Hockey world Cup: भारत का दक्षिण अफ्रीका से मुकाबला, जीत के साथ आगाज करना चाहेगी मनप्रीत सिंह ब्रिगेड

2
- Advertisement -

भुवनेश्वर: हॉकी वर्ल्‍डकप (Hockey world cup 2018) के मंगलवार को हुए रंगारंग शुभारंभ के बाद बुधवार से मुकाबलों का दौर शुरू हो गया है. मनप्रीत सिंह की अगुवाई भारतीय टीम को आज दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैदान में उतरेगी. इस मैच में भारतीय टीम को जीत का दावेदार माना जा रहा है. सोलह देशों के इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में दक्षिण अफ्रीका, बेल्जियम और कनाडा के साथ भारत पूल सी में हैं. आठ बार की ओलिंपिक चैम्पियन भारतीय टीम (Indian Hockey Team) वर्ष 1975 में एकमात्र वर्ल्‍डकप जीती थी. उस समय अजित पाल सिंह और उनकी टीम ने इतिहास रचा था. पिछले करीब चार दशक से यूरोपीय टीमों ने विश्‍व हॉकी पर दबदबा कायम रखा है. भारत ने 1975 के बाद सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन मुंबई में 1982 में हुए वर्ल्‍डकप में किया जब वह पांचवें स्थान पर रहा था.

India will lock horns with South Africa in a stellar setting at the Odisha Hockey men's World Cup Bhubaneswar 2018. We would like to wish the Indian Men's Hockey Team all the best for their opening match on 28th November. #IndiaKaGame#HWC2018#DilHockeypic.twitter.com/rUxQQUSLTS

— Hockey India (@TheHockeyIndia) November 28, 2018

Hockey World Cup: हॉकी के महाकुंभ का रंगारंग शुभारंभ, शाहरुख-माधुरी रहे आकर्षण के केंद्र
टिप्पणियां विश्व रैंकिंग में पांचवें स्थान पर काबिज भारत इस बार पदक जीतकर उस कसक को दूर करना चाहेगा. वैसे यह उतना आसान भी नहीं होगा क्योंकि उसे दो बार की गत चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया, नीदरलैंड्स, जर्मनी और ओलिंपिक चैम्पियन अर्जेंटीना जैसी टीमों से पार पाना होगा. इसके अलावा अच्छे प्रदर्शन की अपेक्षाओं का भी भारी दबाव कोच हरेंद्र सिंह की टीम पर होगा.अ भी तक नौ देशों ने वर्ल्‍डकप की मेजबानी की है जिनका प्रदर्शन अपनी मेजबानी में अच्छा नहीं रहा है.दो साल पहले लखनऊ में जूनियर टीम को विश्‍वकप दिलाने वाले हरेंद्र सिंह एशियाई खेलों में स्वर्ण बरकरार नहीं रख पाने के कारण दबाव में हैं. उनके लिये यह 'करो या मरो' का टूर्नामेंट है और अच्छा प्रदर्शन नहीं करने पर उनकी नौकरी जा सकती है. हरेंद्र ने कहा,‘एशियाई खेलों के सेमीफाइनल में मलेशिया से मिली हार से हम उबर चुके हैं. खिलाड़ी आक्रामक हॉकी खेल रहे हैं और अच्छे नतीजे दे सकते हैं. इसके लिये हमें मैच दर मैच रणनीति बनानी होगी. अपने देश में खेलने को हम दबाव नहीं बल्कि प्रेरणा के रूप में लेंगे.'
वीडियो: भारतीय हॉकी टीम के कोच हरेंद्र सिंह से खास बातचीत
हरेंद्र ने वर्ल्‍डकप विजेता जूनियर टीम के सात खिलाड़ियों को मौजूदा टीम में रखा है जबकि कप्तान मनप्रीत सिंह, पीआर श्रीजेश, आकाशदीप सिंह और बीरेंद्र लाकड़ा भी टीम में हैं. ड्रैग फ्लिकर रूपिंदर पाल सिंह को टीम से बाहर किया गया जबकि स्ट्राइकर एसवी सुनील फिटनेस कारणों से बाहर हैं. भारतीय टीम का पूल सी के अंतर्गत बेल्जियम से सामना दो दिसंबर को और कनाडा से आठ दिसंबर को होगा. हर पूल से शीर्ष टीम क्वार्टर फाइनल में खेलेगी जबकि दूसरे और तीसरे स्थान की टीमें क्रासओवर खेलकर अंतिम आठ में जगह बनाएंगी. (इनपुट: एजेंसी)
Source Article

- Advertisement -