बंगाल में मतदान के दौरान हिंसा: CPM उम्मीदवार की कार पर हमला, कहीं छोड़े गए आंसू गैस के गोले तो कहीं करनी पड़ी हवाई फायरिंग

1
- Advertisement -

सीपीएम उम्मीदवार की कार पर किया गया हमला.

कोलकाता:

दूसरे चरण के लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) के दौरान बंगाल के कई हिस्सों में हिंसा की घटनाएं सामने आई हैं, एक उम्मीदवार की कार पर भी हमला कर दिया गया. सीपीएम उम्मीदवार मोहम्मद सलीम की कार पर पत्थर फेंके गए. वह रायगंज लोकसभा सीट के पाटागारा पोलिंग बूथ पर चुनाव डालने जा रहे थे. सलीम का मुकाबला कांग्रेस की मौजूदा सांसद दीपा दासमुंसी से है. दीपा से पहले उनके पति प्रिया रंजन दासमुंसी साल 1999 से इस सीट से सांसद थे. न्यूज एजेंसी एएनआई से सलीम ने कहा, 'टीएमसी समर्थित गुंडे पाटागारा पोलिंग बूथ के आसपास इकट्ठा थे. वे वोटर्स को धमका रहे थे. जब मैंने वहां जाने की कोशिश की तो उन्होंने मेरे वाहन पर हमला कर दिया.' साथ ही कहा कि पुलिस टीएमसी के गुंडों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है. उन्होंने आरोप लगाया कि सत्तारुढ़ पार्टी उन बूथों पर कब्जा करने चाहती है, जहां केंद्रीय बल के जवान तैनात नहीं हैं. साथ ही कहा कि वे वैध मतदाताओं को रोक रहे हैं.

टिप्पणियां

इसी संसदीय सीट के गिरपार बूथ पर भी हिंसा की घटना देखने को मिली. जहां मतदाताओं ने नेशनल हाइवे-34 को जाम कर दिया. उनका दावा है कि अज्ञात बदमाशों ने उन्हें वोट नहीं डालने दे रहे. पुलिस को उन्हें हटाने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा.

- Advertisement -

दार्जिलिंग सीट के तहत चोपड़ा में लोगों के एक अन्य समूह ने नेशनल हाइवे-31 को जाम कर दिया. उन्होंने भी दावा किया कि उन्हें वोट नहीं डालने दिया गया. पुलिस ने लाठीजार्च किया, आंसू गैस के गोले छोड़े और आखिरकार भीड़ को हटाने के लिए हवा में फायरिंग करनी पड़ी.

Source Article