पनडुब्बी खंडेरी के शामिल होने से और ताकतवर होगी भारतीय नौसेना, 28 सितंबर होगी शामिल

1
- Advertisement -

स्कॉर्पिन क्लास की पहली पनडुब्बी INS कलवरी को दिसंबर 2017 में नौसेना में शामिल किया गया था.

नई दिल्ली:

समंदर में भारत की ताकत में जबरदस्त इजाफा होने वाला है. स्कॉर्पिन क्लास की पनडुब्बी खंडेरी 28 सितंबर को मुंबई में भारतीय नौसेना में शामिल होगी. साथ में P17 फ्रिगेट नीलगिरी का लॉन्‍च और एयरक्राफ्ट कैरियर डॉकयार्ड का उद्धघाटन होने जा रहा है. इसी क्लास का पहला कलवरी पहले ही नौसेना में शामिल किया जा चुका है. आने वाले दिनों में भारतीय नौसेना को चार और पनडुब्बी मिलने वाली हैं. नौसेना के वाईस चीफ वाइस एडमिरल जी अशोक कुमार ने इस उपलब्धि को हासिल करने के बाद इंडियन नेवी की मारक क्षमता में कई गुना बढ़ोतरी होगी. नीलगिरी की लॉन्चिंग रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की पत्‍नी सावित्री सिंह करेंगी. इस युद्धपोत में इजरायली रडार से लेकर ब्रम्होस मिसाइल सिस्टम लगा है. लेजर गन के अलावा टॉरपीडो ट्यूब्स के लगने से ये और भी घातक हो गया है. नौसेना का कहना है कि परम्परागत युद्ध मे यह युद्धपोत दुश्मनों पर भारी पड़ेगा.

दूसरी स्कार्पीन पनडुब्बी का समुद्री परीक्षण शुरू, पहली यात्रा पर निकली

- Advertisement -

गौरतलब है कि खंडेरी पनडुब्बी फ्रांस और भारत की तकनीक से मिलकर मुंबई के मझगांव डॉकयार्ड में ही बनी है. स्कॉर्पीन क्लास की ये पनडुब्बी समंदर की सतह और पानी के अंदर से मार सकती है. साथ ही इसमें ऐसे स्टेल्थ फीचर लगे हैं जिससे ये रडार की पकड़ में नहीं आता है और दुश्मन पर आसानी से हमला बोल सकता है. फिलहाल नौसेना के पास 14 पारंपारिक सहित दो परमाणु पनडुब्बी हैं. इसके शामिल होने से नौसेना की ताकत में काफी इजाफा होगा और हिंद महासागर में भारतीय नौसेना की पैठ और मजबूत होगी. वहीं विक्रमादित्य विमावाहक पोत के लिए मुम्बई में ही एयरक्राफ्ट कैरियर डॉकयार्ड का भी उदघाटन किया जाएगा. इसी डॉकयार्ड पर आईएनएस विक्रमादित्य रहेगा.

सरकार का बड़ा कदम- मेक इन इंडिया के तहत बनेंगी 6 पनडुब्बियां, 45000 करोड़ की आएगी लागत

टिप्पणियां

समुद्र में रात बिताएंगे रक्षा मंत्री
मुंबई दौरे के दौरान पहली बार रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 28 सितंबर की रात और 29 की दोपहर नौसेना के विमानवाहक पोत विक्रमादित्य पर गुजारेंगे. उनकी मौजूदगी में नौसेना अपनी ताकत का प्रदर्शन भी करेगी.

VIDEO: क्या है स्कॉर्पीन पनडुब्बी योजना से जुड़े दस्तावेज का मामला

Source Article