12 तस्वीरों में देखिए दंतेवाड़ा में हुए नक्सली हमले की पूरी दास्तां, यूं छुपकर रिपोर्टर और कैमरामैन ने बचाई जान

2
- Advertisement -

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सलियों से मुठभेड़ के दौरान फंसे डीडी न्यूज कर्मी मोरमुकुट शर्मा ने लीं कई तस्वीरें.

नई दिल्ली: छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में मंगलवार(30 अक्टूबर) को हुए नक्सली हमले में एक मीडियाकर्मी समेत दो जवानों की मौत हो गई थी. इस हमले के दौरान डीडी न्यूज के रिपोर्टर सहायक कैमरामैन मोरमुकुट शर्मा की जान बाल-बाल मच गई थी. मोरमुकुट शर्मा का हमले के दौरान बनाया एक वीडियो पहले ही वायरल हो चुका है, अब उन्होंने एनडीटीवी को कुछ तस्वीरें दीं हैं. जिसमें उस दौरान हमले के दौरान उन्होंने अपने साथी रिपोर्टर के साथ खींची थी. इन तस्वीरों में साफ देखा जा सकता है कि कैसे हमले के दौरान मीडियाकर्मियों के चेहरे पर मौत का खौफ पसरा हुआ है और कैसे साथ मौजूद सुरक्षाकर्मी राइफल लेकर नक्सलियों की गोली की जवाब देने के लिए तैयार हैं. कैसे नक्सल बेल्ट में नई सड़क बनी है और कैसे नक्सलियों ने पेड़ों पर पर्चे लगाकर पुलिस को संदेश भेजा है. इस हमले में कैमरामैन अच्युतानंदन साहू की मौत हो गई थी. जबकि उनके सहयोगी मोरमुकुट शर्मा की ओर से रिकॉर्ड किया गया एक वीडियो चर्चाओं में बना हुआ है. दरअसल, इस वायरल वीडियो में घायल कैमरामैन शर्मा अपनी मां से कहते हैं कि मम्मी अगर मैं जीवित बचा तो गनीमत है. मम्मी मैं तुझे बहुत प्यार करता हूं. हो सकता है इस हमले में मैं मारा जाऊं. परिस्थिति सही नहीं है. पता नहीं क्यों? मौत को सामने देखते हुए डर नहीं लग रहा है. बचना मुश्किल है यहां पर..लगभग डेढ़ मिनट के इस वीडियो में डीडी न्यूज़ के लाइट असिस्टेंट मोर मुकुट शर्मा ने नक्सलियों के रूप में मौत को सामने से देखते हुए भी कैमरा चालू रखा, जब चारों तरफ गोलियां बरस रही थीं. देखिए मोरमुकुट शर्मा की उस दौरान लीं गईं तस्वीरें bgplujo
पहली तस्वीर- इसमें डीडी न्यूज़ के पत्रकार मोर मुकुट शर्मा सेल्फी ले रहे हैं जिसमें उनके पीछे रिपोर्टर धीरज कुमार और कुछ समय बाद नक्सली हमले में जान गंवाने वाले कैमरामैन अच्युतानंद साहू चलते दिखाई दे रहे हैं और उनके पीछे सुरक्षा बल हैं. 4h3q2q3दूसरी और तीसरी तस्वीर- यह तस्वीरें हमले से सिर्फ 10 मिनट पहले की हैं. इन तस्वीरों में कैमरा पर्सन अचुयुतानंद साहू शूट कर रहे हैं और रिपोर्टर धीरज कुमार स्थानीय लोगों से बात कर रहे हैं और पूछ रहे हैं कि यहां विकास की क्या स्थिति है. जिस जगह पर खड़े होकर यह बात कर रहे हैं यह वह जगह है जहां से कच्ची सड़क शुरू हुई और सुरक्षाबलों ने बोलेरो गाड़ी छोड़ बाइक के ज़रिए सफ़र की बात कही. 083p3hc8
