Bollywood एक्ट्रेस ईशा शरवानी के साथ ठगी करने वाले 3 आरोपियों को पुलिस ने दबोचा

6
- Advertisement -

फ़िल्म अभिनेत्री और NRI ईशा शरवानी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली :

जानी मानी फ़िल्म अभिनेत्री और NRI ईशा शरवानी (Isha Sharvani) के साथ ऑस्ट्रेलिया में इनकम टैक्स अफसर बनकर फोन कर ठगी करने के आरोप में 3 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस के मुताबिक ये गैंग 100 से ज्यादा ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों के साथ ठगी कर चुका है. साइबर क्राइम यूनिट के डीसीपी अनिमेष रॉय के मुताबिक कुछ दिन पहले अभिनेत्री ईशा शरवानी ने शिकायत दी थी और बताया था कि वो ऑस्ट्रेलिया के पर्थ में रहतीं हैं. उन्हें कोई ऑस्ट्रेलियन टैक्स अफसर बनकर लगातार फोन कर रहा है. फोन करने वाले का नम्बर कैनबेरा का है जो ऑस्ट्रेलिया की राजधानी है. कॉल करने वाला कह रहा था कि उन्होंने टैक्स रिटर्न में कुछ गड़बड़ी की है इसलिए आस्ट्रेलियन सरकार ने उनका अरेस्ट वारंट जारी कर दिया है.

दुबई में नौकरी के नाम पर 30 लगों से लाखों की ठगी, पैसे लेकर भेजा तो वहां हुआ ऐसा

- Advertisement -

इसके बाद फोन करने वाले ने ईशा (Isha Sharvani) के सीए का फोन नम्बर और डिटेल्स लिए और फिर ईशा को दूसरा फोन आया जो नम्बर उनके सीए के ऑफिस का था. फोन करने वाले ने कहा कि टैक्स भरने में कुछ गड़बड़ी हो गयी है. अब उसका पूरा पैसा जो करीब 5700 ऑस्ट्रेलियाई डॉलर हैं, वापस कर दिया जाएगा क्योंकि इसमें ईशा की कोई गलती नहीं है. लेकिन इसके इनकम टैक्स अफसर को पैसा ट्रांसफर करना होगा. वेस्टर्न यूनियन के जरिये 3500 ऑस्ट्रेलियाई डॉलर जबकि आरआईए मनी ट्रांसफर के जरिये 2500 ऑस्ट्रेलियाई डॉलर ट्रांसफर किये गए. इसके बाद ईशा को पता चला कि उनके साथ ठगी हुई है. जांच में पता चला कि भानुज बेरी नाम का एक शख्स है जो वेस्टर्न यूनियन में रजिस्टर्ड एजेंट है. शुरुआत में उसने कुछ दस्तावेज दिखाकर पुलिस से बचने की कोशिश की लेकिन बाद में उसने पूरे गोरखधन्धे के बारे में और अपने साथियों के बारे में बताया.

टिप्पणियां

आदित्य ठाकरे के नाम पर ठगी करने वाला गिरफ्तार, इस तरह ऐंठता था रुपये

उसके बाद पुनीत चड्डा और ऋषभ खन्ना को भी गिरफ्तार कर लिया गया, जो दिल्ली से भागने की फिराक में थे. सभी आरोपी दिल्ली के रहने वाले हैं. पुलिस के मुताबिक आरोपी पुनीत चड्डा ने बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन से मास्टर डिग्री ली है. भानुज बेरी ने बीकॉम किया है जबकि ऋषभ खन्ना बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन से स्नातक है. आरोपियों ने बताया कि उन्होंने दिल्ली के विकासपुरी इलाके में एक फ़र्ज़ी कॉल सेंटर खोल रखा था. उसी कॉल सेंटर से ये लोग वीओआईपी कॉल और नम्बर स्पूफ़िंग सॉफ्टवेयर के जरिये ऑस्ट्रेलिया के नागरिकों को कॉल करते थे. जिसमें कॉल रिसीव करने वाले को नम्बर ऑस्ट्रेलिया का ही दिखता था. इस तरह ये खुद को ऑस्ट्रेलियाई टैक्स अफसर बताकर बात करते थे और उनसे ठगी करते थे. आरोपियों ने बताया कि पिछले 8 महीनों में वो 100 से ज्यादा ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों से करोड़ों रुपये की ठगी कर चुके हैं.

Source Article