लड़की समेत पूरे परिवार की हत्या करने वाला आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे

2
- Advertisement -

पुलिस के हत्थे चढ़ा आरोपी अभिषेक

नई दिल्ली: एक लड़की की हत्या को यूपी पुलिस जहां इज़्ज़त के लिए की गई हत्या बताकर उसके परिवार के अन्य लोगों की तलाश कर रही थी, उसी मामले में अब दिल्ली पुलिस ने एक बड़ा खुलासा किया है. दिल्ली पुलिस ने यूपी पुलिस की इस दलील को पूरी तरह से गलत बताया है. दिल्ली पुलिस के अनुसार हत्या सिर्फ लड़की की ही नहीं बल्कि उसके पूरे परिवार की हुई थी. पुलिस ने अब इस मामले में मुख्य आरोपी को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार आरोपी ने पुलिस की शुरुआती पूछताछ में बताया कि उसने लड़की और उसके परिवार के अन्य सदस्यों की हत्या सिर्फ लेन-देन को लेकर हुए एक विवाद में किया था. एडिशनल सीपी अजीत कुमार सिंगला के मुताबिक साल 2016 में यूपी के दौलाना थाना पुलिस को नहर में एक लड़की का कार समेत शव मिला था.
यह भी पढ़ें: बारहवीं की छात्रा से गैंगरेप, सभी आरोपी गिरफ्तार
लड़की की पहचान दिल्ली की रहने वाली नैना के रूप में की गई थी. उन्होंने बताया कि इसी मामले में जब यूपी पुलिस दिल्ली आई तो तो मृतक लड़की के परिवार के सभी लोग घर से नदारद मिला. जांच जल्दी पूरी करने की जल्दबाजी में यूपी पुलिस मान बैठी की मामला इज़्ज़त के लिए की गई हत्या का है और लड़की के पिता वेदप्रकाश, मां साधना और भाई शुभम को ही लड़की के कातिल हैं. इसके बाद यूपी पुलिस ने उन्हें फरार घोषित कर दिया. खास बात तो यह है कि यूपी पुलिस ने इस मामले में कोर्ट में चार्जशीट तक दाखिल कर दी है. लेकिन दिल्ली पुलिस ने आर्म्स एक्ट के एक मामले में अभिषेक नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया और उससे पूछताछ की तो उसने चौकाने वाले खुलासे किए. अभिषेक ने पुलिस पूछताछ में बताया कि नैना के अलावा उसके मां बाप और भाई की हत्या उसी ने की है.
यह भी पढ़ें: डीआरआई ने 48 घण्टे के अंदर पकड़ा 100 किलो सोना, सात आरोपी गिरफ्तार
क्राइम ब्रांच के मुताबिक नैना के पिता वेदप्रकाश की दिल्ली के मंजनू के टीले पर कपड़े की दुकान थी साथ ही वेदप्रकाश ब्याज पर पैसे देने का काम भी करता था,वेदप्रकाश की दुकान पर काम करने वाले रितेश ने अपने एक दोस्त अभिषेक को ब्याज पर 3 से 4 लाख रुपये वेदप्रकाश से दिलवाए थे, लेकिन अभिषेक वेदप्रकाश के पैसे नही लोटा पा रहा था. जब वेदप्रकाश ने पैसे लेने के लिए ज्यादा दबाब बनाया तो अभिषेक ने अपने कुछ क्रिमिनल साथियों के साथ मिल कर वेद प्रकाश की हत्या का प्लान बनाया, उसने किसी बहाने से पहले वेदप्रकाश को बुलाया और अपने साथियों के साथ मिलकर वेदप्रकाश का कत्ल कर दिया ,लेकिन आखरी बार वेदप्रकाश को अभिषेक के साथ जाते बेटे शुभम ने देख लिया था तब इन लोगो ने बेटे शुभम को भी रास्ते से हटाने की ठान ली.
यह भी पढ़ें: सात साल के बाद पुलिस के हत्थे चढ़ा 25 हजार का ईनामी बदमाश
बदकिस्मती से इस बार मां साधना ने बेटे शुभम को अभिषेक के साथ देख लिया तब इन्होंने बहाने से मां को बुलाया और फिर साधना का भी कत्ल कर दिया ,इसी बीच बेटी नैना ने भी क्योंकि उन्हें मां को ले जाते देख लिया था इसलिए इन्होंने उसे भी मार दिया और उसे कत्ल करके शव समेत कार गंग नहर में फेंक दी. हालांकि बाकी लोगों के शव भी इन्होंने वहीं ठिकाने लगाए लेकिन दौलाना पुलिस को केवल लड़की का शव मिला, इस हत्याकांड में 4 से 5 लोग शामिल थे.
टिप्पणियांVIDEO: भीमा कोरेगांव केस में सुनवाई.
जिसमें 2 की मौत हो चुकी है बाकी लोगों की तलाश जारी है, वहीं मृतक परिवार के रिश्तेदारों का कहना है कि यूपी पुलिस के उन अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए जिन्होंने गलत जांच की.
Source Article

- Advertisement -