चौथी तस्वीर- इसमें पत्रकार मोर मुकुट शर्मा बाइक पर बैठकर सेल्फी ले रहे हैं. तस्वीर में दिखाई दे रहा है कि सुरक्षा बल बाइक चला रहे हैं और मोर मुकुट पीछे बैठे हुए हैं. doji5m4g
5वीं तस्वीर- इस तस्वीर में उस अंडर कंस्ट्रक्शन सड़क की हालत दिखाई दे रही है जिस पर बाइक पर सवार होकर पत्रकारों की टीम और सुरक्षा बल जा रहे थे और नक्सलियों ने हमला किया
. alkmrfn
छठवीं तस्वीर- इस तस्वीर में एक बाइक पर सुरक्षा बल का जवान दिखाई दे रहा है और पीछे लाल शर्ट में कैमरा पर्सन अच्युतानंद साहू बैठे हुए हैं हालांकि उनका चेहरा नहीं दिखाई दे रहा है. इसी तस्वीर में एक जवान सड़क किनारे पड़े एक कागज को उठाता दिखाई दे रहा है यह कागज दर्शन रास्ते में कई जगह लगाए गए थे. जिसके जरिए नक्सली अपना संदेश दे रहे थे. sg2ic85o
7वीं तस्वीर- रास्ते में जगह-जगह पेड़ों पर छोटे-छोटे पोस्टर लगाकर इस तरह नक्सली अपना संदेश दे रहे थे u579gau
8 वीं तस्वीर- हमले से 2 मिनट पहले सुरक्षा बल का जवान नक्सलियों का संदेश कागज पर लिखा हुआ दिखा रहा है. इसमें लिखा हुआ है.'गांव पर पुलिस हमले, जनता पर फर्जी फर्जी मुठभेड़, महिलाओं पर अत्याचार बंद करेंः भाकपा माओवादी
दरभा डिवीजन कमेटी' meaa19s8
9 वीं तस्वीर- इस समय नक्सलियों का हमला चल रहा है और पत्रकार मोर मुकुट शर्मा अपने से 10 मीटर की दूरी पर लेटकर छिपे हुए रिपोर्टर धीरज कुमार की फोटो ले रहे हैं. हमले के दौरान किस तरह सड़क किनारे ढलान पर पेड़ और पत्तों की आड़ लेकर पत्रकार मोर मुकुट शर्मा और रिपोर्टर धीरज कुमार छुपे हुए हैं
टिप्पणियां . vujt6fio
10 वीं तस्वीर- इस तस्वीर में हमले के दौरान पत्रकार मोर मुकुट शर्मा को जब इस बात का एहसास हुआ कि यह उनके जीवन का अंतिम दिन है और मौत कभी भी आ सकती है तो उन्होंने अपनी मां को अंतिम सलाम किया इस तस्वीर में पीछे रिपोर्टर धीरज कुमार दिख रहे हैं. mpuvuqg
11 वीं तस्वीर- हमले के दौरान कुछ ही दूरी पर सुरक्षा बल का एक जवान पोजिशन लिए हुए था उसकी कोशिश थी कि सड़क के दूसरी तरफ से अगर नक्सली इस तरफ आए तो वह हमला करे. सेल्फी मोड में ली गई इस तस्वीर में मोर मुकुट शर्मा दिख रहे हैं और उनके ठीक पीछे सुरक्षा बल के जवान की पोजिशन दिख रही है लेकिन ये हमले के ठीक बाद कि फ़ोटो है. tjglk7lg
12 वीं तस्वीर-हमले के बाद जब सुरक्षाबलों ने हालात काबू में कर लिए लेकिन उनकी कार्रवाई अभी कुछ बाकी थी तब जिस जगह पर डीडी न्यूज के पत्रकारों की टीम छिपी हुई थी वहीं पर दोनों ने एक फोटो खिंचवाई और हमले में जान बचने पर भगवान का शुक्रिया अदा किया.
Source Article

- Advertisement -