भीमा कोरेगांव हिंसा मामला: सुप्रीम कोर्ट ने आनंद तेलतुंबडे के खिलाफ FIR रद्द करने से किया इनकार

3
- Advertisement -

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में सुनवाई करते हुए आरोपी आनंद तेलतुंबडे (Anand Teltumbde) के खिलाफ एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया है. हालांकि कोर्ट (Supreme Court) ने सुनवाई के दौरान कहा कि इस मामले में जांच दिन पर दिन बड़ी से बड़ी होती जा रही है. साथ ही कोर्ट (Supreme Court) ने कहा कि जांच के इस स्तर पर वह इस मामले में दखल नहीं दे सकता है. कोर्ट (Supreme Court) ने कहा कि फिलहाल यह मामला शुरुआती दौर में है इसे इस तरह के खराब नहीं किया जा सकता. कोर्ट ने आनंद (Anand Teltumbde) की याचिका को खारिज करते हुए कहा कि वह चार हफ्ते में जमानत याचिका दाखिल करें.

टिप्पणियां

बता दें कि आनंद ने बॉम्बे हाईकोर्ट के 24 दिसंबर के उस फैसले को चुनौती दी थी जिसमें एफआईआर रद्द करने से इनकार कर दिया गया था. याचिका पर सुनवाई करते हुए पीठ ने कहा कि तेलतुंबडे के खिलाफ अभियोग चलाने लायक सामग्री है. पीठ ने इन सबके इतर यह भी कहा कि अपराध गंभीर है. साजिश गहरी है और इसके बेहद गंभीर प्रभाव हैं. साजिश की प्रकृति और गंभीरता देखते हुए, यह जरूरी है कि जांच एजेंसी को आरोपी के खिलाफ सबूत खोजने के लिए पर्याप्त मौका दिया जाए. जांच के प्रति संतोष व्यक्त करते हुए पीठ ने कहा कि पुणे पुलिस के पास तेलतुंबडे के खिलाफ पर्याप्त सामग्री है और उनके खिलाफ लगाए गए आरोप आधारहीन नहीं हैं.

- Advertisement -

Source Article