CM उद्धव ठाकरे के शपथ ग्रहण समारोह पर आया था इतने करोड़ का खर्च, RTI से हुआ खुलासा

0

उद्धव ठाकरे के शपथ ग्रहण में हुआ था इतने का खर्च

नई दिल्ली:

महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाले मंत्रिमंडल के शपथ ग्रहण समारोह पर 2.79 करोड़ रुपये का खर्च आया. सूचना का अधिकार (आरटीआई) कानून के तहत मांगी गयी जानकारी के जवाब से यह पता चला है. शिवसेना अध्यक्ष ठाकरे ने 28 नवंबर को मध्य मुंबई में शिवाजी पार्क मैदान में मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. शिवसेना, कांग्रेस और राकांपा से छह अन्य मंत्रियों ने भी उनके साथ शपथ ली थी. उस्मानाबाद के आरटीआई कार्यकर्ता निखिल चनभट्टी द्वारा मांगी गयी सूचना पर मिले जवाब के मुताबिक समारोह पर 2.79 करोड़ रुपये का खर्च आया. इसमें फूलों से सजावट पर तीन लाख रुपये लगे. पांच साल पहले देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व वाले मंत्रिमंडल के शपथ ग्रहण समारोह पर 98.37 लाख रुपये खर्च हुआ था. शहर के वानखेड़े स्टेडियम में शपथग्रहण समारोह हुआ था.चनभट्टी ने पिछले 10 साल में आयोजित विभिन्न सरकारी कार्यक्रमों ब्यौरा मांगा था.

Maharashtra Govt: ये है उद्धव ठाकरे का एक्‍शन प्‍लान, शपथ लेने के बाद सबसे पहले करेंगे ये 6 काम

बता दें कि उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने 28 नवंबर को महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली. मुंबई के शिवाजी पार्क (Shivaji Park) में आयोजित भव्य शपथ ग्रहण समारोह में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई थी. महाराष्‍ट्र (Maharashtra) में शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी (Shiv Sena-Congress-NCP) की 'महा विकास अघाड़ी' के नेता के रूप में उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. उद्धव ठाकरे के साथ-साथ तीनों पार्टियों के छह नेताओं ने भी कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली थी. इनमें शिवसेना के कोटे से एकनाथ शिंदे और सुभाष देसाई, NCP के कोटे से जयंत पाटिल और छगन भुजबल, कांग्रेस के कोटे से बालासाहेब थोराट और नितिन राउत शामिल थी.

बाल ठाकरे ने क्यों कहा था अगर BJP महाराष्ट्र की सत्ता से गई तो केंद्र में लूजर साबित होगी?

भव्य शपथ ग्रहण समारोह में NCP प्रमुख शरद पवार, पूर्व मुख्यमंत्री दवेंद्र फडणवीस, रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी और उनकी पत्नी नीता अंबानी, राज ठाकरे, NCP नेता सुप्रिया सुले, कांग्रेस के अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खड़गे, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन भी मौजूद थे. बता दें कि तीनों पार्टियों के गठबंधन को 'महाराष्ट्र विकास अघाड़ी' नाम दिया गया है. तीनों दलों के बीच कई दौर की बैठकों के बाद यह तय किया गया कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे होंगे और सिर्फ एक ही डिप्टी सीएम होगा वह भी NCP का. इसके अलावा कांग्रेस को स्पीकर का पद दिया जाएगा. हालांकि अभी तक डिप्टी सीएम और स्पीकर का नाम तय नहीं हो पाया है.

उद्धव सरकार का 'एक्शन प्लान' तैयार
इससे पहले 'महाराष्ट्र विकास अघाड़ी' (Maha Vikas Aghadi) का कॉमन मिनिमम प्रोग्राम (Common Minimum Program) भी सामने आ गया था. NCP प्रवक्ता नवाब मलिक, शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे और NCP नेता जयंत पाटील ने साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार के कॉमन मिनिमम प्रोग्राम की जानकारी दी थी. महाराष्ट्र में नई सरकार के कॉमन मिनिमम प्रोग्राम में किसान, रोजगार, धर्मनिरपेक्ष और विकास की बात की गई थी. शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे ने कहा था कि सरकार सभी जाति प्रांत के लोगों को साथ लेकर आगे चलेगी. किसी भी तरह का भेदभाव किसी के साथ नहीं किया जाएगा. शिवसेना नेता ने बताया कि बारिश पीड़ित किसानों को फौरन मदद दी जाएगी और किसानों का कर्ज तुरंत माफ किया जाएगा.

'अगर उद्धव ठाकरे आकर आपसे हाथ मिला लें तो?' कुछ ऐसा था राज ठाकरे का जवाब

एकनाथ शिंदे ने बताया था कि मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना की शुरुआत की जाएगी. एक रुपये में इलाज वाले क्लीनिक खोले जाएंगे. राज्य के हर शख्स का स्वास्थ्य बीमा होगा. युवाओं को बिना किसी ब्याज के एजुकेशन लोन मिलेगा और सरकार में खाली पदों को तुरंत भरा जाएगा. इसके अलावा राज्य में निवेश बढ़ाने की हर संभव कोशिश की जाएगी, आईटी में निवेश बढ़ाने के लिए नीतियों में भी सुधार किया जाएगा और झुग्गी में रहने वालों को 500 फीट जमीन मुफ्त मिलेगी.

टिप्पणियां

VIDEO: 'ठाकरे सरकार' के पोस्टरों से सजा हुआ है शिवाजी पार्क

Source Article