Exclusive: IAS बी चंद्रकला ने CBI के छापे से 9 दिन पहले खरीदी थी प्रॉपर्टी, नए रिटर्न में कई संपत्तियां ‘गायब’

2
- Advertisement -

आईएएस बी चंद्रकला((IAS B Chandrakala)की फाइल फोटो.

नई दिल्ली:

आईएएस बी चंद्रकला (IAS B Chandrakala) के घर जिस दिन खनन घोटाले (Mining Scam in UP) के मामले में सीबीआई ( CBI) का छापा पड़ा, उससे महज नौ दिन पहले ही तेलंगाना में उन्होंने एक प्रॉपर्टी खरीदी थी. यह प्रॉपर्टी एक आवासीय प्लॉट के रूप में है. 107 नंबर का यह प्लॉट तेलंगाना के मलकाजगिरी जिले के ईस्ट कल्याणपुरी में उन्होंने खरीदा. 27 दिसंबर 2018 को ही इस प्लॉट की चंद्रकला ने रजिस्ट्री कराई थी. खास बात है कि 22.50 लाख रुपये के इस प्लॉट को उन्होंने बिना किसी बैंक लोन के खरीदा. छापे से तीन दिन पहले ही चंद्रकला की ओर से एक जनवरी 2019 को आईपीआर (Immovable Property Return) दाखिल किया गया था. वर्ष 2018 की संपत्तियों के ब्योरे के लिए भरे इस रिटर्न में उन्होंने अपनी कुल सैलरी 91,400 रुपये महीना बताई. हालांकि एक चौंकाने वाली बात रही कि दो जनवरी 2019 को भरे इस रिटर्न में आईएएस बी चंद्रकला (IAS B Chandrakala) ने अपने पास सिर्फ इसी प्रॉपर्टी की जानकारी दी है. उसके पूर्व के वर्षों में भरे रिटर्न में उन्होंने जिन संपत्तियों की सूचना दी थी, उसके बार में नए रिटर्न में कोई सूचना नहीं है. सवाल उठता है कि क्या चंद्रकला (IAS Chandrakala) ने पूर्व की सारी प्रॉपर्टियां बेच दीं, या फिर किन वजहों से उन्होंने नए रिटर्न में उसकी सूचना नहीं दी. एक ब्यूरोक्रेट ने एनडीटीवी को बताया कि हर साल के रिटर्न में उन सभी संपत्तियों की जानकारी देनी होती है, जो संबंधित अफसर और परिवार के पास होती हैं, भले ही इसकी सूचना आप पूर्व में दे चुके हों.

यह भी पढ़ें- CBI को खनन विभाग के बाबू के घर से मिले दो करोड़ , चंद्रकला के DM रहते हमीरपुर में थी तैनाती

- Advertisement -

सपा की अखिलेश यादव सरकार में 2012 से 2016 के बीच हमीरपुर, बुलंदशहर, मेरठ सहित पांच प्रमुख जिलों में डीएम रहने के बाद बी चंद्रकला 2017 में प्रतिनियुक्ति पर दिल्ली चली आई थीं. कुछ समय यहां काम करने के बाद फिर वह पिछले साल 2018 में यूपी लौटीं और माध्यमिक शिक्षा विभाग में विशेष सचिव का चार्ज लेने के बाद ही वह स्टडी लीव (शैक्षिक अवकाश) पर चली गईं. हमीरपुर में डीएम रहते चंद्रकला पर सपा एमएलसी रमेश मिश्रा सहित कुल 10 लोगों के साथ मिलकर अवैध खनन का आरोप है. इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर जांच में जुटी सीबीआई ने शनिवार (5 जनवरी) को उनके अलावा अन्य आरोपियों के ठिकानों पर छापेमारी की. दो जनवरी 2019 को उनके खिलाफ सीबीआई के डिप्टी एसपी केपी शर्मा ने खनन मामले में केस दर्ज किया है.

rrdi2q7IAS बी चंद्रकला की 2 जनवरी, 2019 को भरे IPR में प्लॉट खरीदने की जानकारी.

