महाराष्ट्र : बुलढाना जिले में बुजुर्ग की भूख से मौत, आधार लिंक नहीं होने पर दुकानदार ने नहीं दिया राशन

7
- Advertisement -

दो दिन तक अन्न का एक भी दाना नहीं मिलने से बुजुर्ग की मौत हुई (फाइल फोटो).

मुंबई: महाराष्ट्र के बुलढाना जिले के मोताला तहसील में प्रशासन की निष्ठुरता से एक बुजुर्ग की जान चली गई. बुजुर्ग की पत्नी पंचफूला गवई ने तहसीलदार को पत्र लिखकर आरोप लगाया है कि उसके 65 साल के पति की मौत भूखमरी की वजह से हुई है. उनका आधार लिंक नहीं हो पाने से राशन दुकानदार में गेहूं और चावल नहीं दिया. 2 दिन तक अन्न का एक भी दाना नहीं मिलने से बुजुर्ग पति गोविंद गवई की मौत हो गई.
यह भी पढ़ें: NDTV Exclusive : दिल्ली में तीन मासूम बच्चियां आठ दिन तक भूखी रहीं, कुपोषण से मौत!
28 सितंबर को लिखे पत्र में पत्नी पंचफूला ने बताया है कि उसके पति की 22 सितंबर को मौत हो गई. दोनों अकेले रहते थे उनके कमाई का कोई जरिया नहीं है. आधार लिंक नही होने का बहाना बताकर दुकानदार ने 2 महीने से गेहूं-चावल देना बंद कर दिया था. पत्नी के मुताबिक. पति ने तहसील कार्यालय में चक्कर लगाया था लेकिन बात नही बनी. आखिरकार भूख से पति की मौत हो गई.
यह भी पढ़ें: संयुक्त राष्ट्र ने दुनिया को किया आगाह, भूख से 12 करोड़ से अधिक लोगों के मरने का खतरा
टिप्पणियां पत्नी ने तहसीलदार को लिखे पत्र में संबंधित राशनिंग अधिकारी और राशन दुकानदार के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग की है. इस बीच जिले के उप विभागीय अधिकारी सुनील विनचंकर ने शिकायत मिलने की पुष्टि कर मामले की जांच किये जाने की बात कही है.
VIDEO: भुखमरी से मौत के लिए सरकार जिम्मेदार : मनीष सिसोदिया
Source Article

- Advertisement -