सिग्नेचर पुल विवादः बीजेपी सांसद ने छह धाराओं पर दर्ज कराया केस, केजरीवाल और अमानतुल्लाह को बनाया आरोपी

1
- Advertisement -

बीजेपी सांसद मनोज तिवारी की फाइल फोटो.

नई दिल्ली: टिप्पणियांदिल्ली के सिग्नेचर पुल के उद्घाटन समारोह में हुए विवाद के मामले में बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने छह धाराओ के तहत केस दर्ज कराया है. तहरीर में उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आप विधायक अमानतुल्लाह खान का नाम भी लिखाया है. उन्होंने आम आदमी पार्टी के नेताओं पर गैर इरादतन हत्या के प्रयास( धारा 308), 323(मारपीट), आपराधिक साजिश(120B), धमकी देने(506), गलत तरीके से रास्ता रोकना( 341) सहित कुल छह धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है. इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच कर रही है. उधर सिग्नेचर ब्रिज उद्घाटन समारोह के दौरान हुए हंगामे के मामले में आम आदमी पार्टी की ओर से भी एफआइआर दर्ज कराई गई थी. जिसमें बीजेपी सांसद मनोज तिवारी और पार्टी कार्यकर्ताओं का जिक्र है. इस मामले में दिल्ली पुलिस ने आईपीसी 506 और 34 के तहत दर्ज किया. इस मामले की क्राइम ब्रांच जांच कर रही है. इस घटना पर एक अन्य एफआइआर हुई है, वह बीजपी कार्यकर्ता वी एन झा ने दर्ज कराई है. जिसमें आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान और संजीव झा के नाम हैं. ये केस IPC 323, 341, 506, 34 के तहत दर्ज हुआ है. तीनो FIR नार्थ ईस्ट जिले से क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर हुई थीय तीनो मामले की जांच फिलहाल क्राइम ब्रांच कर रही है
क्या है सिग्नेचर पुल विवाद
दरअसल बीते दिनों दिल्ली के बहुप्रतीक्षित सिग्नेचर ब्रिज (Signature Bridge) का उद्घाटन समारोह आयोजित हुआ था. जिसमें केजरीवाल सरकार ने बीजेपी सांसद मनोज तिवारी को आमंत्रित नहीं किया था. फिर भी बीजेपी सांसद मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) उस समारोह में पहुंचे थे. इस प्रकरण में एक वीडियो सामने आया था, जिसमें आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान (Amanatullah Khan) सांसद मनोज तिवारी को स्टेज से नीचे धक्का देते हुए दिख रहे हैं. वहीं मनोज तिवारी का भी एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वह एक पुलिसकर्मी की कालर पकड़े हुए नजर आ रहे हैं. इस घटना के बाद बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने सिग्नेचर ब्रिज (Signature Bridge) के उद्घाटन से पहले अपने साथ आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा बदसलूकी करने का आरोप लगाया था. उन्होंने कहा था कि 'आप' के कार्यकर्ताओं ने उनके साथ गाली-गलौच और धक्का मुक्की की .हालांकि मनोज तिवारी के इस बयान के बाद 'आप' के नेता दीलीप पांड ने मनोज तिवारी के सभी आरोपों को निराधार बताते हुए कहा था कि बदसलूकी और धक्का मुक्की 'आप' के कार्यकर्ताओं ने नहीं बल्कि बीजेपी के लोगों ने किया है. जिसके बाद दोनों तरफ से एक दूसरे के खिलाफ केस दर्ज कराया गया है.
Source Article

- Advertisement -