यह भी पढ़ें- खनन घोटाले में अखिलेश यादव से हो सकती है पूछताछ, CBI ने IAS बी चंद्रकला सहित 11 पर दर्ज किए हैं केस

बी चंद्रकला( B Chandrakala IAS) की कैसे बढ़ी संपत्ति
नौकरी की शुरुआत में शून्यः बी चंद्रकला 2008 बैच की आईएएस हैं. ट्रेनिंग के बाद 2010-11 में वह इलाहाबाद में एसडीएम रहीं. आईएएस, आईपीएस आदि अफसरों को हर साल का आईपीआर नियुक्ति एवं कार्मिक विभाग को वर्ष बीतने के बाद जनवरी के पहले हफ्ते तक उपलब्ध कराना होता है. वर्ष 2010 का रिटर्न उन्होंने जनवरी 2011 में दाखिल किया. रिटर्न में उन्होंने उस वक्त एक भी रुपये की संपत्ति नहीं दिखाई. फिर वर्ष 2011 का रिटर्न उन्होंने 2012 में दाखिल किया. उस वक्त उन्होंने आंध्र प्रदेश के रंगारेड्डी नगरपालिका में 10 लाख रुपये कीमत के आवासीय प्लॉट होने की जानकारी दी. रंगारेड्डी जिला अब तेलंगाना का हिस्सा है. उन्होंने बताया कि यह प्लॉट उनके पति ए. रामुलू के नाम है, जिसे उन्होंने बचत के पैसे से खरीदा है.

ml77mc72010-11 में IAS चंद्रकला ने अपने पास शून्य प्रॉपर्टी दिखाई थी.

2012 में कितनी संपत्ति
वर्ष 2012 में कितनी संपत्ति उन्होंने अर्जित की, इसका रिटर्न उन्होंने 2013 में दाखिल किया. यह पहली बार था, जब चंद्रकला ने अपने नाम एक प्रॉपर्टी दिखाई. उन्होंने आंध्र प्रदेश के अन्नपूर्णानगर में 267 Square Yards के प्लॉट पर 30 लाख कीमत का घर होने की जानकारी दी. यह प्लॉट/घर उन्होंने मंजुला नामक महिला से खरीदने की जानकारी दी. इससे रेंट के रूप में डेढ़ लाख रुपये सालाना कमाई का दावा किया. मकान खरीदने में इस्तेमाल धनराशि के सोर्स के बाबत बताया कि उन्होंने 23.50 लाख रुपये बैंक से लोन लिए, ढाई लाख पर्सनल सेविंग और चार लाख रुपये प्राइवेट लोन लेकर इसे खरीदा. उन्होंने एसबीएच से 23.50 लाख रुपये लोन की बात कही.

2013 में 48 लाख के फ्लैट को दिखाया गिफ्ट
बी चंद्रकला वर्ष 2013 में हमीरपुर की जिलाधिकारी (डीएम) थीं. उन्होंने 2013 की संपत्तियों का रिटर्न एक जनवरी 2014 को दाखिल किया. चंद्रकला की पूर्व की संपत्तियों में एक और संपत्ति जुड़ी. यह संपत्ति थी लखनऊ के सरोजि‍नी नायडू मार्ग पर फ्लैट की. उन्होंने बताया कि बेटी कीर्ति चंद्रा के नाना-नानी ने 2012 में 48 लाख रुपये का फ्लैट खरीदकर गिफ्ट दिया, जिसकी कीमत उस वक्त (रिटर्न) के वक्त 55 लाख है. रिटर्न में चंद्रकला ने आंध्र प्रदेश के अन्नपूर्णानगर में 30 लाख रुपये का अपने नाम घर दिखाया. इस मकान को उन्‍होंने 2012 के रिटर्न में भी दिखाया था. इस रिटर्न में उन्होंने पति के नाम का वह पुराना प्लॉट भी दिखाया जो दस लाख कीमत का और बचत की धनराशि से खरीदा गया. इसके अलावा उन्होंने एक नई प्रॉपर्टी की जानकारी दी. बताया कि आंध्र प्रदेश के करीमनगर में 2.37 एकड़ खेती लायक जमीन को 2013 में उनके पति ने 4.39 लाख रुपये में खरीदी है. इस जमीन से उन्होंने एक लाख रुपये सलाना कमाई दिखाई है. हमीरपुर की डीएम थीं, उस वक्त चंद्रकला ने प्रजेंट पे के रूप में अपनी सैलरी 44998 रुपये दिखाई.

