सीतामढ़ी में जैनुल अंसारी की हत्या का मामला, तेजस्वी ने उठाए सवाल, तो सरकार ने किया यह दावा

3
- Advertisement -

बिहार सरकार ने दावा किया है कि मामले में कुल 11 लोग गिरफ्तार किये गए हैं.

पटना: बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार सरकार पर पिछले महीने सीतामढ़ी में जैनुल अंसारी की हत्या के बाद ज़िंदा जलाने के आरोपियों को बचाने का आरोप लगाया. इसके बाद राज्य सरकार ने मंगलवार को दावा किया कि इस मामले में कुल 11 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है. राज्य के एडीजी (मुख्यालय) एसके सिंघल ने कहा कि अभी तक इस मामले में मुख्य आरोपी समेत ग्यारह लोगों को गिरफ़्तार किया गया है, लेकिन उन्होंने यह नहीं बताया कि इनकी गिरफ़्तारी कब हुई. इससे पूर्व मूर्ति विसर्जन के दौरान हुई हिंसा के संबंध में 28 लोगों को गिरफ़्तार किया गया था, जिसमें दोनों समुदाय के लोग थे. शुरू के कई हफ़्ते तक बिहार पुलिस ने राज्य सरकार को इस मामले में गुमराह करते हुए बताया था कि जैनुल की अाधी जली लाश तनाव के दौरान सीतामढ़ी में फेंक दी गई थी.
मॉब लिंचिंग : बिहार में बुजुर्ग को चौक पर जिंदा जलाया, बेटे को 75 किलोमीटर दूर दफनाना पड़ा शव
टिप्पणियां हालांकि बाद में कई ऐसी तस्वीरें आईं जिसमें यह साफ़ दिख रहा था कि जैनुल की हत्या कर उनकी लाश को घसीटकर चौराहे पर आग लगा दी गई. इसके बाद राज्य सरकार के सामने इस मामले में कार्रवाई करने के अलावा और कोई दूसरा विकल्प नहीं बचा था. हालांकि अभी भी इस बात पर सवाल उठ रहे हैं कि अगर इस मामले में गिरफ़्तारी हुई तो इसकी जानकारी विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव द्वारा इस मुद्दे को उठाने के बाद ही क्यों दी गई.
बिहार में बुजुर्ग को चौक पर जिंदा जलाया, पुलिस कार्रवाई के लिए कर रही छठ पूजा बीतने का इंतजार
Source Article

- Advertisement -