शहीद इंस्पेक्टर की पत्नी ने कहा- पहले भी दो बार गोली से घायल हुए, लेकिन नहीं मिला न्याय, बहन बोलीं- अखलाक केस की जांच और पुलिस की साजिश बनी वजह

0
- Advertisement -

शहीद इंस्पेक्टर सुबोध सिंह का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया गया

नई दिल्ली: बुलंदशहर हिंसा में शहीद हुए पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की पत्नी ने कहा है कि उनके पति बेहद इमानदारी से काम करते और सारी जिम्मेदारी ऊपर ले लेते थे. ऐसी घटना उनके साथ पहली बार नहीं हुई है. इससे पहले भी उनको दो बार गोली मारी जा चुकी है. लेकिन किसी ने भी उनको न्याय नहीं दिया. अब न्याय तभी माना जाएगा जब हत्यारों को मारा जाएगा. सुबोध की बहन का कहना है कि वह अखलाख केस की जांच कर रहे थे इसीलिए उनको मारा गया है. यह पुलिस की ही साजिश है. उनको शहीद घोषित कर स्मारक बनना चाहिए. शहीद इंस्पेक्टर की बहन ने कहा, 'हमें पैसा नहीं चाहिए, मुख्यमंत्री हमेशा गाय…गाय कहते रहते हैं. सुबोध के बेटे ने कहा, 'मेरे पिता चाहते थे कि मैं अच्छा नागरिक बनूं, वह समाज में धर्म के नाम पर हिंसा के कभी नहीं चाहते थे. आज मेरे पिता ने हिंदू-मुस्लिम की लड़ाई में अपनी जान गंवा दी. कल किसके पिता अपनी जान गवाएंगे'. वहीं खुफिया विभाग के एडीजी एसपी शिरोधकर ने कहा है कि बुधवार शाम तक रिपोर्ट देने के लिए कहा है.

Wife of Policeman Subodh Singh: He worked with utter honesty & took all the responsibility on himself. This is not the first incident, he had bullet injury twice before. But now nobody is giving him justice. Justice will be done only if his killers are killed. #Bulandshaharpic.twitter.com/YaMQ1eR26m

— ANI UP (@ANINewsUP) December 4, 2018

बुलंदशहर हिंसा: पूर्व प्रधान बोले- हम तो मान गए थे पर बजरंग दल वालों ने बरसाए पत्थर, सुनियोजित लगती है घटना

Sister of Policeman Subodh Singh:My brother was investigating Akhlaq case&that is why he was killed,its a conspiracy by Police.He should be declared martyr and memorial should be built. We do not want money. CM only keeps saying cow cow cow. #Bulandshahrpic.twitter.com/ohILXKCj3w

— ANI UP (@ANINewsUP) December 4, 2018

आपको बता दें कि सोमवार को बुलंदशहर में गोकशी के शक में हुई हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और एक सुमित नाम के शख्स की गोली लगने से मौत हो गई थी. पुलिस इस मामले की जांच कर रही है कि इंस्पेक्टर और सुमित को गोली किसने मारी है. फिलहाल पुलिस ने इस मामले में 4 लोगों को गिरफ्तार किया है और 27 के खिलाफ नामजद और 50 अज्ञात पर मुकदमा दर्ज किया है.
टिप्पणियांबुलंदशहर हिंसा में 4 गिरफ्तार, मुख्य आरोपी योगेश राज फरार​
Source Article

- Advertisement -