वेदों से मिटेगा आतंकवाद, राष्ट्रपति को भी इसकी शपथ लेते देखने का सपना है: मोदी सरकार के मंत्री सत्यपाल सिंह

6
- Advertisement -

केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह

नई दिल्ली: मोदी सरकार के एक मंत्री का मानना है कि देश में आतंकवाद और अपराध जैसी समस्याओं का अंत सिर्फ और सिर्फ वेदों के जरिये ही हो सकता है. दरअसल, अपने कई विवादास्पद बयानों को लेकर मीडिया की सुर्खियों में रहने वाले केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह ने एक बार फिर एक अजीब बयान दिया है. केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय में राज्य मंत्री सत्यपाल सिंह का कहना है कि जितने भी अपराध, आतंकवाद, समस्याएं हैं, उन सबका निदान अगर कोई कर सकता है तो वो वेदों के विचार, ऋषि ज्ञान ही कर सकते हैं. केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री ने आर्य समाज के चार दिवसीय वैश्विक सम्मेलन में यह टिप्पणी की.
मोदी सरकार के इस मंत्री ने कहा- 'डार्विन गलत थे, किसी ने बंदर को इंसान बनते नहीं देखा'
दरअसल, गुरुवार को अंतर्राष्ट्रीय आचार्य महासम्मेलन 2018 के कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह ने कहा कि 'जितने भी अपराध, आतंकवाद, समस्याएं हैं, उन सबका निदान अगर कोई कर सकता है तो वो वेदों के विचार, ऋषि ज्ञान ही कर सकते हैं… अगर इस देश के गौरव को पुन: लौटाना है तो हमें पुन: वेदों की तरफ जाना पड़ेगा.'

Jitne bhi apradh, aatankwaad, samasyaein hain, un sabka nidaan agar koi kar sakta hai hai, to wo vedon ke vichaar, Rishi gyaan hi kar sakti hai…Agar iss desh ke gaurav ko punah lautana hai to hamein punah vedon ki taraf jaana padega: Union Minister Satya Pal Singh (25.10.2018) pic.twitter.com/rpALHRmFXA

— ANI (@ANI) October 26, 2018

उन्होंने आगे कहा कि 'जब अमेरिका के राष्ट्रपति, पद की शपथ लेते हैं, उनके एक हाथ में बाइबिल होती है और वो उसकी शपथ लेते हैं. मैं सपना देखता हूं जब इस देश के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, मंत्री अपने हाथों में वेद लेकर उससे अपने पद की शपथ लेंगे.' बता दें कि सत्यपाल मलिक इससे पहले भी अपने बयान को लेकर सुर्खियों में रह चुके हैं. इससे पहले उन्होंने डार्विन के सिद्धांत को गलत करार दिया था.
टिप्पणियांबंदर से मनुष्य के रूप में विकास के डार्विन के सिद्धांत पर मंत्री के बयान से वैज्ञानिक असहमत
इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने कहा कि चार दिवसीय सम्मेलन में गो कल्याण, किसान हत्या, पर्यावरण संकट और स्वास्थ्य जैसे मुद्दों पर चर्चा होगी. केंद्रीय मंत्री हर्ष वर्द्धन ने कहा कि वह आरएसएस और आर्यसमाज से बेहद करीब से जुड़े थे और इन्हीं की शिक्षाओं ने उन्हें जाति और उपजाति छोड़ने के लिए प्रेरित किया.
VIDEO: मिशन 2019 : क्या नई पहल कर पाएंगे सतपाल मलिक?
Source Article

- Advertisement -