2014 की संपत्ति का नहीं दिया ब्योरा
वर्ष 2014 में चंद्रकला की कितनी संपत्ति हुई, इसका रिटर्न उन्हें जनवरी, 2015 तक उपलब्ध कराना था. मगर चंद्रकला ने संपत्ति का ब्योरा नहीं दिया. जिससे नियुक्ति एवं कार्मिक विभाग के Immovable Property Return सेक्शन के पास इसका ब्योरा उपलब्ध नहीं है.

2015 में कितनी संपत्ति
बी चंद्रकला ने वर्ष 2015 की संपत्तियों के बारे में एक जनवरी 2016 को भरे रिटर्न में जानकारी दी. जिसमें सरोजि‍नी नायडू मार्ग लखनऊ में 2012 में मिले 48 लाख रुपये के उस फ्लैट की फिर जानकारी दी, जिसे बेटी कीर्ति को नाना-नानी की तरफ से गिफ्ट दिखाया. उन्होंने एक जनवरी 2016 को इस फ्लैट की कीमत 67 लाख दिखाई है. इस फ्लैट से 50 हजार रुपये महीना और छह लाख रुपये सालाना की कमाई की जानकारी दी. फ्लैट खरीदने में इस्तेमाल धनराशि के सोर्स के रूप में कोई जानकारी नहीं थी. इस रिटर्न में उन्होंने अन्य पुरानी संपत्तियों का भी ब्योरा दिया. मसलन, पति रामुलू के नाम आंध्र प्रदेश में 10 लाख कीमत का एक आवासीय प्लॉट दिखाया, रिटर्न भरने तक जिसकी कीमत 20 लाख हो चुकी थी. पैसे के सोर्स के रूप में उन्होंने सैलरी से बचत और सोने के कुछ जेवरात बेचने के बाद यह प्लॉट खरीदे जाने की सूचना दी. दूसरी संपत्ति उन्होंने आंध्र प्रदेश के अन्नपूर्णानगर में दिखाई है.

6tt47ou8IAS बी चंद्रकला के 2016 में भरे IPR में देखिए 2015 की संपत्ति.

30 लाख रुपये का घर चंद्रकला के नाम है. जिसकी कीमत रिटर्न भरने के वक्त बाजार में 45 लाख थी. इस भवन से चंद्रकला को तीन लाख सालाना की आय होती है. इसे उन्होंने एसबीएच से पर्सनल लोन से खरीदा. इस रिटर्न में भी चंद्रकला ने सरोजि‍नी नायडू मार्ग पर 2012 में 48 लाख रुपये के फ्लैट का जिक्र किया है. जिसकी 2015 में उन्होंने 67 लाख कीमत दिखाई है. यह वही फ्लैट है, जिसे उन्होंने नाना-नानी से बेटी को मिलने का दावा किया है. इस बार के रिटर्न में चंद्रकला की संपत्ति की कड़ी में एक और प्रॉपर्टी जुड़ती है. यह प्रॉपर्टी है आंध्र प्रदेश के करीमनगर में खेती लायक जमीन की. चंद्रकला ने 2013 में 2.37 एकड़ जमीन को महज 4.39 लाख रुपये में खरीदने का दावा किया है. इस जमीन की कीमत उन्होंने 2015 में सात लाख दिखाई है. यह जमीन हालांकि उनके पति के नाम है. तीन लाख सालाना कमाई होती है. कहा है कि पति ने बचत की धनराशि से यह संपत्ति खरीदी.

टिप्पणियां

वीडियो- यूपीः खनन घोटाले में आईएएस चंद्रकला सहित कई लोगों के घर छापेमारी

Source Article