दिल्ली सरकार ने पशुओं के स्वास्थ्य और कल्याण के लिए पालिसी बनाई

3
- Advertisement -

दिल्ली के मंत्री गोपाल राय ने कहा कि पशुओं के स्वास्थ्य और कल्याण के लिए सरकार ने पालिसी बनाई है.

नई दिल्ली:

दिल्ली सरकार के पशुपालन मंत्री गोपाल राय ने बुधवार को कहा कि दिल्ली में आज तक जानवरों के लिए कोई पालिसी नहीं बनी. कुत्तों और बंदरों को लेकर संघर्ष चलता है लेकिन कोई पालिसी नहीं बनी. अगर दिल्ली में कोई जानवर किसी तकलीफ में आये तो उसके लिए भी कोई पालिसी नहीं बनी. इसलिए आज हमने पशु स्वास्थ्य और कल्याण पालिसी का ड्राफ्ट तैयार किया है.

राय ने कहा कि पशुपालन विभाग का नाम अब पशु स्वास्थ्य और कल्याण विभाग रखने पर सरकार काम करेगी. दिल्ली में पशुओं के लिए अस्पताल नहीं है, लेकिन अब 24 ×7 अस्पताल जानवर/पशु पक्षी के लिए बनाया जाएगा. 16 जनवरी को पायलट बेसिस पर एक अस्पताल शुरू करेंगे.

बंदरों से परेशान लोकसभा सचिवालय ने निकाला सर्कुलर, बताया बचने का तरीका

- Advertisement -

उन्होंने बताया कि हमारे पास पांच गौशालाएं हैं. घुम्मनहेड़ा की गौशाला की शिकायत आई तो उसको रद्द किया था. लेकिन अब सरकार देश की सबसे आधुनिक गौशाला बनाएगी. यह वृद्धावस्था और गौशाला का मिक्सचर होगा. यानी बूढ़े लोग और बूढ़ी गाय साथ रहेंगे.

VIDEO : बढ़ते आवारा पशु बने आफत

टिप्पणियां

दिल्ली में सभी 272 वार्डों में पशुओं के अस्पताल बनाए जाएंगे. दिल्ली को रेबीज मुक्त बनाने के लिए काम करेंगे. गाय में चिप लगाई जाएगी जिससे अगर कोई सड़कों/गलियों में छोड़े तो पता चले किसने छोड़ी.

Source Article