यूपी पुलिस की गोली से विवेक की मौत, परिवार वालों ने कहा- क्या वह आतंकवादी थे, जो गोली मारी?

24
- Advertisement -

मृतक विवेक के ब्रदर इन लॉ

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में शुक्रवार की देर रात चेकिंग के दौरान कार नहीं रोकने की वजह से पुलिस ने कार चालक पर गोली चला दी, जिससे उसकी मौत हो गई. अब इस मामले में परिवार वालों ने पुलिस पर कई सवाल खड़े किये हैं. दरअसल, लखनऊ में शुक्रवार की देर रात करीब 1.30 बजे एप्पल कंपनी के एरिया मैनेजर अपनी एक सहयोगी के साथ कार से घर लौट रहे थे, तभी पुलिस ने उन्हें गाड़ी रोकने को कहा. मगर जब विवेक ने गाड़ी नहीं रोकी तो पुलिस ने उन पर गोली चला दी, जिसके बाद अस्पताल में उनकी मौत हो गई. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी यह बात सामने आई है कि विवेक सिर में गोली मिली है.
लखनऊ: रात में चेकिंग के दौरान कार नहीं रोकने पर पुलिस ने चलाई गोली, एप्पल के एरिया मैनेजर की मौत
हालांकि, अब विवेक की पत्नी ने पुलिस और राज्य की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं. मृतक विवेक की पत्नी कल्पना तिवारी ने कहा कि पुलिस को मेरे पति को मारने का कोई हक नहीं था. मैं यूपी के सीएम से मांग करती हूं कि वह यहां आएं और मुझसे बात करें. उन्होंने कहा कि पुलिस ने सामने से गोली मारी है. उन्होंने कहा कि पुलिस कह रही थी कि मेरे पति आपत्तिजनक अवस्था में पाये गये थे. तो मैं कहती हूं कि आपने उन्हें पकड़ा क्यों नहीं. क्या कार को नहीं रोकना क्या कोई अपराध है? मैं मुख्यमंत्री से पूछना चाहती हूं कि यह किस तरह की कानून-व्यवस्था है.''

#Lucknow: Was he a terrorist that police shot at him? We choose Yogi Adityanath as our representative, we want him to take cognizance of the incident and also demand an unbiased CBI inquiry: Vishnu Shukla, brother-in-law of deceased Vivek Tiwari pic.twitter.com/GOx91fu5bV

— ANI UP (@ANINewsUP) September 29, 2018

वहीं, मृतक विवेक तिवारी के रिश्तेदार विष्णु शुक्ला ने कहा कि क्या वह आतंकवादी थे जो पुलिस ने गोली मार दी? हम योगी आदित्यनाथ को अपने प्रतिनिधि के रूप में चुनते हैं, हम चाहते हैं कि वह इस घटना का संज्ञान लें और निष्पक्ष सीबीआई जांच की मांग करें.' बता दें कि आरोपी कॉन्स्टेबल को हिरासत में ले लिया गया है.
u8i87b6o
टिप्पणियांहिमाचल प्रदेश में सेना के जवान ने दो साथियों को गोलियों से भूना, खुद को भी मारी गोली
आरोपी कॉन्स्टेबल प्रशांत का कहना है कि सेल्फ डिफेंस में गोली चलाई. उसने दो तीन बार गाड़ी रिवर्स करके चढ़ाने की कोशिश की. उसने कहा कि 'हम पेट्रोल ड्यूटी पर थे. रात के करीब डेढ़ बजे हमने एक संदिग्ध कार को देखा, जिसकी लाइट बंद थी. हम कार के नजदीक गये. जैसे ही हम पास गये, कार में बैठे शख्स ने गाड़ी स्टार्ट कर दी. हमने कार के सामने अपनी गाड़ी खड़ी की. कार ने हमारी बाइक को टक्कर मारी. हमने उसे रुकने को कहा. उसने कार को रिवर्स में किया और फिर से बाइक को टक्कर मारी. हम उसे बाहर निकलने के लिए कह रहे थे. मगर उसने तीसरी बार भी गाड़ी रिवर्स की और पूरी ताकत के साथ बाइक को टक्कर मारी. मैं जमीन पर गिर गया. उसके बाद में उठा और पिस्तोल निकाल कर उसे डराया. वह मुझे कुचलना चाह रता था, इसलिए मुझे आत्मरक्षा में गोली चलानी पड़ी.'

#Lucknow At 2 am last night, I saw a suspicious car with its lights off, when I approached the car, the driver (Vivek Tiwari) tried to run over me thrice to kill me. I fired a bullet in self-defence, he then immediately took off from the spot: Police constable Prashant Chaudhary pic.twitter.com/ZSLiATeCU6

— ANI UP (@ANINewsUP) September 29, 2018

इस मामले में उत्त प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि जांच जारी है. पुलिस द्वारा अगर किसी निर्दोष को मारा गया है, तो जांच होगी. जो भी इस जांच में दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई होगी.

Investigation is underway. If an innocent person has been killed by the police probe will be done.Actions will be taken against those found guilty: KP Maurya,Deputy CM on Lucknow resident, Vivek Tiwari who was shot at by police last night and later succumbed to his injuries. pic.twitter.com/WroYfNtNr7

— ANI UP (@ANINewsUP) September 29, 2018

VIDEO:रणनीति इंट्रो : तूतीकोरिन में फायरिंग से पहले चेतावनी क्यों नहीं दी गई?
Source Article

- Advertisement -