दुनिया का 5वां सबसे खतरनाक रोग COPD, सिगरेट ना पीने वाले भी इसकी चपेट में

3
- Advertisement -

नई दिल्ली: दुनिया भर में 5वां सबसे घातक रोग है सीओपीडी (क्रॉनिक ऑब्स्ट्रक्टिव पल्मोनरी डिसीज़). सीओपीडी को हमेशा धूम्रपान करने वालों का रोग माना जाता रहा है. लेकिन अब यह धूम्रपान नहीं करने वाले लोगों के लिए भी जानलेवा साबित हो रहा है. क्योंकि कम-से-कम एक-चौथाई ऐसे मरीज सीओपीडी से ग्रस्त हैं, जिन्होंने कभी धूम्रपान नहीं किया है.
विकासशील देशों में सीओपीडी से होने वाली करीब 50 प्रतिशत मौतें बायोमास के धुएं के कारण होती हैं, जिसमें से 75 प्रतिशत महिलाएं हैं. बायोमास ईंधन जैसे लड़की, पशुओं का गोबर, फसल के अवशेष, धूम्रपान करने जितना ही जोखिम पैदा करते हैं. इसीलिए महिलाओं में सीओपीडी की करीब तीन गुना बढ़ोतरी देखी गई है. खासकर ग्रामीण इलाकों में महिलाएं और लड़कियां रसोईघर में अधिक समय बिताती हैं.
बायोमास ईंधन के अलावा, वायु प्रदूषण की मौजूदा स्थिति ने भी शहरी इलाकों में सीओपीडी को चिंता का सबब बना दिया है. वायु प्रदूषण की दृष्टि से दुनिया के सबसे अधिक प्रदूषित 20 शहरों में से 10 भारत में हैं.
सीओपीडी को बढ़ाने के कुछ और कारण भी हैं जिनमें एग्रीकल्चरल पेस्टीसाइड्स और मच्छरों को भगाने वाला मॉस्क्वीटो कॉइल है. आपको जानकर हैरानी होगी कि एक मॉस्क्वीटो कॉइल में 100 सिगरेट जितना धुंआ (पीएस 2.5) निकलता है और 50 सिगरेट जिनता फॉरमलडिहाइ़ड निकलता है.
टिप्पणियांवीडियो – जानें सिगरेट कैसे नुकसान पहुंचा सकती है आपको​
Source Article

- Advertisement -