मध्य प्रदेश: नतीजे आने से पहले BJP में मचा बवाल, शिवराज सरकार की मंत्री और विधायक ने उठाए पार्टी पर सवाल

3
- Advertisement -

नतीजे आने से पहले ही भाजपा में अपरोक्ष रुप से टिकट वितरण पर सवाल उठने लगे है.

भोपाल: मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव (Madhya Pradesh Assembly Elections 2018) के नतीजे आने से पहले ही भारतीय जनता पार्टी में बवाल मचने की खबरें आ रही हैं. शिवराज सिंह चौहान सरकार की एक मंत्री और विधायक ने पार्टी नेतृत्व पर सवाल उठाए हैं. दोनों की ही इस बार विधानसभा सीट बदल दी गई थीं.
भाजपा की मौजूदा विधायक उषा ठाकुर द्वारा उनके सीट बदले जाने को लेकर बयां किए गए दर्द को मंत्री कुसुम महदेले का भी साथ मिल गया है. महदेले ने ठाकुर के साथ अन्याय होने की बात कही है. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की इंदौर से मौजूदा विधायक उषा ठाकुर का एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें वे पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव (कैलाश विजयवर्गीय) पर राष्ट्रीय अध्यक्ष (अमित शाह) से सेटिंग कर अपने बेटे (आकाश विजयवर्गीय) को टिकट दिलाने का आरोप लगा रही हैं.
BJP विधायक का ऑडियो- विजयवर्गीय ने अमित शाह को सेट कर बेटे को दिलाया टिकट, पार्टी में वंशवाद
ठाकुर के इस वीडियो पर महदेले ट्वीट कर उनके दर्द में सहभागी बनी हैं. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है, "उषा ठाकुर जी, आपके साथ अन्याय हुआ है. बेवजह आपको अपनी विधानसभा 3 इंदौर छोड़कर महू जाना पड़ा. हमें आपके प्रति सहानुभूति है. महदेले को पार्टी ने पन्ना से उम्मीदवार नहीं बनाया, वे पिछला चुनाव यहां से जीती थी और उनका टिकट काटकर पूर्व मंत्री ब्रजेंद्र प्रताप सिंह को पार्टी ने उम्मीदवार बनाया है. वहीं, उषा ठाकुर का विधानसभा क्षेत्र इंदौर तीन से बदलकर महू किया गया. ठाकुर के स्थान पर पार्टी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश को उम्मीदवार बनाया गया है. वायरल हुए वीडियो में ठाकुर ने पार्टी में परिवारवाद बढ़ने का आरोप लगाया है.

उषा ठाकुर जी, आपके साथ अन्याय हुआ है.बेवजह आपको अपनी विधानसभा 3 इंदौर छोड़ कर महू जाना पड़ा .हमे आपके प्रति सहानुभूति है .

— kusum singh mahdele (@ikusummahdele) December 2, 2018

चुनाव आयोग ने माना, भोपाल के जिस स्ट्रांग रूम में मतदान के बाद रखी गई थीं ईवीएम मशीनें, वहां बंद हो गए थे सीसीटीवी कैमरे
नतीजे आने से पहले ही भाजपा में अपरोक्ष रुप से टिकट वितरण पर सवाल उठने लगे है. भाजपा के भीतर शुरू हुए इस घमासान को संभालना पार्टी के लिए आसान नहीं होने वाला.

यह कैसा अन्याय है,कि पवई से 12 हजार से अधिक मतो से हारे प्रत्याशी को पन्ना विधान सभा से टिकिट और पन्ना से 29000 हजार सेअधिक मतो से जीते प्रत्याशी का टिकिट काटा .क्यों ? कैसी पंडित दीनदयाल जी और पंडित श्याम चरण जी मुख़र्जी जी की भारतीय जनता पार्टी है ,तोमर जी?

— kusum singh mahdele (@ikusummahdele) November 10, 2018

बता दें, मध्य प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों पर 28 दिसंबर को मतदान हुआ था. इसके चुनाव के नतीजे 11 दिसंबर को राजस्थान, छत्तीसगढ़, मिजोरम और तेलंगाना के साथ 11 दिसंबर को जारी किए जाएंगे.
(इनपुट- आईएएनएस)
टिप्पणियांमध्य प्रदेश : मतदान के 48 घंटे बाद पहुंचीं ईवीएम मशीनें, कांग्रेस ने लगाया धांधली का आरोप
सिंपल समाचारः किसका होगा मध्य प्रदेश ?
Source Article

- Advertisement -