बीजेपी ने कमलनाथ पर लगाया घोटालों का आरोप, कहा- मिनिस्टर ऑफ 15% कमीशन

3
- Advertisement -

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ (फाइल फोटो)

भोपाल : मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस नेताओं के कथित वीडियो को लेकर बीजेपी ने निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस आगामी चुनाव में हार को देखकर बौखला गई है और बंटवारे की राजनीति को अपना रही है. बीजेपी के मीडिया सेंटर में शुक्रवार को संवाददाताओं से बातीचत के दौरान पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा व सांसद जी.वी एल नरसिम्हा राव ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला. दोनों ने कांग्रेस नेताओं सीपी जोशी, नवजोत सिंह सिद्धू और प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ के सामने आए कथित वीडियो को लेकर कहा कि कांग्रेस प्रदेश में हार चुकी है. वह 90 प्रतिशत विधानसभा सीटों पर हार मानने के बाद 10 प्रतिशत सीटों पर लड़ाई लड़ रही है. बीजेपी नेताओं ने कहा कि कांग्रेस प्रदेश और देश में बंटवारे की राजनीति चल रही है. पार्टी समाज को बांटने में लगी है. जातिवाद का जहर घोल रही है. बंद कमरों में मुस्लिमों को लुभाया जाता है. साथ ही उनसे कहा जाता है कि अगर 90 प्रतिशत मुस्लिमों ने वोट नहीं दिए तो कांग्रेस का नुकसान हो जाएगा.
एमपी चुनाव: राहुल गांधी बोले- आपका पैसा पीएम से लेकर सीएम तक हर कोई चुरा रहा है

When Niira Radia tapes were leaked in connection with 2G Scam, Kamal Nath ji's name also appeared in it, his true form as a 'minister of 15% commission' was exposed. Even then he was not removed from there because he is very close to Rahul Gandhi: GVL Narasimha Rao, BJP pic.twitter.com/xCtN8u32eb

— ANI (@ANI) November 23, 2018

विधानसभा चुनाव 2018: शिवराज 'मामा' ने ऐसा क्या किया कि मध्य प्रदेश में जीतते ही रहे
बीजेपी नेताओं ने कहा कि कांग्रेस के नेता लगातार प्रधानमंत्री की जाति, उनकी मां पर आपत्तिजनक टिप्पणी करते रहे. अब विधानसभा चुनाव में वह जातिवाद का जहर घोल रहे हैं. बीजेपी ने कांग्रेस के इन नेताओं को निष्कासित करने की मांग की है. बीजेपी नेताओं ने कमलनाथ पर घोटालों में शामिल होने का आरोप लगाते हुए कहा कि कमलनाथ को लगातार राहुल गांधी का संरक्षण था जिसके चलते बड़े पैमाने पर घोटाले किए गए. बीजेपी प्रवक्ता जीवीएसल नरसिम्हा राव ने कथित टैपकांड का हवाला देते हुए कहा कि जब 2 जी घोटाला मामले में ये टैप सामने आए थे उसमें कमलनाथ का भी नाम लिया गया था. उनका असली नाम 'मिनिस्टर ऑफ 15% कमीशन' सबके सामने आया था. लेकिन फिर भी उनको कैबिनेट से हटाया नहीं गया था क्योंकि वह राहुल गांधी के काफी नजदीक थे.
मध्य प्रदेश के इस गांव में रहते हैं केवल बच्चे और बुजुर्ग, जानें क्या है इसकी वजह

While Kamal Nath ji was a minister and involved in scams, he was shielded by a person. That person is Rahul Gandhi. Kamal Nath was the main face of the rice exports scam. The case was not handed over to CBI. To save its face, Congress hatched conspiracy: GVL Narasimha Rao, BJP pic.twitter.com/kRTY0R05qv

— ANI (@ANI) November 23, 2018

ज्योतिरादित्य सिंधिया के गढ़ ग्वालियर में कांग्रेस के लिए इस बार भी राह आसान नहीं
बीजेपी नेता यहीं नहीं रुके उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि जब कमनाथ जी मंत्री थे और घोटाला कर रहे थे तो उनको एक शख्स संरक्षण दे रहे थे, उनका राहुल गांधी है. कमलनाथ चावल घोटाला के मुख्य चेहरा थे. इस केस को सीबीआई को नहीं सौंपा गया था. बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस नेता बंद दरवाजों में मीटिंग कर रहे हैं लेकिन इसे रिकॉर्ड कर लिया गया. पात्रा ने कहा कि कि राहुल गांधी जी आपको रंगे हाथों पकड़ लिया गया है. आपको सीपी जोशी को तुरंत पार्टी से बाहर करना चाहिए.
टिप्पणियां
इनपुट : आईएनएस
Source Article

- Advertisement -