Chandra Grahan 2019: सूतक काल ने फिर तोड़ी विश्व प्रसिद्ध गंगा आरती की परम्परा, दिन में ऐसे हुई पूजा

1
- Advertisement -

सूतक काल ने फिर तोड़ी विश्व प्रसिद्ध गंगा आरती की परम्परा, 27वर्षो में तीसरी बार हुई दिन में गंगा आरती.

आज रात चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) का नजारा दिखाई देगा. यह आंशिक चंद्र ग्रहण (Partial Lunar Eclipse) होगा जिसे पूरे देश में देखा जा सकेगा. शास्‍त्रों के नियम के अनुसार चंद्र ग्रहण का सूतक ग्रहण से नौ घंटे पहले ही शुरू हो जाता है. तो इस हिसाब से सूतक 16 जुलाई को शाम 4 बजकर 31 मिनट से सूतक काल शुरू हो चुका है. सूतक काल ने एक बार फिर दशाश्वमेध घाट पर होने वाली विश्व प्रसिद्ध गंगा आरती की परम्परा तोड़ी है. 27 साल में तीसरी बार दिन में गंगा आरती हुई. दशाश्वमेध घाट पर गंगा सेवा निधी द्वारा आयोजित होने वाली सायंकालीन दैनिक मां गंगा आरती चन्द्र ग्रहण के कारण हुई प्रभावित 16 जुलाई को दोपहर 3:00 बजे प्रारम्भ होकर 4:00 बजे तक सम्पन्न करा दी गई.

Chandra Grahan 2019: हर राशि पर होता है चंद्रग्रहण का अलग असर, जानिए दुष्‍प्रभाव दूर करने के मंत्र

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार ग्रहण से पूर्व देवालयों के कपाट बंद होने की परंपरा है. जिसे देखते हुए दशाश्वमेध घाट पर होने वाली विश्व प्रसिद्ध दैनिक मां गंगा की आरती का भी समय हुआ परिवर्तित गंगा सेवा निधि के अध्यक्ष सुशांत मिश्र द्वारा बताया गया कि साल 1991 से शुरू हुई गंगा सेवा निधि द्वारा दैनिक मां गंगा आरती 27 सालों में तीसरी बार दिन में हुई.

- Advertisement -

Lunar Eclipse 2019: क्या चंद ग्रहण के दौरान भोजन करना होता है हानिकारक?

इसे पूर्व 27/07/2018 में दोपहर में हुई थी. वर्ष 2017 में 08/08/17 को दिन में दैनिक मां गंगा की आरती सम्पन्न कराई गई थी. तीन वर्षों में ये लगातार ये तीसरा मौका है जब ऐसा चंद्र ग्रहण के पहले सूतक काल लगने से पूर्व मां गंगा की आरती सम्पन्न कराई गई. संस्था की तरफ से हनुमान यादव, इंदु शेखर शर्मा, आशीष तिवारी, आदि उपस्थित थे.

Chandra Grahan 2019: चंद्र ग्रहण खत्म होने के बाद क्या करें?

चंद्र ग्रहण का समय
इस बार गुरु पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan) भी है. यह ग्रहण (Grahan) कुल 2 घंटे 59 मिनट का होगा. भारतीय समय के अनुसार चंद्र ग्रहण 16 जुलाई की रात 1 बजकर 31 मिनट पर शुरू होगा और 17 जुलाई की सुबह 4 बजकर 30 मिनट पर समाप्‍त हो जाएगा. इस दिन चंद्रमा पूरे देश में शाम 6 बजे से 7 बजकर 45 मिनट तक उदित हो जाएगा इसलिए देश भर में इसे देखा जा सकेगा.

Chandra Grahan 2019: चंद्र ग्रहण शुभ है या अशुभ, जानिए विज्ञान और धर्म की नजर से

किन देशों में दिखेगा चंद्र ग्रहण?
यह चंद्र ग्रहण पूरे भारत में दिखाई देगा. दुनिया भर में यह ग्रहण एशिया, यूरोप, ऑस्‍ट्रेलिया और दक्षिण अमेरिका के अधिकतर हिस्‍सों में दिखाई देगा.

टिप्पणियां

Chandra Grahan 2019: इस अनोखे खगोलीय घटना से जुड़ी हर बातें

भारत में कहां-कहां दिखाई देगा चंद्र ग्रहण?
यह चंद्र ग्रहण पूरे भारत में देखा जा सकता है. लेकिन देश के पूर्वी क्षेत्र में स्थित बिहार, असम, बंगाल और उड़ीस में ग्रहण की अवधि में ही चंद्र अस्‍त हो जाएगा.

Source Article