जीत के लिए बड़ी साझेदारियों को अहम बताया है. मध्‍य क्रम के बल्‍लेबाज रहाणे ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया में पहली बार टेस्ट सीरीज जीतने के लिये भारतीय टीम (Team India) को लंबी साझेदारियां करनी होगी. रहाणे ने मेलबर्न में 2014-15 में विराट कोहली (Virat Kohli) के साथ 262 रन की साझेदारी का उदाहरण देते हुए कहा कि ऑस्ट्रेलिया का फोकस सिर्फ भारत के स्टार बल्लेबाज पर रहने से दूसरे बल्लेबाजों को एक छोर से अपना काम करने में मदद मिल जाती है. उन्होंने कहा,‘हर बल्लेबाज का काम टीम के लिए योगदान देना होगा. हमें पिछली बार की तरह लंबी साझेदारियां बनानी होगी. इससे ऑस्ट्रेलिया में सीरीज जीतने में मदद मिलेगी.'स्‍टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर की गैरमौजूदगी के कारण सीरीज में ऑस्‍ट्रेलिया टीम को कमजोर माना जा रहा है लेकिन अजिंक्‍य रहाणे इससे सहमत नहीं हैं. उन्‍होंने कहा कि ऑस्‍ट्रेलिया टीम अपने मैदानों पर हमेशा ही अच्‍छा प्रदर्शन करती रही है.

All on #KingKohli ahead of the 1st Test against Australia#AUSvINDpic.twitter.com/DHtUG5Xex5

— BCCI (@BCCI) December 4, 2018

अजिंक्‍य रहाणे के मुद्दे पर विराट कोहली ने आलोचकों पर यह कहकर साधा निशाना…
रहाणे (Ajinkya Rahane) ने कहा,‘पिछली बार मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) पर हमने साझेदारी का पूरा मजा लिया. मिचेल जॉनसन का फोकस विराट कोहली पर था और दूसरे छोर से मैं मजे से अपना स्वाभाविक खेल दिखा रहा था. दूसरे छोर पर विराट काफी आक्रामक था, बल्ले से भी और मुंह से भी.'उन्‍होंने कहा,‘इससे मुझे खेल पर फोकस करने और अपना स्वाभाविक खेल दिखाने में मदद मिली. मैं विराट से बिल्कुल विपरीत खेलता हूं. आपको समझना होता है कि हर किसी की भूमिका अलग-अलग है. यह टीम का खेल है और विराट भी यह बात अच्‍छी तरह से समझते हैं.'
India Vs Australia: ऑस्‍ट्रेलिया में यह उपलब्धि हासिल करने से महज 8 रन दूर हैं विराट कोहली..
टिप्पणियां गौरतलब है कि दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय बल्लेबाजों की काफी आलोचना हुई थी जहां सिर्फ कोहली ही चल सके थे. इसे लेकर रहाणे (Ajinkya Rahane) ने कहा,‘लोग आलोचना करेंगे या तारीफ करेंगे लेकिन हमें कठिन दौर में एकजुट रहना होगा. इंग्लैंड में हालात काफी चुनौतीपूर्ण थे और इंग्लिश बल्लेबाज भी जूझते दिखे. एलेस्टर कुक आखिरी टेस्ट पारी के अलावा कोई बड़ा स्कोर नहीं बना सके. इसलिए आलोचना पर फोकस करने की जरूरत नहीं है और न ही प्रशंसा पर.'उन्होंने कहा,‘हर सीरीज में नए सिरे से शुरूआत करने की जरूरत है. इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका में हमने सबक ले लिया और अब सुधार के साथ खेलेंगे. इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों में अच्छी शुरूआत जरूरी है.'
वीडियो: मैडम तुसाद म्‍यूजियम में विराट कोहली
स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर के बिना ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी को कमजोर माना जा रहा है लेकिन रहाणे (Ajinkya Rahane) ने कहा कि घरू मैदानों पर ऑस्ट्रेलिया का दावा पुख्ता होगा. उन्होंने कहा,‘अपनी सरजमीं पर हर टीम अच्छा खेलती है और ऑस्ट्रेलिया सीरीज जीतने की प्रबल दावेदार है. बेशक, उन्हें स्मिथ और वॉर्नर की कमी खलेगी लेकिन वे कमजोर नहीं हैं. उनकी गेंदबाजी काफी दमदार है और टेस्ट क्रिकेट में यह बहुत जरूरी है.' (इनपुट: एजेंसी)
Source Article

- Advertisement -