पीड़ित महिला ने दिल्ली महिला आयोग की मदद से गोरखपुर के एक स्वयंभू बाबा के खिलाफ दर्ज कराया रेप का मामला

2
- Advertisement -

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली: एक महिला ने दिल्ली महिला आयोग की मदद से गोरखपुर के एक स्वयंभू बाबा अमित बाबा मज़ार वाला के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कराया है. आरोपी बाबा गोरखपुर के परमेश्वरपुर, भण्डारो में एक मज़ार के पास आश्रम चलाता है. महिला का आरोप है कि बाबा ने दो साल तक उसे आश्रम में कैद रखा. पीड़िता ने पुलिस को बताया कि वह मज़ार के एक सेवक की मदद से किसी तरह भागने में सफल हुई और दिल्ली पहुंची. पीड़िता ने दिल्ली महिला आयोग में शिकायत दर्ज कराई थी कि लगभग दो साल पहले वह काम के सिलसिले में परिवार के साथ गोरखपुर गई थी, वहां उसे एक फैक्ट्री में काम मिल गया. फैक्ट्री में काम करते हुए उसे एक महिला मिली जिसने पीड़िता को इलाज़ करवाने के नाम पर ‘बाबा अमित मज़ार वाला'से मिलवाया. साथी महिला पर विश्वास करके वह बाबा से मिली जिसने उसको बीमारी से छुटकारा दिलाने का भरोसा दिया.
यह भी पढ़ें: चंडीगढ़ में बच्ची से बलात्कार के आरोप में एक आरोपी गिरफ्तार
महिला का आरोप है कि बाबा ने उसको कुछ दबाई दी जिसको खाने के बाद उसका जी मिचलाने लगा और वह किसी तरह से अपने घर पहुंची. बाबा ने उसको अपना फ़ोन नंबर दिया और स्वास्थ्य सम्बंधित कोई परेशानी होने पर उससे संपर्क करने को कहा. चूंकि उसका जी मिचला रहा था तो उसने बाबा की मदद लेने का फैसला किया. बाबा से बात करने पर बाबा ने उसको मज़ार पर आने को कहा. वहां पहुँचने पर बाबा ने उसको क़ैद कर लिया और लगातार 2 साल तक उसका यौन शोषण किया. बाबा ने पीड़िता को इसके बारे में किसी को बताने पर उसके परिवार को जान से मारने की धमकी दी. बाबा की यातना से बचने के लिए पीड़िता ने चुपके से वहां से भागने की कोशिश की, मगर वह पकड़ी गयी और पकडे जाने के बाद बाबा और उसके चेलों ने उसको बुरी तरह मारा पीटा. खून से लथपथ और लगभग बेहोशी की हालत में मज़ार के किसी व्यक्ति की मदद से पीड़िता वहां से भागने और दिल्ली पहुँचने में सफल हुई.
यह भी पढ़ें: जयपुर में युवती से कथित गैंग रेप, निर्वस्त्र हालत में तीसरी मंजिल से कूदी
पीड़िता दिल्ली महिला आयोग आई जहाँ उसकी काउन्सलिंग की गयी. उसने आयोग को सारी बात बताई और बताया कि बाबा ने उसको 2 साल तक बंधक बना कर रखा हुआ था. महिला अपने लिए न्याय के लिए लड़ना चाहती थी मगर वह अपनी और परिवार की सुरक्षा के लिए चिंतित थी क्योंकि बाबा ने अपने ऊपर राजनैतिक संरक्षण का हवाला देते हुए कई बार उसकी जिंदगी बर्बाद करने की धमकी दी थी. दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल और सदस्या किरण नेगी पीड़िता से मिलीं और उसको मदद का भरोसा दिया.
यह भी पढ़ें: घर से अपहरण करके 16 साल की किशोरी से दुष्कर्म, आरोपी युवक गिरफ्तार
टिप्पणियां आयोग ने एफआईआर दर्ज करवाने के लिए दिल्ली पुलिस को नोटिस भेजा. आयोग के प्रयास के बाद दिल्ली पुलिस ने आईपीसी की धारा 376, 323,342, 328, 506 और 120B के तहत दिल्ली में ज़ीरो एफआईआर दर्ज की. दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा ने दिल्ली पुलिस को पीड़िता को सुरक्षा प्रदान करने के लिए कहा है. दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा ने कहा कि दिल्ली महिला आयोग के समक्ष महिलाओं और लड़कियों की ऐसी कई शिकायतें आती हैं जिनमें स्वयंभू बाबाओं ने उनको यौन शोषण किया होता है.
VIDEO: मंजू वर्मा पर आर्म्स एक्ट का मामला दर्ज.
आयोग लोगों से अपील करता है कि वो ऐसे फ़र्जी बाबाओं से बचें और अन्धविश्वास की जगह तर्कशक्ति पर विश्वास करें. आयोग प्रधानमंत्री से यह अपील करता है ऐसे आश्रमों के कार्यों को नियमित करने के लिए कानून बनाया जाए और सरकार द्वारा इन आश्रमों की नियमित समय पर जांच हो.
Source Article

- Advertisement -