लालू यादव ने फिर साधा बीजेप पर निशाना और यूपी के मंत्री बोले- हिंदू मुस्लिम दंगों में नेता क्यों नहीं मरते? 5 बड़ी खबरें

1
- Advertisement -

लालू यादव ने बीजेपी पर किया हमला

नई दिल्ली:

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के प्रमुख लालू यादव (Lalu Yadav) ने एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर तीखा हमला बोलते हुए आम लोगों से एक अपील की है. लालू यादव (Lalu Yadav) ने एक ट्वीट कर आम लोगों से कहा है कि देश की जनता से विनम्र अपील है कि चुनावों का समय आ गया है, जिनकी राजनीति नफरत पर टिकी है वो लोग विभिन्न प्रकार के भय दिखा कर अथवा भ्रम व अफ़वाह फैलाकर आपके बच्चों तथा युवाओं को उनके प्राण की आहुति देने के लिए शब्दाडम्बरों के द्वारा उकसायेंगे. वहीं, लोकसभा चुनाव (Loksabha Election)के लिए उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी (BSP)औरसमाजवादी पार्टी (SP) के गठबंधन के बाद आरजेडी (RJD) नेतातेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) मायावती और अखिलेश से मुलाकात करने के लिए लखनऊ पहुंचे हैं. तेजस्वी ने रविवार को बसपा प्रमुख मायावती से मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने मायावती के पैर छूकर 'आशीर्वाद' लिया. इसके अलावा तेजस्वी नेसपा-बसपा गठबंधन (SP-BSP Alliance) पर अपनी खुशी जताई और कहा कि यूपी में बीजेपी अब एक भी सीट नहीं जीत पाएगी. इसके बाद तेजस्वी आज सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav)से लंच पर मुलाकात करेंगे. उधर, उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री ओपी राजभर (OP Rajbhar) ने इस बार हिंदू-मुसलमान दंगों पर बयान दिया है. उन्होंने नेताओं पर दंगे भड़काने का आरोप लगाते हुए कहा कि आज तक कोई भी नेता इनमें क्यों नहीं मरा. अगर कोई दंगा भड़काए तो उसे ही आग लगा दो. एक अन्य बड़ी खबर में, लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) के मद्देनजर उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) और बहुजन समाजपार्टी (Bahujan Samaj Party) के बीच हुए गठबंधन के बाद राजनीति तेज हो गई है. इस गठबंधन के सामने आने के बाद अब समाजवाजी पार्टी से अलग हुए वरिष्ठ नेता शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) ने राज्य में कांग्रेस के साथ मिलकर एक नया गठबंधन बनाने की इच्छा जताई है. उन्होंने कहा है कि अगर कांग्रेस चाहे तो वह उनके साथ गठबंधन के लिए तैयार हैं. वहीं, देश भर में कल मनाया जाएगा मकर संक्रांति का पर्व. देशभर में इसी दिन से खरमास (Kharmas) समाप्त हो जाएंगे और शुभ कार्यों की शुरुआत हो जाएगी. खरमास में मांगलिक कार्यों की मनाही होती है, लेकिन मकर संक्रांति (Makar Sankranti) से शादी और पूजा-पाठ जैसे कामों का शुभ मुहूर्त शुरू हो जाता है. इसी के साथ प्रयागराज में कुंभ भी मकर संक्रांति (Makar Sankranti) पर शुरू हो रहा है.

