पेटीएम का कौन सा डेटा चोरी हुआ? जांच में जुटी नोएडा पुलिस

1
- Advertisement -

पेटीएम के एमडी विजय शेखर शर्मा को ब्लैकमेल करने की आरोपी कंपनी की वाइस प्रेसीडेंट सोनिया धवन समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

नई दिल्ली: नोटबंदी के बाद जबरदस्त मुनाफा कमाने वाली डिजिटल वॉलेट कंपनी पेटीएम में डेटा चोरी हो गया है. डेटा चोरी के आरोप में कंपनी की वाइस प्रेसीडेंट समेत तीन लोग गिरफ्तार हुए हैं. कंपनी कह रही है कि ये कंपनी के मालिक का निजी डेटा था, जबकि आरोपी इसे कम्पनी का डेटा बता रहा है. वहीं पुलिस कह रही है सब कुछ जांच के बाद साफ होगा.
आरोपियों के पास से एक डिस्क बरामद हुई है, जिसकी पुलिस स्टडी करेगी. उसके बाद जरूरत पड़ी तो कस्टडी की मांग करेगी. फ़िलहाल तीनों आरोपी पेटीएम मालिक विजय की सेक्रेट्री और वाइस प्रेसीडेंट सोनिया धवन, उसके पति रूपक और एक और कर्मचारी देवेन्द्र को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.
नोटबंदी के बाद पेटीएम के मालिक विजय शेखर शर्मा का कारोबार भी तेजी से बढ़ा और मुनाफा भी. इसी तरह कंपनी में काम करने वाले लोगों के वेतन में भी जबरदस्त बढ़ोतरी हुई. कंपनी की वाइस प्रेसीडेंट और कंपनी के मालिक विजय शेखर शर्मा की निजी सचिव सोनिया धवन का पैकेज 70 लाख सालाना हो गया. लेकिन अब सोनिया को विजय शेखर के कम्प्यूटर और मोबाइल के निजी डेटा चुराने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. सोनिया के साथ पेटीएम का एक और कर्मचारी देवेंद्र और सोनिया का पति रूपक जैन भी गिरफ्तार हुआ है.
यह भी पढ़ें : पेटीएम के मालिक को ब्लैकमेल करके 20 करोड़ मांगने वाली कंपनी की वाइस प्रेसिडेंट गिरफ्तार
विजय शेखर शर्मा के भाई अजय शर्मा द्वारा नोएडा के सेक्टर 20 पुलिस थाने में दर्ज कराई गई एफआईआर के मुताबिक 20 सितंबर को कोलकाता से रोहित चोमल नाम के एक शख्स ने व्हाट्सऐप कॉल करके जानकारी दी कि उसके पास पेटीएम के मालिक विजय शेखर शर्मा का निजी डेटा है. डेटा वापस करने के एवज में 20 करोड़ की फिरौती मांगी गई. बाद में सौदा 10 करोड़ में तय हुआ. पेटीएम की तरफ से बताए गए एक एकॉउंट नंबर में 10 और 15 अक्टूबर को 67 रुपये और फिर दो लाख रुपये डाले गए. फिर 22 अक्टूबर को केस दर्ज कराया गया.
पेटीएम के मुताबिक उन्हें रोहित ने डील के बीच में बता दिया था कि इसमें कंपनी की वाइस प्रेसिडेंट सोनिया का हाथ है. उसके बाद पुलिस ने सोनिया के साथ उसके पति रूपक जैन और पेटीएम के एक कर्मचारी को गिरफ्तार कर लिया.
गौतम बुद्ध नगर के एसएसपी अजयपाल शर्मा ने बताया कि यह डेटा पर्सनल है या कम्पनी का, इसकी जांच चल रही है. जांच के बाद ही साफ होगा.आरोपी कर्मचारी देवेंद्र ने कहा कि यह डेटा उसे सोनिया ने दिया था. यह ऑफिसियल डेटा है.
सूत्रों की मानें तो जो डेटा चोरी हुआ वह पेटीएम का वह डेटा है जिसके जरिए कंपनी खड़ी हुई. पुलिस के मुताबिक सोनिया का पति रूपक रियल स्टेट का कारोबार करता है. उसे वहां घाटा हुआ तो जल्दी पैसा कमाने के चक्कर में उसने अपनी पत्नी के साथ मिलकर यह साजिश रची, जबकि सोनिया को 70 लाख रुपये का सालाना पैकेज मिलता था.
टिप्पणियांVIDEO : मैसेजिंग के लिए भी Paytm
इस मामले में एक और आरोपी रोहित की तलाश जारी है.
Source Article

- Advertisement -