पीएम मोदी ने किसानों की कर्जमाफी के मुद्दे पर साधा कांग्रेस पर निशाना

4
- Advertisement -

हिमाचल में बीजेपी सरकार के एक साल पूरे होने पर आयोजित रैली में पीएम नरेंद्र मोदी.

नई दिल्ली:

मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में किसानों की क़र्ज़ माफ़ी के बाद कांग्रेस के निशाने पर आए प्रधानमंत्री मोदी ने पलटवार किया है. हिमाचल सरकार के एक साल पूरा होने के मौके पर आयोजित रैली में प्रधानमंत्री के कहा कि कांग्रेस ने झूठ बोलकर किसानों को धोखा दिया.उन्होंने कहा कि सिर्फ़ चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस ने किसानों की पीठ में छुरा भोका. कर्ज़ माफी पर जारी राजनीति के बीच प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 2008 में कांग्रेस की नेतृत्व वाली सरकार ने जब देश में किसानों की कर्ज़ माफी का एलान किया. तब किसानों पर कुल 6 लाख करोड़ का कर्ज़ था. तब सरकार ने 60,000 करोड़ देने का एलान किया जबकि दिया सिर्फ 52,000 करोड़.

धर्मशाला में कांग्रेस पर गरजे पीएम मोदी, कहा- हम पुरानी सरकार से 50 हजार करोड़ ज्यादा देते हैं

- Advertisement -

पीएम मोदी ने कहा कि पंजाब में चुनाव के दौरान कांग्रेस ने कर्ज़ माफी का वादा किया जो आज तक पूरा नहीं हुआ जबकि कर्नाटक में कर्ज़ माफी के नाम पर सिर्फ 800 किसानों को टोकन भर राहत दी गयी है. पीएम ने कहा कि जो काम कांग्रेस करने की स्थिति में नहीं है वो वायदे क्यों कर रही है .आरोप लगाया कि चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस किसानों से झूठे वायदे कर उनके पीठ में छुरा घोपने का काम कर रही है.

किसानों को राहत देने के लिए बड़े ऐलान की तैयारी में मोदी सरकार, कर्जमाफी से भी आगे की योजना पर हो रहा काम

एक तरह से 2019 के लोक सभा चुनावों के शुरू होने के 100 दिन पहले ही पीएम मोदी ने देश के किसानों की कर्ज़ माफी के एलान को लगभग लगभग खारिज ही कर दिया. मोदी सरकार अब किसानों को नए सिरे से राहत पहुंचाने के लिए एक बड़ी योजना तैयार कर रही है.

आतंकी मॉड्यूल के भंडाफोड़ पर अरुण जेटली ने थपथपाई NIA की पीठ, विपक्ष पर दागे कई सवाल

बीती रात पीएम मोदी ने वित्त मंत्री अरुण जेटली, कृषि मंत्री राधामोहन सिंह और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के साथ क़रीब ढाई घंटे की बैठक की. किसानों को राहत देने के लिए क़र्ज़ माफ़ी से भी आगे की योजना पर काम हो रहा है.. क़ीमतों के अंतर की भरपाई करने के विकल्प पर सरकार विचार कर रही है… ये पैसा सीधे किसान के बैंक खाते में ट्रांसफर करने पर विचार हो रहा है. राज्य सभा सांसद और आरएसएस विचारक राकेश सिन्हा ने कहा कि ये प्रधानमंत्री की उस योजना का हिस्सा है जिसमें किसान की आमदनी 2022 तक दोगुनी करने की बात है. जबकि कांग्रेस नेता पी एल पुनिया ने कहा कि ये महज सिर्फ दिखावे के लिए कया जा रहा है क्योंकि सरकार ने कर्ज़ माफी किसानों की नहीं कर पाई है. विशेषज्ञ मानते हैं कि देश में कर्जमाफी के लिए 4-5 लाख करोड़ की ज़रूरत होगी.पीएम मोदी के बयान से साफ है कि सरकार ने कर्ज़ माफी की मांग को ठुकरा दिया है…अब तैयारी किसानों को राहत देने के लिए कैश ट्रांशफर की एक बड़ी योजना लांच करने की है.

टिप्पणियां

VIDEO: मिशन 2019 : किसानों को संकट से कैसे निकालें?

Source Article