1.लालू यादव ने बीजेपी को लिया आड़े हाथों, लोगों से नफरत की राजनीति से दूर रहने को कहा

ijuhar28

- Advertisement -

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के प्रमुख लालू यादव (Lalu Yadav) ने एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर तीखा हमला बोलते हुए आम लोगों से एक अपील की है. लालू यादव (Lalu Yadav) ने एक ट्वीट कर आम लोगों से कहा है कि देश की जनता से विनम्र अपील है कि चुनावों का समय आ गया है, जिनकी राजनीति नफरत पर टिकी है वो लोग विभिन्न प्रकार के भय दिखा कर अथवा भ्रम व अफ़वाह फैलाकर आपके बच्चों तथा युवाओं को उनके प्राण की आहुति देने के लिए शब्दाडम्बरों के द्वारा उकसायेंगे. उन्होंने (Lalu Yadav) आगे कहा कि आपके बच्चे आपस में इंसानियत भूलकर गाय, गुड़-गोबर और पाखंड के नाम पर एक दूसरे को मर और मार जीवन बर्बाद कर रहे होंगे तथा उन ढोंगी जुमलेबाजों के बच्चे अच्छे स्कूल-कॉलेजों में पढ़ अपना भविष्य गढ़ रहे होंगे. उन्होंने (Lalu Yadav) कहा कि सभी माता-पिता से निवेदन है कि स्वयं तथा अपने बच्चों को ऐसे भ्रामक प्रचार और अफवाहबाज संघो से सतर्क और सावधान रखें. शुरुआत यूपी-बिहार से हो चुकी है.

2. तेजस्वी यादव ने पहले मायावती के पैर छूकर लिया आशीर्वाद, अब लंच पर अखिलेश से करेंगे मुलाकात

l1ofel9o

लोकसभा चुनाव (Loksabha Election)के लिए उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी (BSP)औरसमाजवादी पार्टी (SP) के गठबंधन के बाद आरजेडी (RJD) नेतातेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav)मायावती और अखिलेश से मुलाकात करने के लिए लखनऊ पहुंचे हैं. तेजस्वी ने रविवार को बसपा प्रमुख मायावती से मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने मायावती के पैर छूकर 'आशीर्वाद' लिया. इसके अलावा तेजस्वी नेसपा-बसपा गठबंधन (SP-BSP Alliance)पर अपनी खुशी जताई और कहा कि यूपी में बीजेपी अब एक भी सीट नहीं जीत पाएगी. इसके बाद तेजस्वी आज सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav)से लंच पर मुलाकात करेंगे. मायावती (Mayawati) से मुलाकात के बाद आरजेडी नेता तेजस्वी ने कहा, 'अब यूपी और बिहार से बीजेपी का सफाया होगा. यूपी में बीजेपी एक भी सीट नहीं जीत पाएगी. मायावती से हमें मार्गदर्शन मिले, हम यही चाहते हैं. इनसे हमें सीखने का मौका मिलता है. सपा-बसपा गठबंधन से लोगों में खुशी है. आज ऐसा माहौल है जहां वे बाबा साहेब के संविधान को मिटाना चाहते हैं और 'नागपुर के कानूनों' को लागू करना चाहते हैं. लोग मायावती जी और अखिलेश जी द्वारा उठाए गए कदम का स्वागत करते हैं. यूपी और बिहार में बीजेपी का सफाया हो जाएगा. वे यूपी में 1 सीट भी नहीं जीत पाएंगे, सभी सीटें सपा-बसपा गठबंधन को मिलेंगी.'

3.यूपी के मंत्री बोले- हिंदू मुस्लिम दंगों में नेता क्यों नहीं मरते? अब कोई भी नेता भड़काए तो उसे ही आग लगा दो

em5i3rpo

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में कैबिनेट मंत्रीओपी राजभर (OP Rajbhar) ने इस बार हिंदू-मुसलमान दंगों पर बयान दिया है. उन्होंने नेताओं पर दंगे भड़काने का आरोप लगाते हुए कहा कि आज तक कोई भी नेता इनमें क्यों नहीं मरा. अगर कोई दंगा भड़काए तो उसे ही आग लगा दो. राजभर की पार्टी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (Suheldev Bharatiya Samaj Party)भाजपा (Bharatiya Janata Party)का सहयोगी दल है. हालांकि, राजभर अपनी सहयोगी पार्टी भाजपा पर भी निशाना साधने से नहीं चूकते.ओपी राजभर ने कहा, 'हिंदू-मुसलमानों के दंगों में एक भी बड़ा नेता मरा क्या? नेता क्यों नहीं मरता? जो नेता तुम्हें हिंदू-मुसलमान के नाम पर लड़ाने जाता है, दंगा कराने जाता है, ऐसे नेता को भी आग लगा दो, ताकि वो समझ जाए कि हम दूसरे को नहीं जलाने देंगे.' इसके साथ ही उन्होंने कहा, 'ये हिंदू-मुसलमान में बांटते हैं. अरे बांटने वाले लोगों जरा सोचो भारत का संविधान कहता है कि जो भारत का वोटर हो गया वो भारत का नागरिक हो गया, आप उसको नहीं निकाल सकते.'

