‘मन की बात’ में बोले पीएम मोदी- सरदार पटेल ने देश को एकता के सूत्र में पिरोने का असंभव काम किया

4
- Advertisement -

Mann ki Baat : मन की बात में पीएम मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री मोदी आज 49वीं बार अपने रेडियो कार्यक्रम मन की बात के जरिए देश को संबोधित कर रहे हैं. पीएम ने कहा कि 31 अक्टूबर हम सबके प्रिय सरदार वल्लभभाई पटेल की जयन्ती है और हर वर्ष की तरह ‘Run for Unity' के लिए देश का युवा एकता के लिए दौड़ने को तैयार हो गया है. मेरा आग्रह है कि आप सभी बड़ी संख्या में एकता की इस दौड़ ‘Run for Unity' में भाग लें. उन्होंने कहा कि 27 जनवरी 1947 को विश्व की प्रसिद्ध पत्रिका ‘Time Magazine' ने जो संस्करण प्रकाशित किया था, उसके कवर पेज पर सरदार पटेल की फोटो लगी थी. अपनी लीड स्टोरी में उन्होंने भारत का एक नक्शा दिया था और ये वैसा नक्शा नहीं था जैसा हम आज देखते हैं.
PM मोदी बोले – खेत में कोई चीज बेकार नहीं होती, कचरे को भी कंचन बनाया जा सकता है
पीएम मोदी ने कहा कि ये एक ऐसे भारत का नक्शा था जो कई भागों में बंटा हुआ था. तब 550 से ज्यादा देशी रियासते थीं. भारत को लेकर अंग्रेजों की रूचि ख़त्म हो चुकी थी, लेकिन वो इस देश को छिन्न-भिन्न करके छोड़ना चाहते थे. ‘Time Magazine' ने लिखा था कि भारत पर विभाजन, हिंसा, खाद्यान्न -संकट, महंगाई और सत्ता की राजनीति जैसे खतरे मंडरा रहे थे. गांधी जी ने सरदार पटेल से कहा कि राज्यों की समस्याएं विकट हैं और केवल आप ही इनका हल निकाल सकते हैं. सरदार पटेल ने सभी रियासतों का भारत में विलय कराया और देश को एकता के सूत्र में पिरोने के असंभव कार्य को पूरा कर दिखाया.
प्रधानमंत्री ने कहा कि एकता के बंधन में बंधे इस राष्ट्र को देख कर हम स्वाभाविक रूप से सरदार वल्लभभाई पटेल का पुण्य स्मरण करते हैं। इस 31 अक्तूबर को सरदार पटेल की जयन्ती और भी विशेष होगी. इस दिन सरदार पटेल को सच्ची श्रद्धांजलि देते हुए हम 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' राष्ट्र को समर्पित करेंगे. गुजरात में नर्मदा नदी के तट पर स्थापित इस प्रतिमा की ऊंचाई अमेरिका के Statue of Liberty से दो गुनी है. ये विश्व की सबसे ऊंची गगनचुम्बी प्रतिमा है. पीएम ने कहा कि कल हमने ‘Infantry Day' मनाया है. मैं उन सभी को नमन करता हूं जो भारतीय सेना का हिस्सा हैं. मैं सैनिकों के परिवार को भी उनके साहस के लिए सलाम करता हूं.
रोजगार के सवाल पर बोले पीएम मोदी- देश में उपलब्ध हैं अभूतपूर्व अवसर
पीएम ने कहा कि आप सभी को याद होगा कि हमने 2017 में फीफा अंडर- 17 विश्व कप का सफल आयोजन किया था. देश के अलग-अलग स्टेडियम में 12 लाख से अधिक लोगों ने फुटबॉल मैचों का आनंद लिया और युवा खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाया. इस वर्ष भारत को भुवनेश्वर में पुरुष हॉकी वर्ल्ड कप 2018 के आयोजन का सौभाग्य मिला है. यह 28 नवम्बर से प्रारंभ हो कर 16 दिसम्बर तक चलेगा. खेल के साथ ये ओडिशा दर्शन का भी बड़ा अवसर है. इस दौरान पुरी में भगवान् जगन्नाथ मंदिर समेत कई विश्वप्रसिद्ध दर्शनीय और पवित्र स्थल भी जरुर देख सकते हैं.
VIDEO: तेजस्वी यादव ने पीएम मोदी से पूछे सवाल.
मन की बात में पीएम मोदी ने कहा कि आज विश्व पर्यावरण संरक्षण की चर्चा कर रहा है. भारत भी इस समस्या से अछूता नहीं है. इसके हल के लिए हमें अपने समृद्ध इतिहास,परंपराओं को देखना होगा, खासकर अपने जनजातीय समुदायों की जीवनशैली को समझना होगा. सामाजिक कार्य के लिए जिस प्रकार से लोग आगे आ रहे हैं, इसके लिए Volunteering कर रहे हैं, ये पूरे देशवासियों के लिए प्रेरणादायक है. वैसे सेवा परमो धर्मः ये भारत की विरासत है. पीएम मोदी ने कहा कि प्रकृति के साथ सामंजस्य बनाकर के रहना हमारे आदिवासी समुदायों की संस्कृति में शामिल रहा है. हमारे आदिवासी भाई-बहन पेड़-पौधों और फूलों की पूजा देवी-देवताओं की तरह करते हैं.
दूसरी बार उद्योगपतियों के पक्ष में खड़े दिखे पीएम मोदी, बोले- उद्योग, व्यापार की आलोचना की संस्कृति से सहमत नहीं
टिप्पणियां पीएम ने कहा कि पंजाब का एक गांव कल्लर माजरा इसलिए चर्चित हुआ है क्योंकि वहां के लोग धान की पराली जलाने की बजाय उसे जोतकर उसी मिट्टी में मिला देते हैं. कल्लर माजरा और उन सभी जगहों के लोगों को बधाई जो वातावरण को स्वच्छ रखने के लिए अपना श्रेष्ठ प्रयास कर रहें हैं. उन्होंने कहा कि भारत के लिए इस वर्ष 11 नवम्बर का विशेष महत्व है क्योंकि 11 नवम्बर को आज से 100 वर्ष पूर्व प्रथम विश्व युद्ध समाप्त हुआ था. यानी उस दौरान हुए भारी विनाश और जनहानि की समाप्ति की एक सदी पूरी हो जाएगी. जब कभी भी विश्व शान्ति की बात होती है तो इसको लेकर भारत का नाम और योगदान स्वर्ण अक्षरों में अंकित दिखेगा.
पीएम ने कहा कि हमारे पूर्वोत्तर की बात ही कुछ और है. पूर्वोत्तर का प्राकृतिक सौन्दर्य अनुपम है और यहां के लोग अत्यंत प्रतिभाशाली है. पूर्वोत्तर अब तमाम best deeds के लिए भी जाना जाता है. कुछ दिन पहले सिक्किम ने सस्टेनेबल फूड सिस्टम को प्रोत्साहन देने के लिए प्रतिष्ठित Future Policy Gold Award 2018 जीता है. पीएम ने कहा कि मौसम बदलने के साथ-साथ त्योहारों का भी मौसम आ गया है. धनतेरस, दीपावली, भैय्या-दूज, छठ एक तरीके से कहा जाए तो नवम्बर का महीना त्योहारों का ही महीना है. उन्होंने देशवासियों को बधाई भी दी.
Source Article

- Advertisement -