CBSE की 10वीं कक्षा के सिलेबस से समाज विज्ञान के पांच अध्याय हटाए गए, जानिये वजह…

1
- Advertisement -

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने इस शैक्षाणिक सत्र से 10वीं कक्षा के सिलेबस से समाज विज्ञान के पांच अध्यायों को हटाने का फैसला किया है. नए पाठ्यक्रम के मुताबिक, हटाए गए अध्यायों में तीन राजनीतिक अध्ययन और दो पर्यावरण पर हैं. ये अध्याय आंतरिक मूल्यांकन का हिस्सा होंगे, लेकिन बोर्ड की परीक्षा में इन्हें शामिल नहीं किया जाएगा. ये अध्याय हैं- शासन व्यवस्था के साथ ही राजनीतिक सुधार के समक्ष समस्याओं के संबंध में 'लोकतंत्र की चुनौती', सामाजिक विभेद की राजनीति पर 'लोकतंत्र और विविधता', नेपाल और बोलीविया समेत अन्य स्थानों में संघर्ष विषय पर 'राजनीतिक संघर्ष और आंदोलन.'

UP Board के स्टूडेंट्स 12वीं के बाद चुन सकते हैं ये करियर ऑप्शन, जानिए डिटेल में

- Advertisement -

दो अन्य अध्यायों में जैव विविधता, घटते वन, एशियाई चीता और अन्य लुप्तप्राय प्राणियों के बारे में 'वन और वन्य जीव' तथा जल संरक्षण विषय पर 'जल संसाधन' हैं. स्कूलों को भेजे गए सिलेबस के साथ लिखा गया है, 'अध्याय का मूल्यांकन समय-समय पर ली जानी वाली परीक्षाओं में होगा, लेकिन बोर्ड की परीक्षा में इसका मूल्यांकन नहीं होगा.'

CBSE ने सभी कक्षाओं के लिए कला विषय को किया अनिवार्य

टिप्पणियां

बोर्ड ने पिछले महीने स्कूलों को एक परिपत्र जारी कर कहा था कि वह अपने मूल्यांकन पैटर्न को भविष्य की जरूरतों के मुताबिक तैयार करना चाहता है, क्योंकि मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने 2021 में अंतरराष्ट्रीय छात्र मूल्यांकन कार्यक्रम (पीआईएसए) में हिस्सा लेने का फैसला किया है.

(इनपुट: भाषा)

Source Article