4.यूपी में सपा-बसपा गठबंधन के बाद शिवपाल यादव ने कांग्रेस को दिया यह ऑफर, कहा- मैं तैयार हूं

ia8nhpgo

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) के मद्देनजर उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) और बहुजन समाजपार्टी (Bahujan Samaj Party) के बीच हुए गठबंधन के बाद राजनीति तेज हो गई है. इस गठबंधन के सामने आने के बाद अब समाजवाजी पार्टी से अलग हुए वरिष्ठ नेता शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) ने राज्य में कांग्रेस के साथ मिलकर एक नया गठबंधन बनाने की इच्छा जताई है. उन्होंने कहा है कि अगर कांग्रेस चाहे तो वह उनके साथ गठबंधन के लिए तैयार हैं. उन्होंने रविवार को कहा कि हम कांग्रेस को लेकर पूरी तरह से तैयार हैं. बता दें कि शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) ने पिछले साल समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) से अलग अपनी एक अलग पार्टी बनाई थी. वहीं, सपा-बसपा गठबंधन के सामने आने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि मैं मायावती जी (Mayawati) और अखिलेश जी (Akhilesh Yadav) का सम्मान करता हूं. गठबंधन को लेकर उन्होंने जो फैसला लिया है मैं उसपर कुछ नहीं बोलना चाहता लेकिन इतना जरूरी है कि हमारी पार्टी यूपी में पूरी ताकत के साथ लोकसभा चुनाव में उतरेगी.

टिप्पणियां

5. Makar Sankranti 2019: क्यों मनाई जाती है मकर संक्रांति, जानिए शुभ मुहूर्त, महत्व, पूजा विधि और मंत्र

jiqscjag

मकर संक्रांति साल 2019 में 14 जनवरी नहीं बल्कि 15 जनवरी को मनाई जा रही है. (यहां जानिए क्यों इस बार मकर संक्रांति 15 जनवरी को है) देशभर में इसी दिन से खरमास (Kharmas) समाप्त हो जाएंगे और शुभ कार्यों की शुरुआत हो जाएगी. खरमास में मांगलिक कार्यों की मनाही होती है, लेकिन मकर संक्रांति (Makar Sankranti) से शादी और पूजा-पाठ जैसे कामों का शुभ मुहूर्त शुरू हो जाता है. इसी के साथ प्रयागराज में कुंभ भी मकर संक्रांति (Makar Sankranti) पर शुरू हो रहा है. इसी संक्रांति के दिन ही कुंभ मेले में भक्त त्रिवेणी संगम में स्नान करते हैं. मकर संक्रांति (Makar Sankranti 2019) को दक्षिण भारत में पोंगल (Pongal) के नाम से जाना जाता है. गुजरात और राजस्थान में इसे उत्तरायण (Uttarayan) कहा जाता है. गुजरात में मकर संक्रांति के दौरान खास पंतग कॉम्पिटिशन (2019 International Kite Festival) भी होता है. वहीं, हरियाण और पंजाब में मकर संक्रांति को माघी (Maghi) के नाम से पुकारा जाता है. इसी वजह से इसे साल की सबसे बड़ी संक्रांति (Sankranti) कहा गया है. क्योंकि यह पूरे भारत में मनाई जाती है. इसलिए यहां जानिए मकर संक्रांति (Makar Sankranti 2019) से जुड़ी खास बातें.

Source Article