CAA-NRC-NPR को लेकर लालू यादव का नीतीश कुमार पर हमला, ‘पलटूराम रंग बदलने में माहिर, जनता सब जानती है और…

1

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ RJD प्रमुख लालू यादव. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

बिहार की राजनीति नागरिकता कानून, NRC और NPR को लेकर गर्म है. राजद (RJD) और सत्ताधारी जनता दल यूनाईटेड (JDU) के बीच इन्हीं मुद्दों को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है. इस बीच RJD ने एक बार फिर जेडीयू अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है. बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने ट्वीट किया, 'समुचा देश CAA, NRC, NPR के ज्वाला में जल रहल बा बाकी नीतीश जी झुठों के जनता के बेवकूफ बनावे रहल बा. एक ओर सदन में एह बिल के समर्थन करता अउरू दूसर ओर बिल के लागू ना होखे के बात कहता. ई केकरा के मूर्ख बनावतारन. जनता सब जानत. ईन कर दूधारी तलवार के कुन्द करे के विचार जनता बना लेले बा.' यानी 'पूरा देश CAA,NRC,NPR की आग में जल रहा है और नीतीश जी जनता को बेवकूफ बना रहे हैं. एक तरफ सदन में वे इस बिल का समर्थन करते हैं और दूसरी तरफ कहते हैं कि राज्य में इसे लागू नहीं होने देंगे. जनता सब जानती है और इसका पता उन्हें जल्द चल जाएगा.'

मुँह में राम बगल में छुरी
मौका पाके गरीबन के काटतारन मुरी।
दोनों सदनों में नीतीश समर्थन कईलस अउरू बाहर में मुँहजवानी प्रवचन कर ता कि लागू ना होई। ई लोग जनता के अपन जैसा बुरबके समझले बा? ई काला कानून के खत्म करे खातिर राजद पार्टी सब कुछ न्योछावर करे के तैयार बा। https://t.co/9MGnzH6dmm

— Lalu Prasad Yadav (@laluprasadrjd) January 15, 2020

उधर, राबड़ी देवी के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए राजद प्रमुख लालू यादव ने ट्वीट किया, 'पलटूराम रंग बदलने में माहिर बाड़न. एक तरफ जनता के पीठ में छुरा भोके के काम करतारन ओही दुसर ओर गरीब के नागरिकता छिने खातिर सदन में समर्थन कईले बाड़न. जेकर बाप-दादा पढ़ल-लिखल नईखन अउरू ओकर बाप-दादा के नाम से कउनो जमीन जायदाद नईखे. एह बिल कारण उ एह देश के नागरिक ना मानल जाई. यानी, 'पलटूराम रंग बदलने में माहिर हैं. एक तरफ जनता की पीठ में छूरा भोंकने का काम कर रहे हैं और दूसरी ओर गरीबों की नागरिकता छीनने वाले बिल का सदन में समर्थन किया. '

हताश हो रहे हैं RJD के नेता, पार्टी के क्रियाकलापों से नाखुश रघुवंश प्रसाद ने लालू यादव को लिखी चिट्ठी
इससे पहले राजद नेता तेजस्वी यादव ने भी नीतीश कुमार पर हमला बोला था. बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू पर भाजपा के साथ 'सौदेबाजी' करने का आरोप लगाया था और कहा कि इसलिए उसने संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) का संसद में समर्थन किया. तेजस्वी ने मुख्यमंत्री के इस आश्वासन पर भी नाराजगी व्यक्त की, जिसमें उन्होंने कहा है कि सीएए, एनपीआर पर विपक्ष द्वारा जो चिंता व्यक्त की गई है, उस पर सदन के अगले सत्र में चर्चा की जाएगी.

RJD नेता तेजस्वी यादव ने कहा- आरक्षण 10 वर्षों के लिए ही नहीं, स्थायी किया जाए

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री इस उद्देश्य के लिए विशेष दिन का सत्र बढ़ा सकते थे. ऐसा लगता है कि वह अपनी सुविधा के लिए माहौल के ठंडा होने की उम्मीद कर रहे हैं. तेजस्वी ने कहा कि मुख्यमंत्री पर भरोसा नहीं किया जा सकता है और उनकी कथनी एवं करनी में भारी अंतर है, जिसे बिहार की जनता समझ चुकी है.

टिप्पणियांSource Article