राजस्थान विधानसभा चुनावः पीएम मोदी से नहीं देखी गई अपनी मां की यह तकलीफ, जानिए भाषण की 10 बातें

3
- Advertisement -

राजस्थान में चुनावी रैली को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi)ने राजस्थान विधानसभा चुनाव(Rajasthan Assembly election) के मद्देनजर भरतपुर और नागौर में चुनावी रैलिय़ों को संबोधित किया. उन्होंने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला. बचपन में अपनी मां की एक परेशानी देखकर योजना चलाने का ख्याल आने का भी जिक्र किया. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को नामदार बताकर उन पर भी खूब निशाना साधा. प्रधानमंत्री मोदी ने भाषण के दौरान केंद्र सरकार की जहां योजनाएं गायब कीं, वहीं सर्जिकल स्ट्राइक, नक्सलवाद, आतंकवाद, पिछली सरकारों के घोटाले और सरदार पटेल के प्रधानमंत्री न बनने के मुद्दों को उछालकर जनभावनाओं को छूने की कोशिश की. लगभग पूरा भाषण कांग्रेस पर केंद्रित रहा. इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने दावा किया कि राजस्थान में बीजेपी की सरकार बन रही है. जानिए पीएम मोदी के भाषण की 10 अहम बातें. 10 बड़ी बातें

  1. पीएम मोदी ने कहा-ये नामदार के दरबारी बेशर्मी से माओवादी, नक्सलवादी, हिंसा करने वाले लोगों को क्रांतिकारी कहते है। राजस्थान के वीर सपूत का, भरतपुर के बेटे का, उसके हत्यारों को क्रांतिकारी कहने वाले इस नामदारों को हम माफ़ कर सकते हैं क्या? माओवादी, नक्सलवादी को क्रांतिकारी कहने वाली कांग्रेस पार्टी को चुन-चुन कर इस चुनाव में साफ कर दीजिये
  2. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने निशाना साधते हुए कहा कि कुछ लोग ऐसे हैं जिनको ये मालूम नहीं है कि चने का पौधा होता है या पेड़! जो मूंग और मसूर में फर्क नहीं समझते हैं वो आज देश को किसानी सिखाने के लिए घूम रहे हैं.
  3. पीएम मोदी बोले-धुंआ क्या होता है, लकड़ी का चूल्हा कैसे जलता है ये नामदार की चार पीढ़ियों को कभी पता ही नहीं चला. मैने अपनी मां को लकड़ी के चूल्हे पर खाना पकाते देखा है, धुंए से आंखों से पानी कैसे निकलता है ये भी मैने देखा है, इसी से मुझे उज्ज्वला योजना शुरू करने की प्रेरणा मिली.
  4. उन्होंने कहा-हम सबको पता है कि चुनाव लोकतंत्र का बहुत बड़ा उत्सव होता है. छत्तीसगढ़ में लोकतंत्र का उत्सव मनाया जा रहा उस समय लोकतंत्र की रक्षा करने के लिए जो जवान सेवा में थे उसमे से एक हमारे भरतपुर का जवान भी था .
  5. पीएम मोदी ने कहा कि आज शौर्य और श्रम की धरती नागौर पर एक कामदार, नामदार के खिलाफ लड़ाई के मैदान में है. आप ही में से एक मैं भी हूं. जो जिंदगी आपने गुजारी है वही जिंदगी मैं भी गुजार रहा हूं. न आप सोने का चम्मच लेकर पैदा हुए है न मैं सोने का चम्मच लेकर पैदा हुआ हूं.
  6. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अगर देश के पहले प्रधानमंत्री सरदार साहब होते, एक किसान का पुत्र देश का पहला प्रधानमंत्री होता तो आज मेरे देश का किसान ऊंचाइयों को छू रहा होता.
  7. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्जिकल स्ट्राइक का मुद्दा भी उछाला. बोले कि इन लोगों की हिम्मत तो देखिए, बेशर्मी तो देखिए सर्जिकल स्ट्राइक का विरोध किया और हमसे सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत मांग रहे हैं! जिस कांग्रेस की मानसिकता ऐसी है वो देश का भला कैसे कर सकती है.
  8. उनके समय में जल में घोटाला, थल में घोटाला, नभ में घोटाला, सेना में घोटाला, सेवा में घोटाला होता था. पिछले 4 वर्षों में ये बंद हो गया. ये सब संभव हो सका सिर्फ आपके एक वोट की ताकत से.
  9. नामदार की 4-4 पीढ़ी ने देश में राज किया है, लेकिन कभी किसी ने देश के सेनाध्यक्ष को गुंडा नहीं कहा होगा, ये नामदार ने ऐसी पार्टी बनाई है कि इनके लोग बेशर्मी के साथ हमारी सेना के अध्यक्ष को रास्ते चलता गुंडा ये शब्द प्रयोग कर सकते हैं। क्या ऐसे लोग सेना का भला कर सकते हैं.
  10. 2014 के पहले आए दिन हिन्दुस्तान में जगह-जगह पर बम धमाके होते थे. 2014 के बाद आतंकवादी कश्मीर की सीमा तक सीमित हो गए। देशभर में बम धमाके होने बंद हो गए… निर्दोष लोग नहीं मारे गए। ये संभव हो सका तो सिर्फ आपके एक वोट के कारण.

टिप्पणियांSource Article

- Advertisement -