दिल्ली में ट्रैफिक नियम तोड़े तो एसएमएस से आ जाएगा चालान, अगस्त से नई तकनीक

5
- Advertisement -

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

अगस्त 2019 से दिल्ली में वाहन चालकों को सावधान हो जाना होगा. इस माह से वाहन मालिक के मोबाइल पर चालान आएंगे. कैमरे वाहनों पर नजर रखेंगे.

अगर दिल्ली में वाहन चलाने के दौरान ट्रैफिक के नियम तोड़े तो आने वाले वक्त में बच नहीं पाएंगे. अगस्त 2019 तक दिल्ली में इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम लागू हो जाएगा. यानी शहर के ट्रैफिक सिस्टम को ऐसी तकनीक से लैस कर दिया जाएगा कि कोई भी ट्रैफिक का नियम तोड़ेगा तो उसका बचना मुश्किल होगा.

दिल्ली पुलिस की सालाना प्रेस वार्ता में ट्रैफिक पुलिस के स्पेशल कमिश्नर ताज हसन ने बताया कि अगर कोई रेड लाइट जम्प करता है तो उसका चालान जुलाई 2019 से 3 डी राडार पर आधारित रेड लाइट वॉयलेशन डिटेक्शन कैमरा करेगा, जो ऑटोमेटिक चालान करेगा और चालान सीधा रेड लाइट जम्प करने वाले के मोबाइल पर भेजेगा. ऐसे 96 कैमरे 24 मुख्य जंक्शनों पर लगाए जाएंगे. ये कैमरे अपने आप तस्वीर लेंगे और चालान करेंगे.इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम रात के अंधेरे में भी काम करेगा.

- Advertisement -

रॉन्ग साइड से आ रही थी कार, रोकने की कोशिश तो ट्रैफिक पुलिस को बोनट पर घसीटता ले गया, देखें VIDEO

शहर में वाहनों में ओवरस्पीड एक बड़ी समस्या है. इससे निपटने के लिए गेन्ट्री माउंटेड राडार बेस्ड ओवर स्पीड डिटेक्शन सिस्टम 100 जगहों पर लगाया जाएगा. इसमें लगे कैमरे एक साथ कई वाहनों की स्पीड डिटेक्ट कर सकते हैं. सिस्टम ओवरस्पीड चलने वालों का चालान अपने आप काटकर सीधा उनके मोबाइल पर एसएमएस के जरिए भेज देगा.

दिल्ली के सिग्नेचर ब्रिज पर सेल्फी के लिए होड़ के बाद निर्वस्त्र होने का वीडियो वायरल

यह प्रोजेक्ट 27 करोड़ का है जो जुलाई 2019 में शुरू हो जाएगा. इसी तरह ओवर स्पीड से चलने वालों के लिए 55 स्पीड गंस भी आ रही हैं जो पोर्टेबल माउंटेड राडार से जुड़ी होंगी और अपने आप चालान काटेंगी. चालान एसएमएस के जरिए पहुंच जाएगा. यह प्रोजेक्ट मार्च 2019 से शुरू हो जाएगा.

VIDEO : सिग्नेचर ब्रिज बना सेल्फी पॉइंट

टिप्पणियां

ट्रैफिक पुलिस के अधिकारियों के मुताबिक आईटीएमएस यानी इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम अगस्त 2019 से लागू हो जाएगा. इसका एप्रूवल गृहमंत्रालय से आ गया है. इसके लिए कंसल्टेंट भी हायर किए जा रहे हैं. यानी अगस्त 2019 से ट्रैफिक पुलिस भी मॉडर्न हो जाएगी और ट्रैफिक सिस्टम पूरी तरह से तकनीक पर आधारित होगा.

Source Article