राम मंदिर निर्माण पर शिवसेना का प्रहार: BJP ने भारत को धोखा दिया, राम मंदिर अभी नहीं तो कभी नहीं

4
- Advertisement -

शिवसेना नेता संजय राउत (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

एनडीए में साथ होने के बाद भी ऐसे कई मुद्दे हैं, जिस पर शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी का रुख अलग है. शिवसेना ने एक बार फिर से राम मंदिर का राग अलापते हुए कहा कि बीजेपी के पास अभी पूर्ण बहुमत है और अगर ऐसे में अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण नहीं होता है तो आगे फिर कभी नहीं होगा. एनडीटीवी से शिवसेना के नेता संजय राउत ने कहा कि राम मंदिर का निर्माण इस साल होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले होना चाहिए.

शिवसेना का BJP पर हमला, 'NDA किसी एक पार्टी की जागीर नहीं', राफेल में चोरी नहीं तो JPC जांच से डर क्यों?

संजय राउत ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने भारत को धोखा दिया है (चीट किया है). काफी समय से हमलोग राम मंदिर के नाम पर वोट मांगते रहे हैं. लोकसभा चुनाव 2019 से पहले राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरू हो जाना चाहिए ताकि लोग धर्म की राजनीति करना बंद कर सकें.

- Advertisement -

शिवसेना का बीजेपी पर हमला- रामायण के अन्य पात्र भी तैयार रखें जाति प्रमाणपत्र

बता दें कि शिवसेना का यह बयान ऐसे वक्त में आया है, जब हाल ही में नये साल पर एक इंटरव्यू के दौरान पीएम मोदी स्पष्ट कर चुके हैं कि जब तक कानूनी प्रक्रिया पूरी नहीं हो जाती, तब तक अयोध्या में न तो राम मंदिर निर्माण का कार्य शुरू हो सकता है और न ही सरकार इस पर अध्यादेश ला सकती है. साथ ही पीएम मोदी ने राम मंदिर निर्माण कार्य में देरी के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया था.

…अब शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने भी राहुल गांधी के जुमले का लिया सहारा, बोले- आजकल 'चौकीदार ही चोर है'

इससे पहले भी शिवसेना नेता संजय राउत ने ट्वीट किया था, ‘उच्चतम न्यायालय ने कहा है कि राम मंदिर तत्काल (सुनवाई वाला) मामला नहीं है. पीएम मोदी (PM Modi) ने भी कुछ अलग नहीं कहा. मैं उन्हें मामले पर अपना रुख स्पष्ट करने के लिए बधाई देता हूं. प्रधानमंत्री (PM Modi) कहते हैं कि राम मंदिर के लिए कोई अध्यादेश नहीं लाएंगे. इसका संवैधानिक अर्थ यह है कि भगवान राम कानून से बड़े नहीं हैं.'

शिवसेना का बीजेपी पर हमला, कहा- पीएम मोदी के लिए भगवान राम कानून से बड़े नहीं

गौरतलब है कि कि एक साक्षात्कार में पीएम मोदी से अयोध्या में राम मंदिर के लिए अध्यादेश लाने के विभिन्न हिंदुत्व समूहों की मांग के बारे में सवाल किया गया. इस सवाल के जवाब में पीएम मोदी ने कहा था कि न्यायिक प्रक्रिया समाप्त होने दीजिये. न्यायिक प्रक्रिया समाप्त होने पर एक सरकार के तौर पर जो भी हमारी जिम्मेदारी होगी, हम सभी प्रयास करने को तैयार हैं. ध्यान हो कि शिवसेना ने राममंदिर मुद्दे को लेकर अपना रुख कड़ा कर लिया है. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने गत महीने महाराष्ट्र के सोलापुर जिले में एक रैली में भाजपा के सहयोगी दलों से राम मंदिर मुद्दे पर अपना रुख स्पष्ट करने के लिए कहा था.

टिप्पणियां

VIDEO: राम मंदिर निर्माण को लेकर मचा घमासान.

Source Article