राम मंदिर पर फारुक अब्दुल्ला का BJP पर निशाना: वोट देने भगवान राम या अल्लाह नहीं आएंगे, जनता ही आएगी

1
- Advertisement -

राम मंदिर पर बोले फारुक अब्दुल्ला (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: जम्मू एवं कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री तथा नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता फारुक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण (Ram temple in Ayodhya) के मुद्दे को लेकर भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा है. फारूक अब्दुल्ला ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा है कि चुनाव जीतने में भगवान मदद नहीं करते हैं, बल्कि चुनाव में वोट जनता को ही देना है. बता दें कि संघ की ओर से लगातार राम मंदिर पर बयान आ रहे हैं. वहीं बीजेपी नेता गिरिराज सिंह ने भी राम मंदिर को लेकर कोर्ट की मंशा पर सवाल उठाया है और कहा है कि कोर्ट के पास राम मंदिर के लिए फुर्सत नहीं है.
राम मंदिर पर संसद में बिल लाएंगे बीजेपी सांसद राकेश सिन्हा, ट्वीट कर विपक्षी नेताओं को दिया चैलेंज
जम्मू एवं कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री तथा नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता फारुक अब्दुल्ला ने कहा है कि 'वे (BJP) सोचते हैं कि आम चुनाव 2019 का चुनाव उन्हें भगवान राम जिता देंगे… चुनाव जीतने में भगवान उनकी मदद नहीं करेंगे, क्योंकि वोट जनता को देना है, न भगवान राम वोट देंगे, न अल्लाह वोट देने आएंगे…"

They (BJP) think that Lord Ram will win them the 2019 elections. The God will not help them win the elections, it is the people who will vote, neither Lord Ram nor Allah will vote: Farooq Abdullah, National Conference pic.twitter.com/xS5WS1BJhx

— ANI (@ANI) November 1, 2018

इससे पहले बीजेपी के राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा ने कहा है कि वह संसद में प्राइवेट मेंबर बिल लाएंगे. इसके लिए राकेश सिन्हा ने विपक्षी दलों के नेताओं को चैलेंज किया है कि वे उनके बिल का समर्थन करें. उन्होंने राहुल गांधी, लालू यादव, मायावती और कई नेताओं को ट्वीट में टैग कर पूछा है कि अगर वे राम मंदिर पर बिल लाते हैं तो क्या वे लोग उनका समर्थन करेंगे?
टिप्पणियांअब मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव बोलीं- अयोध्या में राम मंदिर बनना चाहिए
गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को कहा था कि अगले साल जनवरी से उचित पीठ राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद से जुड़े मामलों की सुनवाई करेगी. इसके बाद विवादित स्थल पर मंदिर के जल्द निर्माण के लिए कानून बनाए को लेकर सत्तारूढ़ भाजपा और आरएसएस के भीतर से मांग उठने लगी है. कांग्रेस कह चुकी है कि सभी पक्षों को न्यायालय के आदेश का पालन करना चाहिए.
VIDEO: मिशन 2019 : क्या कानून से बनेगा राम मंदिर?
Source Article

- Advertisement -