राहुल द्रविड़ आधिकारिक तौर पर आईसीसी हॉल ऑफ फेम में हुए शामिल, लेकिन…

2
- Advertisement -

राहुल द्रविड़ को सम्मानित करते पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर

ऩई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ को वीरवार को आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम में औपचारिक रूप से शामिल कर लिया गया. एक बयान के अनुसार तिरुवनंतपुरम में भारत और वेस्टइंडीज के बीच पांचवें वनडे मैच से पहले पूर्व क्रिकेटर व आईसीसी हाल आफ फेम में पहले से शामिल सुनील गावस्कर ने द्रविड़ को कैप देकर उन्हें औपचारिक रूप से हॉल ऑफ फेम में शामिल किया. द्रविड़ को आस्ट्रेलिया के विश्व विजेता कप्तान रिकी पोंटिंग और इंग्लैंड की महिला क्रिकेट खिलाड़ी क्लेअर टेलर के साथ इसी साल जुलाई में आईसीसी की वार्षिक बैठक में हॉल ऑफ फेम में शामिल करने की घोषणा की गई थी.

Two legends – One frame#TeamIndiapic.twitter.com/QJykzBPDZL

— BCCI (@BCCI) November 1, 2018

उस समय द्रविड़ इंडिया-ए के साथ कोच के रूप में दौरे पर थे. इसलिए वह इसमें शामिल करने से जुड़े समारोह में हिस्सा नहीं ले पाए थे. द्रविड़ ने कहा कि अपने घरेलू प्रशंसकों के सामने आईसीसी हाल ऑफ फेम में शामिल होकर मैं काफी खुश और सम्मानित महसूस कर रहा हूं. यह अवार्ड मुझे संतुष्टि देता है कि मैंने भारतीय क्रिकेट की सफलता में योगदान दिया है.
यह भी पढ़ें: इस कारण बीसीसीआई ने बीफ को मेन्यू से हटाने को किया क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया से 'करार'
टिप्पणियां उन्होंने कहा कि मैं अपने सभी साथियों का शुक्रगुजार हूं जिन्होंने मेरे खेलने के दिनों में मेरी मदद की. साथ ही मैं अपने प्रशिक्षकों और अधिकारियों का भी शुक्रिया अदा करता हूं. मैंने इन सभी के साथ हर एक पल का लुत्फ उठाया है. साथ में मिलकर हमने न सिर्फ बड़े लक्ष्य तय किए बल्कि अधिकतर लक्ष्यों को हासिल भी किया. द्रविड़ आईसीसी हाल ऑफ फेम में शामिल होने वाले भारत के पांचवें क्रिकेट खिलाड़ी हैं. उनसे पहले बिशन सिंह बेदी, कपिल देव, सुनील गावस्कर और अनिल कुंबले इस सूची में जगह बना चुके हैं. द्रविड़ ने भारत के लिए 164 टेस्ट और 344 वनडे मैच खेले. उनके नाम दोनों प्रारूप में कुल 24,177 रन हैं.
VIDEO: तीसरे वनडे में हार के बाद क्रिकेट पंडितों की राय जानिए.
वास्तव में भारत के लिए यह एक बड़ी उपलब्धि है. लेकिन द्रविड़ को जगह दिए जाने के बाद अब सचिन तेंदुलकर के प्रशंसकों के बीच अब यह चर्चा शुरू हो गई है कि आखिर उनके 'भगवान' को अभी तक आईसीसी हाल ऑफ फेम में क्यों शामिल नहीं किया गया. ऐसे खिलाड़ी को इस क्लब में जगह क्यों नहीं दी गई, जिसके खाते में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सौ शतक जमा हैं
Source Article

- Advertisement -