विवेक तिवारी हत्‍याकांड: यूपी पुलिस के बाग़ी तेवर! आरोपी प्रशांत चौधरी की गिरफ्तारी के विरोध में पुलिसवालों ने बांधी काली पट्टी

14
- Advertisement -

विवेक तिवारी की हत्या के आरोप में सिपाही प्रशांत चौधरी की गिरफ़्तारी के बाद से यूपी पुलिस के बाग़ी तेवर

लखनऊ: एप्‍पल मैनेजर विवेक तिवारी की हत्या के आरोप में सिपाही प्रशांत चौधरी की गिरफ़्तारी के बाद से यूपी पुलिस बाग़ी तेवर में है. कभी प्रशांत के परिवार के लिए पैसे जुटाने की मुहिम चला रही है, तो कभी काली पट्टी बांधे कर प्रशांत चौधरी की गिरफ़्तारी का विरोध कर रही है. इतना ही नहीं पुलिस में विभाग में विद्रोह की भी धमकी दी जा रही है. सवाल इस बात का है कि जब सोशल मीडिया में इस तरह की मुहिम चलाई जा रही है तो क्या इसकी जानकारी पुलिस के आलाधिकारियों को नहीं है. यह भी अपने आप में हैरत भरा कि जब कांस्टेबलों पर लगे आरोप को सीएम योगी सहित यूपी पुलिस के आलाधिकारी भी मान रहे हैं तो फिर इस तरह की मुहिम चलाने के पीछे क्या पुलिस विभाग में अनुशासन की साफ धज्जियां नहीं उड़ रही हैं.
लखनऊ पुलिस की गोली से मरे विवेक तिवारी की बीवी को क्यों बना रहे 'विलेन' ?
लखनऊ के विवेक तिवारी हत्याकांड मामले में गुरुवार को चश्मदीद सना का मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज कराया जाएगा, जिस वक़्त पुलिसवाले ने विवेक तिवारी को गोली मारी थी, उस वक़्त सना गाड़ी में विवेक से साथ थीं. दोनों ऑफ़िस के एक कार्यक्रम से लौट रहे थे. उधर, मंगलवार को हत्या की जांच कर रही एसआईटी टीम ने मौका-ए-वारदात पर घटना की चश्मदीद गवाह और विवेक की साथी सना को बुलाकर कत्ल के सीन का रिकंस्क्ट्रक्शन किया. ताकि यह पता लगाया जा सके कि विवेक के कत्ल में सना सच बोल रही है या सिपाही सच बोल रहा है. इसके लिए विवेक की कार के मॉडल वाली कार और पुलिस की अपाची बाइक का इस्तेमाल किया गया. मौके पर कत्ल के आरोपी प्रशांत बने सिपाही से उसी अंदाज में गोली चलाने की भी एक्टिंग कराई गई.
विवेक तिवारी हत्याकांड: 3 दिन बाद रिक्रिएट किया गया क्राइम सीन, सना ने बताया क्या हुआ था उस रात
टिप्पणियां आपको बता दें कि योगी सरकार ने एप्पल कंपनी के कर्मचारी विवेक तिवारी के बच्चों की पढ़ाई के लिए सरकार ने 5-5 लाख रुपये की मदद का ऐलान किया है साथ ही मृतक की पत्नी के लिए सरकारी नौकरी, उनके रहने का इंतज़ाम, इस केस में कठोरतम कार्रवाई और हर संभव मदद का आश्वासन दिया. मृतक की पत्नी कल्पना तिवारी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी मिली. उनके साथ परिवार के कुछ और सदस्य भी मौजूद थे. इससे पहले डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा भी पीड़ित परिवार से मिलने उनके घर पहुंचे थे. वहां से मृतक के परिवार को सीएम से मिलवाने के लिए अपने साथ लेकर मुख्यमंत्री निवास आए. मुलाक़ात के बाद कल्पना ने कहा, 'मुख्यमंत्री ने मुझे हर संभव मदद का आश्वासन दिया है और मुझे योगी सरकार पर पूरा भरोसा है
VIDEO: लखनऊ में विवेक तिवारी मर्डर का पुलिस ने किया रीक्रिएशन
Source Article

- Advertisement -