भाजपा सांसद ने निजामाबाद का नाम बदलने का दिया सुझाव, बताई यह वजह…

0
- Advertisement -

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद डी अरविंद ने मंगलवार निजामाबाद का नाम बदलने की मांग की है. खास बात यह है कि इसके पीछे की जो वजह उन्होंने बताई है वह काफी रोचक है. उन्होंने कहा कि यह नाम अशुभ है. इसलिए तुरंत बदल देना चाहिए था. उन्होंने नए नाम का भी सुझाव दिया है. अरविंद ने कहा कि इसका नाम बदल कर इन्‍दूर किया जाना चाहिए जो इसका पुराना नाम था. इन्दूर का नाम हिंदुस्तान से संबंधित है और यह ‘‘इंडिया'' की तरह ''इंड'' से शुरू होता है. यह एक शुभ और राष्ट्रवादी नाम है. बीजेपी नेता ने कहा कि उनके निर्वाचन क्षेत्र के लोग भी नाम में बदलाव चाहते हैं.

लखनऊ के मशहूर हजरतगंज चौराहे का नाम बदला, अब इस नाम से जाना जाएगा

- Advertisement -

उन्होंने कहा कि निजामाबाद नाम होने की वजह से यह शहर और जिला दोनों रूप में सभी पहलुओं से अच्छा प्रदर्शन करने में नाकाम रहा है. इसका नाम हैदराबाद के पूर्व शासक "निज़ाम" के नाम पर रखा गया था. उन्होंने एक दिन पहले भी एक कार्यक्रम में यह मांग की थी. जिले की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार, यहां से लगभग 175 किलोमीटर दूर निजामाबाद (निजाम-ए-आबादी) का नाम हैदराबाद के निजाम आसफ जही पर आधारित है.

टिप्पणियां

इलाहाबाद का नाम बदलने के यूपी सरकार के फैसले को कोर्ट में चुनौती देने की तैयारी

जिन्होंने 18 वीं शताब्दी में दक्कन पर शासन किया था. जिले का मूल नाम इन्दूर था जो राजा इंद्रदत्त के नाम पर था जिन्होंने पांचवीं शताब्दी में इस क्षेत्र पर शासन किया था. अरविंद ने कहा कि लोग मांग कर रहे हैं कि इसका नाम बदलकर अब इन्दूर कर दिया जाए. मैंने लोगों से कहा कि हम बदलने की कोशिश करेंगे. बता दें कि अप्रैल में हुए आम चुनाव में अरविंद ने मुख्यंत्री के चंद्रशेखर राव की पुत्री और टीआरएस उम्मीदवार कविता को पराजित किया था.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)Source Article