CBI ने कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी और मोजरबेयर के कई डायरेक्टरों के खिलाफ दर्ज किया मुकदमा

1
- Advertisement -

रतुल पुरी पर शिकंजा कसा

नई दिल्ली:

CBI ने 354 करोड़ रुपये के बैंक घोटाले मामले में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी और मोजरबेयर के तत्कालीन कार्यकारी निदेशक और अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. अधिकारियों ने रविवार को बताया कि सीबीआई ने रतुल पुरी के अलावा कंपनी और चार अन्य डायरेक्टरों के खिलाफ इस संबंध में मामला दर्ज किया है. उन्होंने बताया कि जांच एजेंसी ने कंपनी के ऑफिसों और आरोपी डायरेक्टरों के घर सहित छह जगहों पर छापे मारे है. जिन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है उनमें कंपनी मोजरबेयर, प्रबंध निदेशक दीपक पुरी, निदेशकों- नीता पुरी, संजय जैन और विनीत शर्मा शामिल है.

हिमाचल में आफत की बारिश: 18 की मौत, सोमवार को भी स्कूल-कॉलेज रहेंगे बंद

- Advertisement -

गौरतलब है कि पिछले महीने रतुल पुरी दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू मार्ग पर MTNL बिल्डिंग में ईडी दफ्तर पूछताछ के लिए पहुंचे थे. उन्हें ईडी ने वीवीआईपी हेलीकॉप्टर घोटाले में पूछताछ के लिए बुलाया था. उनसे कुछ देर पूछताछ चली लेकिन इसी बीच उन्हें अंदेशा हुआ कि ईडी की टीम गिरफ्तार कर लेगी. रतुल ने ईडी दफ्तर में जांच अधिकारी से टॉयलेट जाने की बात कही. वह टॉयलेट गए और फिर वहां से गायब हो गए. जब काफी देर तक जांच अधिकारी के पास रतुल नहीं पहुंचे तो ईडी की टीम ने बाथरूम और ईडी दफ्तर में उन्हें हर जगह खोजा लेकिन वे कहीं नहीं मिले. फिर ईडी की टीम रतुल के दिल्ली के घर और दफ्तर पहुचीं लेकिन वे वहां भी नहीं मिले.

क्या कांग्रेस छोड़ेंगे भूपेंद्र हुड्डा? कहा- भटक गई है पार्टी, कश्मीर पर मोदी सरकार के फैसले का किया समर्थन

टिप्पणियां

ईडी दफ्तर से शुरू हुआ यह हाइवोल्टेज ड्रामा यहीं खत्म नहीं हुआ Lr. ईडी की टीम रतुल की तलाश कर रही थी कि अगले दिन सुबह मीडिया में रतुल के गायब होने की खबर चलने लगी. उसके बाद ईडी ऑफिस से सफाई आई कि रतुल के भागने की बात गलत है. रतुल ईडी ऑफिस पूछताछ के लिए आए थे वे टॉयलेट गए और वहां से बिना बताए गायब हो गए. उनको दोबारा पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा. इस बयान के थोड़ी ही देर बाद रतुल पुरी ने दिल्ली के राउस एवेन्यू कोर्ट में अपनी अग्रिम जमानत के लिए अर्जी लगा दी. रतुल की तरफ से कोर्ट में दो जाने माने वकील अभिषेक मनु सिंघवी और विजय अग्रवाल पेश हुए. उन्होंने कहा रतुल पुरी अभी तक 22 बार ईडी के सामने पेश हुए हैं. उनको 23वीं बार बुलाया गया था. उन्हें यात्रा पर जाना था, लेकिन तब भी वे ईडी के सामने पेश हुए. उन्हें गिरफ्तारी का अंदेशा हुआ. वे लंच करने बाहर गए, लेकिन ED की तरफ से कहा गया कि वे भाग गए.

इनपुट- भाषा
Video: एमपी के सीएम कमलनाथ के भांजे पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने कसा शिकंजा

Source Article