हिंदू महासभा ने मनाया गोडसे का जन्मदिन, तस्वीर की पूजा कर बांटी मिठाईयां, राष्ट्रपति से की राजघाट हटाने की मांग

1
- Advertisement -

आरोपियों के खिलाफ संबंधित धाराओं में मामला दर्ज कर लिया गया है.

नई दिल्ली:

सूरत में लिम्बायत इलाके के सूर्यमुखी हनुमान मंदिर में रविवार को महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के हत्यारे नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) का जन्मदिन मनाने के लिए हिंदू महासभा के छह कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया. इन लोगों ने मंदिर में गोडसे की तस्वीर के सामने दिए जलाए और मिठाइयां बांटी. इतना ही नहीं हिंदू महासभा के लोगों ने राष्ट्रपति को चिट्ठी लिखकर राजघाट (Rajghat) में महात्मा गांधी की समाधि को हटाने की मांग भी की है. इस घटना की जानकारी होते ही सोमवार को 6 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. सूरत पुलिस आयुक्त सतीश शर्मा ने कहा, ‘‘गोडसे के जन्मदिन के समारोह के दौरान इन हिंदू महासभा के सदस्यों ने मंदिर परिसर में गोडसे की तस्वीर के पास दिये जलाए, मिठाइयां बांटी और भजन गाए. यहां तक कि उन्होंने कार्यक्रम की वीडियो बनाई और तस्वीरें ली.''उन्होंने कहा, ‘‘गांधी जी की हत्या करने वाले गोडसे के जन्मदिन का जश्न मनाने की उनकी हरकत से नागरिकों की भावनाएं काफी आहत हुई. यह लोगों को भड़काने और शांतिपूर्ण माहौल को बिगाड़ने की कोशिश है.''

यह भी पढ़ें: कैलाश सत्यार्थी ने कहा- गोडसे ने गांधी के शरीर की हत्या की लेकिन प्रज्ञा ठाकुर ने तो उनकी आत्मा की हत्या कर दी

- Advertisement -

अधिकारियों ने बताया कि इन छह लोगों को आईपीसी की धारा 153, 153ए और 153बी के तहत गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने गिरफ्तार लोगों की पहचान हिरेन मशरू, वला भारवाड, वीराल माल्वी, हितेश सुनार, योगेश पटेल और मनीष कलाल के रूप में की है.

हिंदू महासभा के इस कृत्य की निंदा करते हुए सत्तारूढ़ बीजेपी के प्रवक्ता भरत पांड्या ने कहा कि गांधीजी की आलोचना करना ‘‘आसमान पर थूकने'' की तरह है. उन्होंने कहा कि अपरिपक्व लोगों ने ऐसे समारोह का आयोजन किया जिनके पास महात्मा गांधी की शिक्षाओं के प्रति कोई दूरदृष्टि नहीं है. बहरहाल, कांग्रेस ने इस मुद्दे को लेकर बीजेपी पर हमला किया.
गुजरात कांग्रेस के प्रवक्ता मनीष दोशी ने कहा, ‘बीजेपी को देश को बताना चाहिए कि क्या वे महात्मा गांधी की विचारधारा का प्रचार करते हैं या गोडसे की. चाहे अनंत कुमार हेगड़े हो या प्रज्ञा सिंह ठाकुर, बीजेपी नेता गोडसे की विचारधारा का प्रचार करने में व्यस्त हैं. यह गंभीर चिंता का विषय है.'' उन्होंने कहा कि सत्तारूढ़ पार्टी के ‘‘दोहरे रवैये'' का पर्दाफाश हो गया है.

यह भी पढ़ें: नाथूराम गोडसे पर अब बीजेपी सांसद का विवादित बयान, गोडसे और कसाब की तुलना राजीव गांधी से की

गुजरात के गृह मंत्री प्रदीप सिंह जड़ेजा ने कहा कि राज्य सरकार गोडसे के जन्मदिन के ऐसे समारोह को बर्दाश्त नहीं करेगी और दावा किया कि पुलिस को शीघ्र निर्देश देने से सभी छह महासभा सदस्यों को गिरफ्तार किया गया.

बताया जा रहा है ये अकेला मामला नहीं है जहां नाथूराम गोडसे के लिए इस तरह की श्रद्धा दिखाई गई हो. उत्तर प्रदेश के मेरठ में भी अखिल भारतीय हिंदू महासभा ने नाथूराम गोडसे का जन्मदिन मनाया. वहां यज्ञ किया गया और मिठाइयां बांटी गईं.

यह भी पढ़ें: राहुल गांधी ने नाथूराम गोडसे मामले पर किया ट्वीट, लिखा- मैं समझ गया, BJP और RSS…

टिप्पणियां

बता दें गोडसे का जन्म 19 मई 1910 को पुणे जिले के बारामती में हुआ था जो उस समय बंबई प्रेजीडेंसी का हिस्सा था. वह आरएसएस से बौद्धिक कार्यवाह के तौर जुड़ा और बाद में हिंदू महासभा से जुड़ गया. गोडसे ने 30 जनवरी 1948 को दिल्ली के बिड़ला भवन में महात्मा गांधी की गोली मारकर हत्या कर दी थी. (इनपुट-भाषा)

वीडियो- रवीश की रिपोर्ट: गांधी से नफ़रत है गोडसे से मोहब्बत की वजह?

Source Article