लैंड डील: ED का मिला समन तो रॉबर्ट वाड्रा बोले- राजनीतिक विद्वेष के तहत मुझे निशाना बनाया जा रहा है, आखिर सत्य की होगी जीत

1
- Advertisement -

रॉबर्ट वाड्रा (फाइल तस्वीर)

नई दिल्ली: राजस्थान में एक भूमि सौदा मामले में प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी द्वारा समन जारी करने पर रॉबर्ट वाड्रा ने फेसबुक पर पोस्ट करके प्रतिक्रिया दी हैं. वाड्रा ने कहा कि राजनीतिक विद्वेष के तहत मुझे निशाना बनाकर मेरे सम्मान को ठेस पहुंचाने का सिलसिला जारी है. साथ ही उन्होंने कहा कि लेकिन मैं पहले की तरह लगातार सरकारी विभागों का सहयोग करता रहूंगा.
वाड्रा ने अपने फेसबुक अकाउंट पर लिखा है, 'राजनीतिक विद्वेष के तहत मुझे निशाना बनाकर मेरे सम्मान को ठेस पहुंचाने का सिलसिला जारी है. सरकारी विभागों को इस एजेंडा दे दिया गया है, लेकिन पिछले साढ़े चार साल से मैंने जिस तरह सरकारी विभागों के साथ सहयोग किया है, वैसे ही आगे भी करता रहूंगा. पिछली बार मुझसे कई कागज़ात लेने के मकसद से मुझे हाजिरी लगाने का आदेश दिया गया था. मेरे वकील तीन घंटे बैठे रहे और मांगे गए सभी कागज़ातों का एक बड़ा पुलिंदा उन्हें सौंप कर आए. लेकिन अब फिर से बुलावे का सिलसिला शुरू है. अजीब ये है कि मुझसे वही कागजात दोबारा मांगे जा रहे हैं, जिन्हें पिछले कई सालों में हमने सरकारी विभागों को उनकी मांग पर लगातार जमा कराए हैं. हद तो तब हो गई जब 24 घंटे के भीतर एजेंसी से दूसरा बुलावा आ गया, जबकि कागजातों के 600 पन्ने हमने एक दिन पहले ही जमा कराए थे. जाहिर है कागजातों को देखने की जरूरत तक नहीं समझी गई और मुझे फिर से बुला लिया गया.'
रॉबर्ट वाड्रा बोले- राजस्थान चुनाव से पहले मेरा नाम घसीटना ध्यान भटकाने के लिए भाजपा का 'प्लान B'
इसके साथ ही उन्होंने कहा, 'मेरे वकील को आज जयपुर में हाजिरी लगाने के लिए मजबूर किया गया है. (टाइमिंग को लेकर अचरज नहीं क्योंकि जयपुर और पूरे राजस्थान में दो दिन बाद ही मतदान होना है). सरकारी अमलों को अच्छी तरह पता है कि मुझ पर कोई मामला नहीं बनता है. साफ है कि ये मीडिया सर्कस, जनता का ध्यान चुनाव के असल मुद्दों से भटकाने के लिए किया जा रहा है. मेरे खिलाफ किए जा रहे तमाम प्रयास राजनीतिक दुर्भावना से प्रेरित और पूरी तरह से बिना तथ्यों के मामले हैं. मैं मानता हूं कि सत्य को पराजित नहीं किया जा सकता. मेरे मामले में भी सत्य की जीत होगी. सदैव, ऐसा ही होता आया है.'
लैंड डील मामले में सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा को प्रवर्तन निदेशालय ने हाजिर होने को कहा
बता दें, हालही में प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी ने रॉबर्ट वाड्रा को भूमि सौदा मामले में समन जारी कर पेश होने के लिए कहा है. साल 2017 में बीकानेर जमीन घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय रॉबर्ट वाड्रा के करीबियों के यहां छापेमारी कर चुका है. एनडीटीवी इंडिया को मिली जानकारी के मुताबिक़ ईडी ने फरीदाबाद में तीन जगहों पर छापेमारी की थी. जिन लोगों पर छापेमारी हुई है उनमें कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा के करीबी महेश नागर और अशोक कुमार भी शामिल हैं. दरअसल, बीकानेर में 270 बीघा जमीन 79 लाख में खरीदी गई और इसके बाद तीन साल में 5 करोड़ में बेच दी गई. इसी को लेकर ईडी ने यह छापेमारी की थी
टिप्पणियांरॉबर्ट वाड्रा के दोस्त की कंपनी को शामिल नहीं किया तो कांग्रेस राफेल डील रद्द करवाना चाहती है : BJP
सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ केस
Source Article

- Advertisement -