नवजोत सिंह सिद्धू की आवाज जाने का खतरा, डॉक्टरों ने दी आराम की सलाह, कहा- ‘अब ऐसा किया तो…’

1
- Advertisement -

नवजोत सिंह सिद्धू को डॉक्टरों ने आराम करने की सलाह दी है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह (Navjot Singh Sidhu) की आवाज खतरे के कगार पर है. सिद्धू के वोकल कॉर्ड्स (Navjot Sidhu Vocal Cords) में नुकसान पहुंचने की वजह से डॉक्टरों ने उन्हें आराम करने की सलाह दी है. सिद्धू ने विभिन्न राज्यों में विधानसभा चुनाव की वजह से कांग्रेसी उम्मीदवारों के पक्ष में 17 दिनों तक जबरदस्त चुनाव प्रचार किया, जिसके बाद उनके वोकल कॉर्ड्स को काफी नुकसान पहुंचा है. उन्होंने इस दौरान लगभग 70 जनसभाओं को संबोधित किया. राज्य सरकार के अनुसार, पंजाब के स्थानीय प्रशासन, पर्यटन और सांस्कृतिक मामलों के मंत्री सिद्धू के वोकल कॉर्ड को नुकसान पहुंचा है. वह पूरी तरह जांच कराने और स्वास्थ्य लाभ के लिए अज्ञात ठिकाने पर चले गए हैं.

Punjab's Local Government, Tourism and Cultural Affairs Minister Navjot Singh Sidhu has been advised complete rest for three to five days as he was "on the brink of losing his voice."
Read @ANI story | https://t.co/ZYEu0FTvbGpic.twitter.com/cjwErwQUOD

— ANI Digital (@ani_digital) December 6, 2018

यह भी पढ़ें: पंजाब कांग्रेस में शुरू हुई 'जंग' : 'अगर वह (सिद्धू) कैप्टन साहब को अपना कैप्टन नहीं मानते तो इस्तीफा दे दें'
सिद्धू ने कांग्रेस के स्टार प्रचारक के रूप में राजस्थान, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और तेलंगाना के चुनावों से पहले 17 दिन में 70 से अधिक जनसभाओं को संबोधित किया. अपनी अद्भुत वाकक्षमता के लिए लोकप्रिय सिद्धू करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास समारोह के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के निजी निमंत्रण पर 28 नवंबर को पड़ोसी देश के दौरे पर गए थे.
यह भी पढ़ें: क्या सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह छीन लेंगे सिद्धू की कुर्सी? पंजाब सरकार के मंत्रियों का बढ़ता जा रहा है विरोध
राज्य सरकार के अनुसार, 'नवजोत सिंह सिद्धू ने 17 दिन तक आक्रामक चुनाव प्रचार किया, जिसमें उन्होंने एक के बाद एक 70 से अधिक जनसभाओं को संबोधित किया और व्यस्त दिनचर्या की वजह से उनका वोकल कॉर्ड प्रभावित हुआ है. डॉक्टरों ने उनसे कहा है कि वह आवाज खोने के कगार पर हैं, इसलिए उन्हें तीन से पांच दिन का पूरी तरह आराम करने की सलाह दी गई है.'
टिप्पणियांVIDEO: बुरे दिन जाने वाले हैं, राहुल गांधी आने वाले हैं: सिद्धू
लगातार हेलीकॉप्टर और विमान यात्राओं ने भी उनके स्वास्थ्य पर बुरा असर डाला है. बता दें कि कुछ साल पहले बहुत ज्यादा विमान यात्राओं की वजह से सिद्धू डीवीटी (डीप वीन थ्रोम्बोसिस) का शिकार हुए थे और उनका इलाज किया गया था. इस वजह से लगातार हेलीकॉप्टर और विमान यात्राएं उनकी सेहत के लिए नुकसानदेह रही हैं. इसके अनुसार, सिद्धू की कई रक्त जांच की गई हैं और वह पूरी तरह जांच तथा स्वास्थ्य लाभ के लिए अज्ञात स्थान पर चले गए हैं. सिद्धू को प्राणायाम और फिजियोथैरेपी के साथ विशेष ध्यान कराया जा रहा है.
Source Article

- Advertisement -